Home /News /punjab /

करिश्मा कुदरत का : दो घंटे बाद जीवित हो उठी अस्पताल में मृत घोषित की जा चुकी महिला

करिश्मा कुदरत का : दो घंटे बाद जीवित हो उठी अस्पताल में मृत घोषित की जा चुकी महिला

महिला हरदेव कौर, जो मरने के दो घंटे बाद फिर जी उठी

महिला हरदेव कौर, जो मरने के दो घंटे बाद फिर जी उठी

महिला के मर कर जिन्दा होने का यह मामला डेराबस्सी में चर्चा का विषय बना हुआ है. अंबाला के एक निजी अस्पताल ने जिस महिला को मृत घोषित कर दिया था, ठीक 2 घंटे बाद वही महिला जिन्दा हो गई.

डेराबस्सी के निकटवर्ती गांव अमलाला की एक बुजुर्ग महिला का अंबाला के एक प्राइवेट अस्पताल द्वारा मृत घोषित किए जाने के 2 घंटे बाद जीवित होने का मामला सामने आया है. इस घटना की पूरे इलाके में खूब चर्चा रही. 62 साल की महिला हरदेव कौर को मरा समझकर घरवाले अंबाला के एक निजी हस्पताल से डेराबस्सी के गांव अमलाला लौटे. इसके साथ साथ सभी दूर के रिश्तेदारों को वृद्धा के मरने की सूचना भी दे दी गई.

महिला को घर पहुंचकर महिला को जमीन पर लिटा दिया गया और सब अंतिम संस्कार की तैयारी भी कर ली गई . इसी बीच अचानक महिला में हरकत हुई. इसे पास बैठी महिला ने नोटिस किया और शोर मचाया तो उसका बेटा और परिवार वालों ने देखा कि उनकी मां तो जिन्दा उठ खड़ी हुई.  इसके बाद से महिला बिल्कुल ठीक है और परिवार वालों के साथ हंस हंस कर बात भी कर रही है.

महिला के मर कर जिन्दा होने का यह मामला डेराबस्सी में चर्चा का विषय बना हुआ है. अंबाला के एक निजी अस्पताल ने जिस महिला को मृत घोषित कर दिया था, ठीक 2 घंटे बाद वही महिला जिन्दा हो गई. हरदेव कौर के परिजनों ने बताया की उनकी तबियत ठीक नहीं चल रही थी. अचानक शनिवार को उनकी हालत काफी खराब हुई है और उन्हें हस्पताल ले जाया गया.

रास्ते में ही वह ठंडी पड़ गई और अस्पताल पहुंचने पर डॉक्टर ने बताया कि उसकी मौत हो चुकी है. इसके बाद बॉडी घर वापस ले आए. इसके बाद परिवार वालों ने गांव में सूचना दे दी और घर में मातम का माहौल छा गया. घर पहुंचने पर हरदेव कौर का जब अचानक श्वांस चलने लगा तो दोबारा से अंबाला के अस्पताल ले जाया गया. जहां महिला को दोबारा जीवित देखकर डॉक्टर भी हैरान रह गए.

Tags: Punjab news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर