• Home
  • »
  • News
  • »
  • punjab
  • »
  • क्या पंजाब में बिजली गुल होने की नौबत आ गई है? CM चरणजीत सिंह चन्नी ने दिया ये जवाब

क्या पंजाब में बिजली गुल होने की नौबत आ गई है? CM चरणजीत सिंह चन्नी ने दिया ये जवाब

केंद्र सरकार ने पंजाब, बंगाल और असम में बीएसएफ को भारतीय इलाके में 50 किमी अंदर तक कार्रवाई का अधिकार मिल गया है.

केंद्र सरकार ने पंजाब, बंगाल और असम में बीएसएफ को भारतीय इलाके में 50 किमी अंदर तक कार्रवाई का अधिकार मिल गया है.

Punjab Power Blackout: कोयले की गंभीर कमी की वजह से पंजाब राज्य बिजली निगम लिमिटेड को बिजली उत्पादन में कटौती के लिए मजबूर होना पड़ा है.

  • Share this:

    चंडीगढ़. पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने सोमवार को कहा कि उनकी सरकार राज्य में बिजली का संकट नहीं होने देगी और उन्होंने केंद्र सरकार से कोयले की पर्याप्त आपूर्ति सुनिश्चित करने को कहा है. चन्नी का यह बयान राज्य के तापीय विद्युत संयंत्रों में कोयले की भारी कमी से उत्पन्न बिजली संकट के बीच आया है.

    चन्नी ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘सिर्फ पंजाब ही नहीं पूरा देश कोयले की कमी की वजह से बिजली संकट का सामना कर रहा है.’’ मुख्यमंत्री ने कहा कि उन्होंने कोयला मंत्री से बातचीत की है और इस संबंध में एक पत्र भी लिखा है. चन्नी ने कहा कि उन्होंने केंद्र सरकार को पंजाब को जल्द से जल्द पर्याप्त कोयला आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए कहा है.

    Coal Crisis: देशभर में हो जाएगी बिजली गुल? ऊर्जा सचिव बोले- पहले हफ्ते में थी दिक्कत, पर अब हालात ठीक

    बिजली गुल होने की आशंका के संबंध में पूछे गए सवाल पर चन्नी ने कहा कि उनकी सरकार राज्य में ऐसा नहीं होने देगी. पंजाब में बिजली आपूर्ति की स्थिति गंभीर बनी हुई है क्योंकि राज्य के स्वामित्व वाली पीएसपीसीएल मांग और आपूर्ति के बीच की खाई पाटने के लिए सभी श्रेणियों के उपभोक्ताओं के लिए तीन घंटे की दैनिक बिजली कटौती कर रही है.

    Coal Crisis: अमित शाह ने मंत्रियों के साथ की उच्च बैठक, कई राज्यों ने बिजली कटौती की दी चेतावनी

    कोयले की गंभीर कमी की वजह से पंजाब राज्य बिजली निगम लिमिटेड को बिजली उत्पादन में कटौती के लिए मजबूर होना पड़ा. अधिकारियों ने रविवार को बताया कि कोयले के भंडार में कमी की वजह से कोयले से चलने वाले बिजली संयंत्र अपनी उत्पादन क्षमता के 50 प्रतिशत से भी कम काम कर पा रहे हैं.

    अधिकारियों ने कहा कि निजी बिजली तापीय संयंत्रों के पास 1.5 दिन के कोयले का भंडार था, जबकि राज्य संचालित इकाईयों के पास चार दिन तक का कोयला है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज