लाइव टीवी

सुखबीर बादल की इमरान से अपील- करतारपुर गलियारे को कमाई का जरिया न बनाएं

News18Hindi
Updated: November 1, 2019, 7:06 PM IST
सुखबीर बादल की इमरान से अपील- करतारपुर गलियारे को कमाई का जरिया न बनाएं
सुखबीर बादल से पहले उनकी पत्नी हरसिमरत ने भी पाकिस्तान सरकार से अपील की थी.

शिरोमणि अकाली दल के अध्यक्ष सुखबीर बादल (Sukhbir Singh Badal) ने करतारपुर गलियारे (Kartarpur Corridor) के लिए करीब 1400 रुपये के शुल्क को ‘बहुत ज्यादा’ बताया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 1, 2019, 7:06 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. शिरोमणि अकाली दल के अध्यक्ष सुखबीर बादल (Sukhbir Singh Badal) ने करतारपुर गलियारे (Kartarpur Corridor) के लिए करीब 1400 रुपये के शुल्क को ‘बहुत ज्यादा’ बताया है. उन्होंने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान से अपील की है कि वह इस गलियारे को कमाई का जरिया न बनाएं क्योंकि यह तीर्थयात्रा के लिए है. बादल ने कहा कि इसे दोनों देशों के बीच ‘सद्भावना’ के तौर पर देखा जाना चाहिए.

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के साथ बैठक के बाद बादल ने कहा, 'मैं पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान से अपील करता हूं कि वह करतारपुर गलियारे को आय का जरिया बनाने की कोशिश न करें, यह तीर्थयात्रा के लिए है और इसे उसी तरह देखा जाना चाहिए. तीर्थयात्रा में कारोबार न देखें, इसे सद्भावना के रूप में देखा जाना चाहिए.' करतारपुर गलियारे का उद्घाटन नौ नवंबर को होगा.



इससे पहले शुक्रवार सुबह पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान ने ट्वीट किया था कि सिख श्रद्धालुओं को दो रियायत दी गई हैं. पहली, सिख श्रद्धालुओं को दर्शन के लिए पासपोर्ट की जरूरत नहीं पड़ेगी. बस एक वैलिड आईडी की जरूरत होगी. और दूसरी कि उन्हें अब 10 दिन पहले से यात्रा रजिस्टर नहीं करानी पड़ेगी. साथ ही शुभारंभ के दिन दर्शन करने वालों को कोई चार्ज नहीं देना पड़ेगा. इसी दिन गुरु नानक की 550वीं जन्मतिथि भी है.
Loading...

करतारपुर में दरबार साहिब की यात्रा करने वाले तीर्थयात्रियों से पाकिस्तान के प्रतिवर्ष 258 करोड़ भारतीय रुपये (लगभग 571 करोड़ पाकिस्तानी रुपये) कमाने की उम्मीद है. एक सरकारी अधिकारी के मुताबिक तीर्थयात्रियों से सेवा शुल्क वसूलना पाकिस्तान के लिए विदेशी मुद्रा जुटाने का एक अन्य स्रोत होगा.

20 डॉलर है सुविधा शुल्क
पाकिस्तान ने गुरुद्वारा दरबार साहिब करतारपुर की यात्रा करने के लिए प्रति दिन पांच हजार तीर्थयात्रियों को अनुमति दी है. पाकिस्तान प्रति तीर्थयात्री 20 डॉलर सेवा शुल्क भी वसूलेगा जिससे उसे हर रोज एक लाख डॉलर की कमाई होगी.

भारत ने मुफ्त यात्रा का किया है अनुरोध
करतारपुर गलियारे से तीर्थयात्रियों के लिए यात्रा के समुचित संचालन के लिए भारत ने पाकिस्तान के साथ एक समझौते पर हस्ताक्षर किए है. भारत ने भविष्य में तीर्थयात्रियों से सेवा शुल्क वसूले जाने के निर्णय की समीक्षा किए जाने का पाकिस्तान से अनुरोध किया है. पिछले महीने भारत और पाकिस्तान ने करतारपुर गलियारे के जरिए गुरुद्वारा दरबार साहिब की यात्रा के लिए भारतीय तीर्थयात्रियों को वीजा मुक्त यात्रा पर सहमति जताई थी.

हरसिमरत कौर ने भी किया था ट्वीट
हरसिमरत ने भी इस मुद्दे पर ट्वीट किया था, 'पाकिस्तान द्वारा करतारपुर साहिब के दर्शन के लिए 20 डॉलर प्रति व्यक्ति शुल्क लगाया जाना घटियापन है. गरीब श्रद्धालु कैसे यह रकम देगा? पाकिस्तान ने आस्था के नाम पर कारोबार किया है. (पाकिस्तान के प्रधानमंत्री) इमरान खान का यह बयान बेहद शर्मनाक है कि यह शुल्क पाकिस्तान की अर्थव्यवस्था को मजबूत करेगा और इससे विदेशी मुद्रा प्राप्त होगी.’

ये भी पढ़ें:

50 साल के शख्स ने बर्थडे के बहाने 3 मासूमों को घर बुलाया, फिर किया दुष्कर्म
करतारपुर साहिब: पाकिस्तान पर भड़कीं हरसिमरत, बोलीं- शुल्क मांगना है घटियापन

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए चंडीगढ़ (पंजाब) से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 1, 2019, 6:22 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...