Home /News /punjab /

sippy sidhu murder case judge daughter was accused of murder in a love affair

लव अफेयर में जज की बेटी पर कत्ल का आरोप, आंखों के सामने प्रेमी को करवाया था शूट!

कल्याणी के साथ सुखमनप्रीत सिंह उर्फ सिप्पी (फ़ाइल फोटो)

कल्याणी के साथ सुखमनप्रीत सिंह उर्फ सिप्पी (फ़ाइल फोटो)

Sippy Sidhu Murder Case: 6 साल पहले सिप्पी सिद्धू की हत्या के मामले में प्राथमिकी दर्ज की थी. सीबीआई सूत्रों का दावा है कि सिप्पी की हत्या के बाद कल्याणी और शूटर दोनों घटनास्थल से एक साथ निकले थे.

(एस.सिंह)

चंडीगढ़. चंडीगढ़ के एक पार्क में 6 साल पहले हुई राष्ट्रीय स्तर के निशानेबाज व वकील सुखमनप्रीत सिंह उर्फ सिप्पी सिद्धू की हत्या के सिलसिले में सीबीआई ने हिमाचल में एक्टिंग चीफ जस्टिस की बेटी कल्याणी सिंह को गिरफ्तार करने के बाद अदालत में पेश कर चार दिन के पुलिस रिमांड पर लिया है. सीबीआई ने 13 अप्रैल 2016 को चंडीगढ़ प्रशासन के अनुरोध पर सिप्पी सिद्धू की हत्या के मामले में प्राथमिकी दर्ज की थी.

क्या है सीबीआई का दावा
सीबीआई के सूत्रों ने बताया कि सिप्पी की हत्या के बाद कल्याणी और शूटर दोनों घटनास्थल से एक साथ निकले थे और एजेंसी को इसके सबूत मिल चुके हैं. दैनिक भास्कर में प्रकाशित एक रिपोर्ट के मुताबिक सीबीआई का दावा है कि जिस रोज हत्या हुई थी, उस वक्त सिप्पी सिद्धू कल्याणी से मिलने गया था. सीबीआई के दावे के मुताबिक दोनों में प्रेम प्रसंग चल रहा था. वह लगातार तीन दिन से कल्याणी से पार्क में मिल रहा था.पूछताछ में यह भी खुलासा हुआ है कि दोनों शादी करना चाहते थे, लेकिन सिप्पी का परिवार इसके लिए रजामंद नहीं था. इसी दौरान दोनों के निजी संबंधों की एक क्लिप कल्याणी के रिश्तेदार के पास पहुंच गई थी, जिसके कारण दोनों में हुआ विवाद दुश्मनी में बदल गया और कल्याणी ने सिप्पी को मरवाने के लिए शूटर हायर किया. सीबीआई के सूत्रों का कहना है कि कल्याणी ने शूटर और सिप्पी सिद्धू को पार्क में बुलाया था और अपनी आंखों के सामने उसे गोली मरवा दी थी.

सहायक प्रोफेसर है आरोपी
सिप्पी सिद्धू हत्याकांड में गिरफ्तार कल्याणी सिंह पोस्ट ग्रेजुएट गवर्नमेंट कॉलेज, सेक्टर 42 में सहायक प्रोफेसर हैं.  हालांकि सीबीआई ने टीआईपी में शामिल गवाहों के बारे में जानकारी नहीं दी. दि ट्रिब्यून की रिपोर्ट के मुताबिक तीन गवाह अभियोजन पक्ष की थ्योरी का हिस्सा हैं, जिसमें सेक्टर 27 निवासी अमृता सिंह भी शामिल हैं. जांच के दौरान उन्होंने खुलासा किया था कि वह वारदात के समय अपने घर की पहली मंजिल पर मौजूद थी, जब उन्होंने 20 सितंबर की रात करीब 9.30 बजे गोलियों की आवाज सुनी और उसके बाद एक लड़की की चीख सुनी. वह मुख्य द्वार की ओर बालकनी की ओर निकलीं, जहां उन्होंने सफेद रंग की कार देखी. कार उनके घर के मेन गेट के पास स्ट्रीट लाइट के नीचे खड़ी थी. उन्होंने 26-27 साल की एक लड़की को भी देखा, जो तेजी से पार्क से अपनी कार की तरफ आ रही थी. इसके बाद वह मौके से फरार हो गई थी.

कैसे किया गया मामला ट्रेस
जांच से यह भी पता चला था कि सिप्पी को गोली मारने से दो दिन पहले एक अज्ञात नंबर से कुछ कॉल आए थे. ये कॉल चंडीगढ़ के सेक्टर 19 में मेहंदी लगाने वाले हरिशंकर गुप्ता के फोन से किए गए थे. तीन कॉल, जो सात सेकंड, चार सेकंड और 41 सेकंड की अवधि की थीं, क्रमशः 8:11:26 बजे, 8:11:52 बजे और 8:12:26 बजे की गई थीं. गुप्ता ने अपने बयान में कहा था कि करीब 25-26 साल की एक महिला उसके पास आई थी और उसे बताया था कि उसने अपना फोन घर पर छोड़ दिया है. उसने कॉल करने के लिए फोन उधार लिया था.

ऐसे की गई हत्या
चंडीगढ़ के सेक्टर 19 में कपड़े खरीदने आए बलिंदर कुमार के फोन से सिप्पी को रात 8:55 बजे एक और कॉल भी आई थी. यहां भी एक युवती ने कॉल करने के लिए फोन उधार लिया था. सिप्पी को .12 बोर की बंदूक से मार गिराया गया और उसमें से चार गोलियां चलाई गईं. यूटी पुलिस ने सेक्टर 26 थाने में हत्या का मामला दर्ज किया था. जनवरी 2016 में, मामला सीबीआई को स्थानांतरित कर दिया गया था, जिसके बाद जांच एजेंसी ने हत्या का मामला दर्ज किया और जांच शुरू की थी.

Tags: Murder case

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर