लाइव टीवी

पंजाब में आतंकी साजिश वाले 2 पाकिस्तानी ड्रोन बरामद, चीनी कंपनी ने किया था निर्माण

भाषा
Updated: September 28, 2019, 8:36 AM IST
पंजाब में आतंकी साजिश वाले 2 पाकिस्तानी ड्रोन बरामद, चीनी कंपनी ने किया था निर्माण
पंजाब से दो पाकिस्तानी ड्रोन बरामद हुए हैं. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

पंजाब (Punjab) सरकार ने बताया है कि अभी तक दो ड्रोन (Drone) बरामद किए गए हैं जिनका इस्तेमाल सीमा पार से हथियारों को यहां पहुंचाने के लिए किया गया था.

  • भाषा
  • Last Updated: September 28, 2019, 8:36 AM IST
  • Share this:
चंडीगढ़. पंजाब सरकार (Punjab Government) ने बताया है कि उसने दो पाकिस्तानी ड्रोन (Pakistani Drone) बरामद किए हैं, जिनका इस्तेमाल सीमा पार से हथियारों को यहां पहुंचाने के लिए किया गया था. एक आधिकारिक प्रवक्ता ने बताया कि एक ड्रोन पिछले महीने बरामद किया गया था जबकि दूसरा तरनतारन के झाबल कस्बे से तीन दिन पहले जली हुई हालत में बरामद हुआ. हालांकि अधिकारियों ने बताया कि इससे पहले शुक्रवार दोपहर अमृतसर में बरामद वस्तु समर्सिबल मोटर का एक पुर्जा निकली. इसके बारे में पुलिस का दावा था कि ये एक ड्रोन है.

भारत-पाक सीमा से महज डेढ़ किमी दूर बरामद हुआ ड्रोन
आधिकारिक प्रवक्ता ने कहा कि पुलिस ने अमृतसर में भारत-पाक सीमा से महज डेढ़ किलोमीटर दूर मोहावा गांव में 13 अगस्त को दुर्घटनाग्रस्त हुए ‘हेक्साकोप्टर ड्रोन’ की बरामदगी के बाद सीमा पर चौकसी बढ़ा दी गई थी. यह बरामदगी अमृतसर (ग्रामीण) पुलिस को आई एक अज्ञात फोन काल के बाद हुई. जिसमें जानकारी दी गई कि मोहावा गांव के धान के खेतों में पंखे जैसी कोई चीज दिखाई दी है.


Loading...

चीन की कंपनी ने किया है ड्रोन का निर्माण
प्रवक्ता ने बताया कि जांच में पाया गया कि बरामद ड्रोन का मॉडल ‘यू10 केवी100-यू’ था और इसका डिजाइन और निर्माण चीनी कंपनी टी मोटर्स ने किया था. हेक्साकॉप्टर में ईंट के आकार की चार बैटरियां भी लगी हुईं मिलीं. जांच में सामने आया कि इस तरह के हेक्साकॉप्टर ड्रोन में 21 किलोग्राम की पेलोड क्षमता होती है और ये अलग-अलग पुर्जों को जोड़कर बनाया गया हो सकता है. बाद में इसकी तकनीकी जांच करने पर पाया गया कि क्रैश लैंडिंग की वजह से 20 से 25 किलोग्राम का यह ड्रोन क्षतिग्रस्त हो गया था.

पंजाब सरकार ने दी केंद्र सरकार को जानकारी
ड्रोन के ब्योरों को तत्काल केंद्र सरकार के साथ साझा किया गया ताकि संबंधित केंद्रीय एजेंसियों से विस्तार से तकनीकी जांच कराने की अनुमति मिल सके. राज्य सरकार ने केंद्रीय गृह मंत्रालय के समक्ष भारत-पाक सीमा से होकर बड़े आकार के ड्रोनों की आवाजाही पर चिंता जाहिर की है.

22 सितंबर को आतंकी मॉड्यूल का हुआ था भंडाफोड़
प्रवक्ता ने बताया कि ड्रोन की तैनाती के जरिए जेहादी और खालिस्तान समर्थित आतंकवादी संगठनों द्वारा अर्जित की गई क्षमता और कौशल को जो प्रदर्शन किया है उसके राष्ट्र सुरक्षा विशेषकर महत्त्वपूर्ण प्रतिष्ठानों, सार्वजनिक बैठकों/ कार्यक्रमों और बड़े खतरे झेल रहे महत्वपूर्ण व्यक्तियों की सुरक्षा पर बड़े नतीजे हो सकते हैं. चौकसी बढ़ाने से पुलिस ने 22 सितंबर को एक आतंकी मॉड्यूल का भंडाफोड़ किया था जिसमें आकाशदीप सिंह और उसे सहयोगी शामिल थे. बाद में हथियारों की एक बड़ी खेप के लेन-देन में कथित संलिप्तता के लिए सुभदीप सिंह को गिरफ्तार किया गया.

सेना और बीएसएफ ने घोषित किया था अलर्ट
प्रवक्ता ने बताया कि आरोपी से पूछताछ के बाद तीन दिन पहले दूसरा अधजला ड्रोन बरामद किया गया. पंजाब में हथियार गिराने के लिए पाकिस्तान द्वारा चीनी ड्रोनों के इस्तेमाल पर गंभीर संज्ञान लेते हुए सेना और बीएसएफ ने पूरी भारत-पाकिस्तान सीमा और नियंत्रण रेखा पर अलर्ट घोषित किया था.

ये भी पढ़ें-

जब भगत ने कहा कि फांसी की बजाए गोली से उड़ा दिया जाए

Haryana: SAD के एकमात्र MLA BJP में हुए शामिल, अब अकेले चुनाव लड़ेगी अकाली दल

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए चंडीगढ़ (पंजाब) से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 28, 2019, 8:17 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...