लाइव टीवी

हिमाचल, पंजाब और कश्मीर में भारी बारिश से बिगड़े हालात, 11 लोगों की मौत, अलर्ट जारी
Kullu News in Hindi

News18Hindi
Updated: September 25, 2018, 12:21 AM IST
हिमाचल, पंजाब और कश्मीर में भारी बारिश से बिगड़े हालात, 11 लोगों की मौत, अलर्ट जारी
कुल्लू जिले में ब्यास नदी खतरे के निशान से ऊपर बह रही है.

हिमाचल में कई नदियां खतरे के निशान से ऊपर बह रही हैं. बाढ़ के पानी में कई मकान भी बह गए हैं. लोगों को लकड़ी और ईंधन इकट्ठा करने नदी और नालों के किनारे जाने से मना किया गया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 25, 2018, 12:21 AM IST
  • Share this:
उत्तर भारत के पहाड़ी राज्यों में लगातार बारिश से अचानक आई बाढ़ और भूस्खलन के कारण जम्मू कश्मीर, हिमाचल प्रदेश और हरियाणा में सोमवार को कम से कम 11 लोगों की मौत हो गई. उधर पंजाब में भारी बारिश के मद्देनजर ‘रेड अलर्ट’ जारी किया गया है.

अकेले हिमाचल प्रदेश में ही बारिश के चलते आई बाढ़ में कम से कम आठ लोगों की मौत हो गई, वहीं स्कूली छात्रों सहित सैंकड़ों लोग जगह-जगह फंस गए. अधिकारियों ने बताया कि मनाली के पास रविवार रात एक वाहन ब्यास नदी में गिर गया, जिसमें तीन लोग बह गए. वहीं मणिकर्ण घाटी में पार्वती नदी में दो लोग बाढ़ में बह गए, जबकि बजौरा के पास एक लड़की की मौत हो गई. ये घटनाएं कुल्लू जिले में हुई है, जहां बाढ़ का सबसे ज्यादा प्रकोप देखने को मिल रहा है.

उधर कांगड़ा में एक छोटी नदी में पानी की धार एक शख्स को बहा ले गई. जिला प्रशासन ने इसकी जानकारी देते हुए बताया, तिलक राज जवाली तहसील के एक गांव का रहने वाला था. नदी को पार करते वक्त वह तेज धार में बह गया. उसकी बॉडी को ढ़ूंढ़ने का काम जारी है.



इन घटनाओं के सामने आने के बाद सोमवार को अधिकारियों ने कुल्लू जिले के लिए हाई अलर्ट जारी किया है.





हिमाचल में कई नदियां खतरे के निशान से ऊपर बह रही हैं. बाढ़ के पानी में कई मकान भी बह गए हैं. लोगों को लकड़ी और ईंधन इकट्ठा करने नदी और नालों के किनारे जाने से मना किया गया है.  राज्य के वन मंत्री गोविंद सिंह ठाकुर ने बाढ़ प्रभावित इलाकों का दौरा करने के बाद इसकी जानकारी दी.

ये भी पढ़ें - PHOTOS : बारिश से बेहाल हिमाचल, 12 जिलों में तबाही की 12 तस्वीरें...

इसी बीच कई जिलों के स्कूलों को भी बंद करा दिया गया है. कांगड़ा, चांबा, कुल्लू और मंडी जिलों में भी निचले इलाकों में रह रहे लोगों को निकाला जा रहा है. उन्हें बढ़ते जलस्तर के चलते अलर्ट रहने के लिए कहा गया है.

पंजाब में सुखना झील के फ्लड गेट्स खोले गए
पंजाब में भी बारिश के चलते रेड अलर्ट जारी किया गया है. मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने भी बाढ़ के हालात से निपटने के लिए एक बैठक की. स्कूल और कॉलेज मंगलवार को भी बंद रहेंगे.

जलस्तर 1163 फीट के खतरे के निशान तक पहुंचने पर चंडीगढ़ की सुखना झील के भी दरवाजे खोल दिए गए. लगातार हो रही बारिश से पिछले हफ्ते जलस्तर 1161 फीट पहुंच गया था. शनिवार को ये स्तर 1162 फीट था और रविवार को खतरे का निशान पार कर गया.



इससे पहले 2008 में फ्लड गेट्स खोले गए थे, तब भी इस तरह की स्थिति पैदा हुई थी. इंजीनियरिंग डिपार्टमेंट ने बताया कि पंजाब और हरियाणा सरकारों को इसके बारे में जानकारी दे दी गई है.

जम्मू कश्मीर में 30 लोगों को रेस्क्यू ऑपरेशन में बचाया गया
उधर जम्मू-कश्मीर में महिलाओं और बच्चों समेत 30 लोगों को कठुआ जिले में बाढ़ से बचाया गया है. ये सभी लोग जिले के विभिन्न हिस्सों में भारी बारिश के चलते फंसे हुए थे. इन लोगों को बिलावर, नगरी, जखोल और छब्बे चक में रात भर चले रेस्क्यू ऑपरेशन चलाकर बचाया गया. एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने इसकी जानकारी दी.

ये भी पढ़ें - J&K: भारी बारिश के बाद कठुआ में फंसे 29 लोगों को सुरक्षित बचाया गया

राज्य पुलिस की रेस्क्यू टीम और स्टेट डिजास्टर रिस्पॉन्स टीम को भी लगाया गया है. रंजीत सागर डैम के दरवाजों को भी भारी पानी के चलते खोला गया है.



कर्नाटक में अगले 5 दिनों तक बारिश जारी रहेगी : मौसम विभाग
बेंगलुरु और आस पास के जिलों में सोमवार को भारी बारिश हुई. कई निचले इलाकों में बारिश का पानी जमा हो गया. बेंगलुरु मौसम विभाग के डायरेक्टर सीएस पाटिल ने बताया, "बेंगलुरु में दक्षिण पश्चिम मॉनसून के चलते औसतन 4 सेंटीमीटर बारिश होती है. राज्य में ये अभी भी जारी है. अगले पांच दिनों तक बारिश जारी रहने की संभावना है."
First published: September 24, 2018, 7:17 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading