राहुल के हस्तक्षेप के बाद भी अड़े कैप्टन, कहा- सिद्धू को नहीं देंगे पुराना मंत्रालय

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के हस्तक्षेप के बाद भी नवजोत सिंह सिद्धू और पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के बीच शुरू हुआ गतिरोध खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है. दोनों में से कोई भी पीछे हटने को तैयार नहीं है.


Updated: June 14, 2019, 5:17 PM IST
राहुल के हस्तक्षेप के बाद भी अड़े कैप्टन, कहा- सिद्धू को नहीं देंगे पुराना मंत्रालय
पंजाब सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह और नवजोत सिंह सिद्धू के बीच शुरू हुआ गतिरोध खत्म होने का नाम नहीं ले रहा. (फाइल फोटो)

Updated: June 14, 2019, 5:17 PM IST
पंजाब कैबिनेट में हुए बदलाव के बाद नवजोत सिंह सिद्धू और राज्य के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के बीच शुरू हुआ गतिरोध खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है. इस मामले से जुड़े सूत्रों का कहना है कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के हस्तक्षेप के बाद भी स्थिति जस की तस बनी हुई है. नवजोत सिंह सिद्धू ने ऊर्जा मंत्रालय का कार्यभार भी नहीं संभाला है. बीते हफ्ते मंत्रिमंडल में हुए बदलाव के बाद सिद्धू को ऊर्जा मंत्रालय का जिम्मा सौंपा गया था.

'इंडियन एक्सप्रेस' की खबर के मुताबिक, राहुल गांधी ने इस मामले पर कैप्टन अमरिंदर सिंह से बात की थी, लेकिन यह वार्ता बेनतीजा रही. बताया जा रहा है कि सीएम कैप्टन ने राहुल गांधी से साफ तौर पर कह दिया कि इस तरह के व्यवहार के बाद सिद्धू को उनका पुराना मंत्रालय सौंपने का सवाल ही नहीं उठता.



अब सिद्धू का मामला हुआ राहुल बनाम कैप्टन
नवजोत सिंह सिद्धू और कैप्टन अमरिंदर सिंह के व्यवहार को जानने वाले बता रहे हैं कि अब यह मामला ऐसी स्थिति में आकर अटक गया है, जहां से कोई पीछे हटने के मूड में नहीं है. अब यह मामला सिद्धू और कैप्टन की बजाय कैप्टन और राहुल गांधी के बीच का हो गया है.

बता दें कि मंत्रिमंडल में हुए बदलाव के तुरंत बाद नवजोत सिंह सिद्धू ने राहुल गांधी से मिलने की कोशिश की थी. लेकिन, उन्हें तुरंत समय नहीं मिल पाया. राहुल से अपनी मुलाकात में सिद्धू ने दोनों के बीच चल रहे गतिरोध की जानकारी दी थी.

लोकसभा चुनाव में खराब प्रदर्शन के लिए कैप्टन ने सिद्धू को ठहराया था जिम्मेदार
कैप्‍टन अमरिंदर सिंह और सिद्धू के बीच तनाव पिछले महीने उस समय सामने आया था, जब मुख्यमंत्री ने लोकसभा चुनाव में पंजाब के शहरी इलाकों में कांग्रेस के खराब प्रदर्शन के लिए सिद्धू को दोषी ठहराया था. इसपर सिद्धू ने कहा था कि उनके विभाग को सार्वजनिक तौर पर निशाना बनाया जा रहा है. उन्हें हल्के में नहीं लिया जा सकता.
Loading...

यह तनातनी उस समय और बढ़ गई जब सिद्धू कैबिनेट की बैठक में नहीं पहुंचे और कैप्टन अमरिंदर सिंह ने मंत्रिमंडल में हेरफेर करते हुए सिद्धू के मंत्रालय को भी बदल दिया. हालांकि, सिद्धू के अलावा कई अन्य मंत्रियों के विभाग भी बदले गए थे.

ये भी पढ़ें- पंजाब कैबिनेट में बदलाव के मुद्दे पर बोले कांग्रेस MP- छोटी बात को बढ़ा रहे सिद्धू

ये भी पढ़ें- पंजाब सरकार में कई मंत्री लेकिन अंगुली सिर्फ मुझ पर उठती है: नवजोत सिंह सिद्धू

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...