होम /न्यूज /पंजाब /आतंकी लंडा और लक्खा सिधाना सहित 11 पर ड्रग्स और हथियारों की तस्करी का केस दर्ज

आतंकी लंडा और लक्खा सिधाना सहित 11 पर ड्रग्स और हथियारों की तस्करी का केस दर्ज

गैंगस्टर से नेता बने लक्खा सिधाना और कनाडा में बैठे  लखबीर सिंह उर्फ लंडा सहित 11 लोगों पर सीमा पार से ड्रग्स तथा हथियारों की तस्करी करने का मामला दर्ज किया गया है. (फाइल फोटो- News18)

गैंगस्टर से नेता बने लक्खा सिधाना और कनाडा में बैठे लखबीर सिंह उर्फ लंडा सहित 11 लोगों पर सीमा पार से ड्रग्स तथा हथियारों की तस्करी करने का मामला दर्ज किया गया है. (फाइल फोटो- News18)

पुलिस की एफआईआर के अनुसार आरोपियों ने एक गिरोह बनाया है, जिसका मास्टरमाइंड गैंगस्टर से आतंकी बना लखबीर सिंह उर्फ लंडा ह ...अधिक पढ़ें

एस. सिंह
चंडीगढ़. गैंगस्टर से नेता बने लक्खा सिधाना और कनाडा में बैठे गैंगस्टर से आतंकी बने लखबीर सिंह उर्फ लंडा सहित 11 लोगों पर जबरन वसूली और सीमा पार से ड्रग्स तथा हथियारों की तस्करी करने का मामला दर्ज किया गया है. तरनतारन के गैंगस्टर लंडा पर पुलिस स्टेशन में 2 सितंबर को दर्ज किया गया मामला तब सामने आया जब सिधाना के कुछ प्रशंसकों ने सोशल मीडिया पर दावा किया कि उन्हें पंजाब पुलिस द्वारा एक फर्जी मामले में नामित किया गया था. लंडा अमृतसर में एक सब-इंस्पेक्टर की कार के नीचे इम्प्रोवाइज्ड एक्सप्लोसिव डिवाइस (IED) लगाने के अलावा, मोहाली में पंजाब पुलिस के खुफिया मुख्यालय पर रॉकेट प्रोपेल्ड ग्रेनेड (RPG) हमले का भी प्रमुख साजिशकर्ता भी है.

पुलिस की एफआईआर के अनुसार आरोपियों ने एक गिरोह बनाया है, जिसका मास्टरमाइंड लंडा है. वह कनाडा में बैठकर पाकिस्तान से ड्रोन के जरिये हथियारों, गोला-बारूद और ड्रग्स की तस्करी के लिए काम कर रहा है. कथित गिरोह के अन्य नामित सदस्य नछत्तर सिंह, सतनाम सिंह, गुरकीरत सिंह, अनमोल सोनी, चरत सिंह, गुरजंत सिंह, महावीर सिंह, सुखदेव सिंह और दलजीत सिंह हैं. सभी आरोपी तरनतारन जिले के विभिन्न गांवों के रहने वाले हैं.

वसूली के पैसे से खरीदे जाते हैं हथियार
हरिके पुलिस की एक टीम को मिली गुप्त सूचना के आधार पर मामला दर्ज किया गया था. लंडा अपने गुर्गों के जरिए बड़े कारोबारियों और अमीर लोगों से पैसे की मांग करता रहा है. ये सदस्य पैसे नहीं देने पर लोगों को गोली मारने की धमकी देते हैं. वे उन लोगों के परिवार के सदस्यों को जान से मारने की धमकी भी देते हैं जिनसे पैसे मांगे जाते हैं. लंडा के सहयोगी उसे हवाला चैनलों के जरिए रंगदारी भेजते रहे हैं. एफआईआर में कहा गया है कि लांडा ड्रोन के जरिए हेरोइन और अवैध हथियारों की तस्करी के लिए पाकिस्तान को फिरौती के पैसे भेजता है.

बब्बर खालसा इंटरनेशनल से मिलाया हाथ
भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) की धारा 386, 387, 388, 389 (जबरन वसूली) और 120-बी (आपराधिक साजिश) और शस्त्र अधिनियम और एनडीपीएस अधिनियम की विभिन्न धाराओं के तहत यह मामला दर्ज किया गया है. पुलिस सूत्रों ने बताया कि गिरोह के कुछ सदस्य पहले से ही जेल में हैं. तरनतारन जिले के हरिके पट्टन गांव के रहने वाले लंडा पिछले 11 साल से पंजाब पुलिस के लिए सिरदर्द बन चुका है. वह पाकिस्तान स्थित गैंगस्टर से आतंकवादी बने हरविंदर सिंह उर्फ रिंदा का करीबी माना जाता है. लांडा 2017 में कनाडा भाग गया था और उसने खालिस्तान समर्थक आतंकवादी संगठन बब्बर खालसा इंटरनेशनल (बीकेआई) के साथ हाथ मिला लिया था. उस पर अमृतसर, तरनतारन, मोगा में हत्या, हत्या के प्रयास और ड्रग्स तस्करी सहित 18 आपराधिक मामले दर्ज हैं. पंजाब पुलिस ने लांडा के कनाडा भाग जाने से पहले मई 2016 में मोगा में अपहरण के आरोप में उसके खिलाफ आखिरी मामला दर्ज किया था.

Tags: Punjab news

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें