पाकिस्तान के साथ युद्ध की कोई आशंका नहीं है: जावड़ेकर

केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर (Prakash Javadekar) ने चंडीगढ़ (Chandigarh) में एक कार्यक्रम के दौरान कहा है कि जम्मू कश्मीर से विशेष दर्जा वापस लिये जाने के कारण भारत और पाकिस्तान के बीच तनाव युद्ध में तब्दील होने की आशंका नहीं है.

भाषा
Updated: September 4, 2019, 11:58 PM IST
पाकिस्तान के साथ युद्ध की कोई आशंका नहीं है: जावड़ेकर
पाकिस्तान के मंत्री की युद्ध आशंकाओं के बारे में पूछे जाने पर जावडेकर ने कहा, 'हमें पाकिस्तान के साथ कोई युद्ध होता नजर नहीं आ रहा है.'
भाषा
Updated: September 4, 2019, 11:58 PM IST
चंडीगढ़. केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर (Prakash Javadekar) ने चंडीगढ़ (Chandigarh) में एक कार्यक्रम के दौरान कहा है कि जम्मू कश्मीर से विशेष दर्जा वापस लिये जाने के कारण भारत और पाकिस्तान के बीच तनाव युद्ध में तब्दील होने की आशंका नहीं है. पाकिस्तान के मंत्री की युद्ध आशंकाओं के बारे में पूछे जाने पर जावड़ेकर ने कहा, 'हमें पाकिस्तान के साथ कोई युद्ध होता नजर नहीं आ रहा है.'

जावड़ेकर ने कहा, 'मुद्दा यह है कि पाकिस्तान बेचैन है. पाकिस्तान के लोग क्या कहते हैं, उस पर कोई प्रतिक्रिया देने की आवश्यकता नहीं है. पूरी दूनिया में उनका उपहास किया जा रहा है.'

घाटी में नहीं हुई अप्रिय घटना
संविधान के अनुच्छेद 370 (Article 370) के तहत जम्मू और कश्मीर के विशेष दर्जे को वापस लिये जाने पर टिप्पणी करते हुए, जावड़ेकर ने कहा कि पिछले महीने से घाटी में कोई अप्रिय घटना नहीं हुई है और यही इसका साक्ष्य है कि लोगों ने इसका स्वागत किया है.'

शहर में भाजपा के महासंपर्क अभियान के दौरान जावड़ेकर ने महान एथलीट मिल्खा सिंह, पूर्व सेना प्रमुख वी पी मलिक और उद्योगपति आर के साबू से मुलाकात की. इस दौरान केंद्रीय मंत्री के साथ चंडीगढ़ भाजपा अध्यक्ष संजय टंडन भी मौजूद थे. केंद्रीय मंत्री ने जोर देकर कहा कि विशेष दर्जे के कारण पिछले 70 साल से जम्मू-कश्मीर विकास से वंचित रहा.

विकास कार्यों से जम्मू-कश्मीर की अवाम वंचित
उन्होंने कहा, 'देश में पिछले 70 सालों से चलाये जा रहे विकास कार्यक्रमों से जम्मू कश्मीर की अवाम वंचित रही है.' मंत्री ने कहा कि अनुच्छेद 370 के कारण केंद्र सरकार की ओर से शुरू किये जाने वाले कार्यक्रमों का लाभ वहां के लोग नहीं ले पाते थे. उन्होंने कहा कि यह निर्णय अब उन्हें ‘मुख्यधारा’ और प्रगति के लिए ‘खुले’ रास्ते पर लाएगा.
Loading...

उन्होंने कहा कि पहले लोग अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति और महिलाओं की सुरक्षा के लिए चलाई जा रही योजनाओं से वंचित थे. जावड़ेकर ने कहा, 'अब, उन्हें देश के अन्य नागरिकों के साथ उसी तरह से इन योजनाओं का लाभ मिलेगा.' कश्मीर को देश का अभिन्न अंग बताते हुए मंत्री ने कहा कि अब सभी कानून वहां लागू होंगे.

ये  भी पढ़ें:

फिर टूटा हनीप्रीत का जेल से बाहर आने का सपना, HC ने जमानत याचिका की खारिज

कागज घर भूल आने पर पुलिस ने ऑटो चालक का काटा 32 हजार रु. का चालान

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए चंडीगढ़ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 4, 2019, 9:43 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...