लाइव टीवी

बेटा बोला- मेरे सामने हुआ 90 साल की मां का रेप, कोर्ट ने पूछा- जब ऐसा हो रहा था तो शोर क्यों नहीं मचाया?

News18Hindi
Updated: September 5, 2019, 2:36 PM IST
बेटा बोला- मेरे सामने हुआ 90 साल की मां का रेप, कोर्ट ने पूछा- जब ऐसा हो रहा था तो शोर क्यों नहीं मचाया?
कोर्ट ने मामले में पेश किए गए सबूतों और दलीलों को संदेह के घेरे में रखा और अभियुक्‍त को बरी कर दिया. (प्रतीकात्मक फोटो)

बुजुर्ग महिला के बेटे ने कहा था कि मां मंदिर जा रही थी, तब रेप की वारदात हुई थी. पंजाब हरियाणा हाईकोर्ट (Punjab & Haryana High Court) ने संदेह का लाभ देते हुए 65 साल के बुजुर्ग को दोषमुक्त कर दिया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 5, 2019, 2:36 PM IST
  • Share this:
चंडीगढ़. पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट (High Court) ने एक फैसले में 90 साल की महिला से रेप (Rape) के आरोपी 65 साल के बुजुर्ग को रिहा करने के आदेश दिए हैं. कोर्ट ने मामले में पेश किए गए सबूतों और दलीलों को संदेह के घेरे में रखा और इसी का लाभ देते हुए यह आदेश दिया. बताया गया था कि महिला का दोपहर में मंदिर जाने के दौरान रेप किया गया था. इस पर कोर्ट ने सवाल किया कि जब महिला चल नहीं सकती और सुन नहीं सकती तो अकेली मंदिर कैसे जा रही थी? गौरतलब है कि दोनों पक्षों के बीच जमीन को लेकर विवाद भी चल रहा है.

बेटे ने कहा- मेरे सामने हुआ बलात्कार
दैनिक भास्कर की एक रिपोर्ट के अनुसार, सितंबर 2013 में होशियारपुर की एक अदालत ने रघुबीर सिंह नामक 65 वर्षीय बुजुर्ग को 90 साल की महिला के रेप के आरोप में आजीवन कारावास की सजा सुनाई थी. इसके खिलाफ रघुबीर ने हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाया था. कोर्ट में महिला के बेटे ने कहा था कि रेप उसके सामने हुआ और उसने आरोपी के भाग जाने के बाद शोर मचाया. उसने कहा था कि आरोपी ने रंजिश के चलते इस वारदात को अंजाम दिया. इस पर कोर्ट ने कहा कि यह बात समझ नहीं आती कि रेप यदि बेटे के सामने हुआ तो उसने इसका विरोध क्यों नहीं किया या फिर उसने शोर क्यों नहीं मचाया था? यह बात स्वीकार करने योग्य नहीं है कि बेटे ने इस दौरान शोर नहीं मचाया और आरोपी के भागने का इंतजार किया.

चल नहीं सकती तो मंदिर कैसे गई?

वहीं, कोर्ट ने कहा की पीड़िता की ज्यादा उम्र होने के चलते न वो सुन सकती है और न ही ठीक से चल सकती है. कोर्ट में बताया गया है कि वह दोपहर ढाई बजे अकेले मंदिर जा रही थीं. ऐसा कैसे संभव है कि वह बिना किसी परिवार के व्यक्ति की मदद के वह मंदिर जा रही हों. ऐसे में आरोपी को दोषमुक्त किया जाता है और उसे रिहा करने का आदेश दिया जाता है.

ये भी पढ़ें- मोहम्मद शमी की पत्नी ने UP पुलिस पर लगाए आरोप, कहा- ममता बनर्जी न होतीं तो जाने क्या होता
अयोध्या मामला: मुस्लिम पक्ष ने कहा- हिंदुओं ने बाबरी मस्जिद तोड़ी, अब जमीन मांग रहे
Loading...

दिल्ली: नौकर ने बताया- फ्रिज को ही क्यों बनाया बुजुर्ग की मौत का 'ताबूत'

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए चंडीगढ़ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 5, 2019, 12:21 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...