पंजाब में नहीं पहुंची कोविड वैक्सीन, 18 से ऊपर के लोगों के वैक्सीनेशन की कोई संभावना नहीं

1 मई से शुरू होगा टीकाकरण का तीसरा चरण. (Pic- AP)

1 मई से शुरू होगा टीकाकरण का तीसरा चरण. (Pic- AP)

Punjab Coronavirus News: पंजाब में कोरोना के मामलों में तेजी से बढ़ोतरी हो रही है. बीते 24 घंटों में कोरोना के नए मरीजों की संख्या 6472 हो चुकी है, जबकि 142 मरीजों की मौत हो चुकी है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 29, 2021, 2:45 PM IST
  • Share this:

चंडीगढ़. ऑक्सीजन oxygen के बाद अब कोविड वैक्सीन (Covid vaccine) की कमी को लेकर भी बवाल मचने लगा है. केंद्र सरकार ने 1 मई से 18 साल के ऊपर के लोगों को कोविड रोधी वैक्सीन (Anti-covid vaccine) लगाने का ऐलान किया है, लेकिन पंजाब (Punjab) में अभी तक वैक्सीन की खेप पहुंची ही नहीं है, जिसके चलते 18 साल से ऊपर के लोगों को 1 मई से टीका लगाने की अभी कोई संभावना नजर नहीं आ रही है.



इस बात की जानकारी देते हुए पंजाब के स्वास्थ्य मंत्री बलबीर सिद्धू (Punjab Health Minister Balbir Sidhu) ने मीडिया को जारी एक बयान में बताया है कि पंजाब को केंद्र की ओर से वैक्सीन मुहैया ही नहीं करवाई गई है. उन्होंने कहा कि पंजाब सरकार ने अपने स्तर पर भी 30 लाख वैक्सीन का ऑर्डर दिया है, लेकिन केंद्र सरकार से यह वैक्सीन मिलने की उम्मीद कम ही है. दो दिन बाद 18 साल से ऊपर सभी लोगों को वैक्सीनेट करने का कार्यक्रम रखा गया है, जो सिरे चढ़ता नजर नहीं आ रहा है.



बीते 24 घंटों में कोरोना से 142 मरीजों की मौत

उधर पंजाब में कोरोना के मामलों में तेजी से बढ़ोतरी हो रही है. बीते 24 घंटों में कोरोना के नए मरीजों की संख्या 6472 हो चुकी है, जबकि 142 मरीजों की मौत हो चुकी है. 97 मरीजों की हालत गंभीर बताई जा रही है, वहीं 700 मरीज सही तरीके से सांस नहीं ले पा रहे हैं. पंजाब स्वास्थ्य विभाग के अनुसार, राज्य में अब तक 7107801 लोगों के नमूने लिए जा चुके हैं, जिनमें से 358186 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है. इनमें से 295988 ठीक भी हो चुके हैं.


इस समय राज्य में 53426 एक्टिव मामले हैं. राज्य की हालत को देखते हुए सरकार ने मेडिकल कॉलेजों और अस्पतालों में बेडों की मौजूदा संख्या की अपेक्षा और 900 बेडों का प्रबंध करने के लिए कहा गया है. राज्य भर में ऑक्सीजन टैंकर और उत्पादन प्लांट लगाने के काम में तेजी लाई गई है. लीकेज या दबाव पर कंट्रोल रखने के लिए ऑक्सीजन की सप्लाई, उपलब्धता और उसके प्रयोग का बाकायदा ऑडिट करने के आदेश भी दिए हैं.


अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज