नवजोत सिंह सिद्धू ने अपनी ही पार्टी पर साधा निशाना, कहा- 3 करोड़ की आबादी में 2200 लोगों के ही हुए टेस्ट

पूर्व कैबिनेट मिनिस्टर नवजोत सिंह सिद्धू
पूर्व कैबिनेट मिनिस्टर नवजोत सिंह सिद्धू

नवजोत सिंह सिद्धू (Navjot Singh Sidhu) ने यूट्यूब चैनल 'जीतेगा इंडिया' पर एक वीडियो शेयर किया. इस वीडियो में उन्होंने कहा कि पंजाब की कुल 3 करोड़ आबादी में से राज्य सरकार अभी तक सिर्फ 2200 लोगों के ही टेस्ट कर पाई है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 10, 2020, 11:30 AM IST
  • Share this:
चंडीगढ़. देश में लगातार बढ़ रहे कोरोना वायरस (Coronavirus) को लेकर पूर्व कैबिनेट मिनिस्टर नवजोत सिंह सिद्धू (Navjot Singh Sidhu) ने अपनी ही कांग्रेस सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि पंजाब की कुल 3 करोड़ आबादी में से राज्य सरकार अभी तक सिर्फ 2200 लोगों के ही टेस्ट कर पाई है जिनमें से 130 की रिपोर्ट पॉजिटिव आई. उन्होंने अपने यूट्यूब चैनल 'जीतेगा इंडिया' पर एक वीडियो शेयर किया जिसमें वो कोरोना वायरस को लेकर पंजाब के लोगों से बातचीत कर रहे हैं. इस वीडियो में उन्होंने कहा कि बेशक भारत में संक्रमण से मरने वालों की मृत्युदर 2.7% है लेकिन 133 करोड़ की आबादी में अब तक लगभग 1.17 लाख लोगों का ही टेस्ट हुआ है.

कहा- सख्ती से करें पालन
सिद्धू ने कहा कि अब तक पंजाब में बहुत ही कम लोगों के टेस्ट हो पाए हैं, इसलिए सरकार को विशेष ध्यान देने की जरूरत है. इस वैश्विक महामारी को रोकने के लिए निर्देशों का सख्ती से पालन अगर नहीं किया गया तो इसे रोकना मुश्किल हो जाएगा. उन्होंने लोगों से अपील की कि वे वह सरकार का सहयोग करें और मजबूती के साथ बचाव करके महामारी से मुकाबला करें.

दूसरे देशों का भी दिया उदाहरण
उन्होंने बताया कि दूसरे देश किस तरह से इस महामारी से लड़ रहे हैं हमें उनसे भी सीख लेनी चाहिए. सिद्धू ने कहा, 'कोरिया की आबादी 5 करोड़ है जिसमें से उन्होंने 4.5 करोड़ के टेस्ट कर डाले और कोरोना वायरस के संक्रमण को रोक दिया.



ये भी पढ़ें: कोरोना वायरस से लड़ रहे स्वास्थ्यकर्मियों, आम लोगों को पंजाब सरकार का तोहफा

पंजाब सरकार ने बनाई रोजाना 800 टेस्ट की योजना
कोरोना वायरस से लड़ने के लिए पंजाब सरकार ने संदिग्धों के टेस्ट करने के लिए 5 RTPCR मशीनें और 4 RNA ऐकस्टरेकशन मशीनें सरकारी मेडिकल कॉलेज पटियाला और अमृतसर के वायरल रिसर्च डायगनोस्टिक लैब में स्थापित कर दी गई है. डॉक्टरी शिक्षा और अनुसंधान संबंधी विभाग के प्रमुख सचिव डीके तिवारी ने बताया कि इसके साथ ही सरकारी मेडिकल कॉलेज पटियाला और अमृतसर में अब रोजाना 400-400 टेस्ट किए जा सकेंगे.

ये भी पढ़ें: कोरोना वायरस: चंडीगढ़ में घर से बाहर निकलने पर मास्क पहनना हुआ जरूरी
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज