होम /न्यूज /पंजाब /पटियाला हिंसा मामले में गिरफ्तार हरीश सिंगला को कोर्ट ने दो दिन की पुलिस हिरासत में भेजा

पटियाला हिंसा मामले में गिरफ्तार हरीश सिंगला को कोर्ट ने दो दिन की पुलिस हिरासत में भेजा

कोर्ट ने हरीश सिंगला को पुलिस हिरासत में भेजा. (फाइल फोटो)

कोर्ट ने हरीश सिंगला को पुलिस हिरासत में भेजा. (फाइल फोटो)

Patiala clash, Punjab News, khalistan Supporters: पटियाला हिंसा (Patiala violence) मामले में गिरफ्तार शिवसेना नेता हरीश ...अधिक पढ़ें

नई दिल्ली: पटियाला हिंसा (Patiala violence) मामले में गिरफ्तार शिवसेना नेता हरीश सिंगला (Harish Singla) को कोर्ट ने दो दिन की पुलिस हिरासत में भेज दिया है. सिंगला को शुक्रवार को हिंसक झड़प के बाद खालिस्तान विरोधी मार्च का नेतृत्व करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया था. सिंगला पर हिंसा भड़काने का आरोप लगा था. हिंसक झड़प के बाद शिवसेना ने भी सिंगला पर कार्रवाई करते हुए उन्हें पार्टी से निकाल दिया था.

पुलिस ने मांगी थी चार दिन की रिमांड
सिंगला की अदालत में पेशी के दौरान पुलिस ने कोर्ट से शिवसेना नेता को चार दिन के लिए रिमांड पर रखने की मांग की थी लेकिन कोर्ट ने सिर्फ दो दिन के लिए हिरासत में रखने के आदेश दिए. पुलिस ने कोर्ट में दलील दी थी कि हरीश सिंगला से यह जानना है कि मार्च निकालने के लिए किसने कहा और कौन कौन लोग इसमें शामिल हैं. क्या सिंगला और मार्च का कोई और कनेक्शन तो नहीं है, ऐसे कई सवाल हैं जिनकी पूछताछ के लिए वक्त चाहिए.

पार्टी से निकालने का अधिकार सिर्फ एक व्यक्ति को है
वहीं सिंगला के खिलाफ कार्रवाई करते हुए शिवसेना ने शुक्रवार को ही उन्हें पार्टी से बाहर का रास्ता दिखा दिया था. पार्टी ने कहा कि सिंगला ने जिस मार्च का नेतृत्व किया उसकी इजाजत पार्टी से नहीं ली गई थी. वहीं पार्टी से निकाले जाने पर सिंगला ने कहा कि यह पूरी तरह से गलत है और उन्हें पार्टी से निकालने का हक सिर्फ एक ही नेता का है जो महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे हैं.

आपको बता दें कि शुक्रवार को पटियाला में हिंसक झड़प उस समय शुरू हुई थी जब हरीश सिंगला के समूह ने काली माता मंदिर के बाहर खालिस्तान मुर्दाबाद मार्च शुरू किया था. कुछ ही देर में शिवसेना कार्यकर्ताओं और खालिस्तानी समर्थकों के बीच नोक झोक शुरू हो गई और देखते ही देखते हिंसा भड़क उठी. इस झड़प में खुलेआम तरवारें लहराई गईं और एक दूसरे पर पत्थर फेके गए.

घटना के बाद मुख्यमंत्री भगवंत मान ने एक उच्च स्तरीय बैठक की और घटना को दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए कहा कि वह किसी को भी राज्य में अशांति उत्पन्न नहीं करने देंगे. सीएम की इस बैठक के बाद पुलिस ने एक्शन लेते हुए हरीश सिंगला को गिरफ्तार कर लिया था.

मोबाइल और इंटरनेट सेवा बंद की गई
वहीं अब इस मामले पर प्रशासन सख्त है. झड़प के एक दिन बाद शनिवार को पटियाला जिले में मोबाइल इंटरनेट और एसएमएस सेवाओं को निलंबित कर दिया. इसके अलावा सरकार ने तत्काल प्रभाव से पुलिस महानिरीक्षक (आईजी) पटियाला रेंज, पटियाला के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक और पुलिस अधीक्षक का तबादला कर दिया.

मुख्यमंत्री कार्यालय के एक प्रवक्ता ने बताया कि मुखविंदर सिंह चिन्ना को पटियाला का नया महानिरीक्षक (आईजी-पटियाला रेंज) नियुक्त किया गया है जबकि दीपक पारिक पटियाला के नए वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (एसएसपी) होंगे और वजीर सिंह को पटियाला का नया पुलिस अधीक्षक नियुक्त किया गया है.

Tags: Patiala, Punjab news

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें