25 साल बाद पंजाब में गठबंधन, यूं ही साथ नहीं आए हैं SAD-BSP, समझिए गणित

बसपा पंजाब के 117 विधानसभा सीटों में से 20 पर चुनाव लड़ेगी, बाकी सीटें SAD के हिस्से में आएगी.

SAD-BSP Alliance in Punjab: शिरोमणि अकाली दल के प्रधान सुखबीर सिंह बादल ने इस साल अप्रैल में ऐलान किया था कि अगर उनकी पार्टी आगामी विधानसभा चुनाव में जीतकर सरकार बनाती है तो डिप्टी सीएम दलित समुदाय से होगा.

  • Share this:
    (स्वाति भान)

    चडीगढ़. पंजाब (Punjab) में नए समीकरण की बिसात बिछ गई है. करीब 25 साल के बाद शिरोमणि अकाली दल (SAD) और बहुजन समाज पार्टी ने गठजोड़ कर लिया है. SAD के अध्यक्ष सुखबीर सिंह बादल ने इसे पंजाब की राजनीति में नया सवेरा बताया है, जबकि बसपा महासचिव सतीश चन्द्र मिश्रा ने कहा कि आज ऐतिहासिक दिन है और पंजाब की राजनीति के लिए एक बड़ी घटना है.

    इससे पहले SAD का भाजपा के साथ गठबंधन था, लेकिन पिछले साल केन्द्र द्वारा पारित तीन कृषि कानूनों के विरोध में बादल नीत पार्टी ने राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) का साथ छोड़ दिया. अकाली के साथ गठबंधन में भाजपा 23 सीटों पर चुनाव लड़ा करती थी.

    इन सीटों पर गठबंधन
    बसपा पंजाब की 117 विधानसभा सीटों में से 20 पर चुनाव लड़ेगी, बाकी सीटें अकाली दल के हिस्से में रहेगी. बसपा के हिस्से में जालंधर की करतारपुर साहिब, जालंधर पश्चिम, जालंधर उत्तर, फगवाड़ा, होशियारपुर सदर, दासुया, रूपनगर जिले में चमकौर साहिब, पठानकोट जिले में बस्सी पठाना, सुजानपुर, अमृतसर उत्तर और अमृतसर मध्य आदि सीटें आई हैं.

    निकाय चुनावों में हार
    विश्लेषकों का कहना है कि लोकसभा द्वारा विवादास्पद कृषि कानून पारित किए जाने के बाद अकाली दल ने भाजपा से नाता तोड़ लिया था, लेकिन वह इस धारणा को खारिज करने में विफल रही कि उसने बिल को पारित होने से रोकने के लिए कुछ नहीं किया. ये कानून पारित होने के बाद हुए नगर निकाय चुनावों में अकाली दल अच्छा प्रदर्शन नहीं कर सकी थी.

    दलित राजनीति
    पार्टी के एक करीबी सूत्र ने बताया. 'किसान अभी भी कृषि कानूनों से परेशान हैं. इसलिए पार्टी को लगता है कि वह जाति के आधार पर काम कर सकती है और इसलिए एक ऐसी पार्टी के साथ गठजोड़ कर सकती है जिसने राज्य में दलित बहुल इलाकों में ऐतिहासिक रूप से अच्छा प्रदर्शन किया है. यही कारण है कि अकाली ने ने दोआबा क्षेत्र की 23 में से आठ सीटें गठबंधन सहयोगी को दे दी हैं.'

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.