अपना शहर चुनें

States

पंजाब में कोरोना के नए स्ट्रेन की पुष्टि, एम्स के डायरेक्टर डॉ. गुलेरिया बोले- बेवजह यात्रा न करें

दिल्ली एम्स के डायरेक्टर डॉ. रणदीप गुलेरिया ने कोरेाना के नए स्‍ट्रेन पर चिंता जताई.
दिल्ली एम्स के डायरेक्टर डॉ. रणदीप गुलेरिया ने कोरेाना के नए स्‍ट्रेन पर चिंता जताई.

दिल्ली एम्स (AIIMS) के डायरेक्टर डॉ. रणदीप गुलेरिया (Dr. Randeep Guleria) ने ब्राजील का जिक्र करते हुए कहा कि वहां एक बार फिर से लोग करोना (Corona) की चपेट में आ रहे हैं. जबकि वहां लोग 70 फीसदी सुरक्षित हो चुके थे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 22, 2021, 9:38 AM IST
  • Share this:
चंडीगढ़. दिल्ली एम्स (AIIMS) के डायरेक्टर डॉ. रणदीप गुलेरिया (Dr. Randeep Guleria) ने नए कोरोना स्ट्रेन (New Corona Strain) के आने की पुष्टि की है, साथ ही लोगों से बेवजह यात्रा न करने की भी सलाह दी है. यह जानकारी उन्होंने जयपुर में हो रहे लिटरेचर फेस्टिवल में ‘इंडियाज फाइट अगेंस्ट द कोविड’ सेशन में दी है. उन्होंने कहा है कि महाराष्ट्र और केरल में भी नए स्ट्रेन के मरीज सामने आए हैं. उन्होंने बताया कि कोराना अभी खत्म नहीं हुआ है, वैक्सीन के बाद भी अगर इससे बचा सकता है तो वे एहतिहात ही हैं.

ब्राजील का जिक्र करते हुए उन्होंने बताया कि वहां एक बार फिर से लोग करोना की चपेट में आ रहे हैं. जबकि वहां लोग 70 फीसदी सुरक्षित हो चुके थे. एक दैनिक हिंदी अखबार की रिपोर्ट के मुताबिक उन्होंने यह भी जानकारी दी की 6 दिसंबर से 4 जनवरी तक दिल्ली में सर्वे में 40% लोग अभी तय नहीं कर पाए थे कि वे वैक्सीन लगवाना भी चाहते हैं या नहीं.

पंजाब में कोराना एक बार फिर से रफ्तार पकड़ने लगा है. रविवार को सूबे में कोरोना के 351 मामले सामने आए हैं. एक रिपोर्ट के मुताबिक इनमें पटियाला के 6 बैंककर्मी और 4 टीचर्स, लुधियाना में 7 छात्र, 2 टीचर, 2 सरकारी मुलाजिम, एक हेल्थ वर्कर, एक परिवार के पांच सदस्य, अमृतसर में 5 टीचर और 3 छात्र शामिल हैं.
इसे भी पढ़ें :- COVID-19: भारत में मिला कोरोना का नया स्‍ट्रेन हो सकता है कहीं ज्यादा संक्रामक- AIIMS प्रमुख डॉ. गुलेरिया



पंजाब में टीकाकरण की दर बहुत कम
उधर स्वास्थ्य मंत्री ने स्वास्थ्य कर्मियों के बीच टीकाकरण की कम दर पर चिंता व्यक्त करते हुए कहा कि अब तक 2.06 लाख हेल्‍थ वर्कर्स और 1.82 लाख फ्रंटलाइन वर्कर्स ने COVID-19 टीकाकरण के लिए पंजीकरण कराया है. स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि कुछ 79,000 या 38 प्रतिशत स्वास्थ्य कर्मियों और 4,000 फ्रंटलाइन वर्कर्स को टीका लगाया गया है और यह कवरेज, लक्ष्‍य से बहुत दूर है. वैक्‍सीन, सुरक्षित और प्रभावी है. पंजाब में किसी की मृत्यु या किसी भी गंभीर प्रतिकूल प्रभाव का एक भी मामला नहीं है. अफवाहों और गलत सूचना से किसी को गुमराह नहीं होना चाहिए.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज