Punjab Coronavirus: लुधियाना में रात 9 बजे से सुबह 5 बजे तक नाइट कर्फ्यू, 5-6% बढ़ा पॉजिटिविटी रेट

डिप्टी कमिश्नर लुधियाना

डिप्टी कमिश्नर लुधियाना

पंजाब में कोविड-19 (Punjab Coronavirus) के बढ़ते मामलों के बीच मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने नौ सबसे अधिक प्रभावित जिलों में रात का कर्फ्यू दो घंटे के लिए बढ़ाने की घोषणा की.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 19, 2021, 11:42 AM IST
  • Share this:
चंडीगढ़. पंजाब में कोविड-19 (Punjab Coronavirus:) के बढ़ते मामलों के बीच मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने बृहस्पतिवार को नौ सबसे अधिक प्रभावित जिलों में रात का कर्फ्यू दो घंटे के लिए बढ़ाने की घोषणा की. सिंह ने कहा कि राज्य में कोरोना वायरस की स्थिति गंभीर है, ऐसे में यदि लोग कोविड उपयुक्त आचरण का पालन नहीं करते हैं तो कड़े कदम उठाने पड़ सकते हैं. मुख्यमंत्री ने कहा, ‘यह लोगों के लिए आसान नहीं होगा . लोग भले ही इसे पसंद न करे लेकिन यह मेरा कर्तव्य है.’ उन्होंने उम्मीद जतायी कि सभी पंजाबी सहयोग करेंगे और पाबंदियों का पालन करेंगे. उन्होंने राज्य के लोगों से अपील की, ‘ ईश्वर के लिए, पंजाबियों की जान बचाइए.’

लुधियाना, जालंधर, पटियाला, मोहाली, अमृतसर, गुरदासपुर, होशियारपुर, कपूरथला और रूपनगर में रात ग्यारह से सुबह पांच बजे के बजाय अब रात नौ बजे से लेकर सुबह पांच बजे तक कर्फ्यू लगा रहेगा. इन जिलों में रोज कोविड-19 के 100 से अधिक मामले सामने आ रहे हैं.

इस बाबत लुधियाना के डिप्टी कमिश्नर ने कहा कि 'पॉजिटिविटी दर 240-250 दैनिक मामलों के साथ 5-6% तक बढ़ गई है. प्रति सप्ताह होने वाली मौतें 7 से 25-30 तक बढ़ गई हैं, जबकि अस्पताल में भर्ती मामले 10% तक बढ़ गए हैं.'



इस घोषणा से पहले बुधवार को राज्य में कोविड-19 के 2,039 नये मामले सामने आये थे और 35 से अधिक मरीजों ने जान गंवायी थी. लुधियाना में 233 मामले, जालंधर में 277, पटियाला में 203, मोहाली में 222, अमृतसर में 178, गुरदासपुर में 112, होशियारपुर में 191, कपूरथला में 157 और रूपनगर में 113 मामले सामने आये थे.

मुख्यमंत्री ने लोगों से अस्वस्थ होने पर डॉक्टर के पास जाने और खुद की जांच कराने की अपील की. उन्होंने सभी निवासियों से मास्क पहनने और शारीरिक दूरी बनाये रखने की भी अपील की. उन्होंने कोविड नियमों का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ जरूरत पड़ने पर जुर्माना लगाने की भी चेतावनी दी. सिंह ने उम्मीद जताई कि केंद्र सबसे अधिक प्रभावित क्षेत्रों में युवाओं का टीकाकरण करने संबंधी उनके सुझाव को स्वीकार करेगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज