नशे में धुत ASI ने पंजाब के डीजीपी को भी नहीं बख्शा, सड़क पर गाली देने पर हुआ सस्‍पेंड

एएसआई राजकुमार ने नशे में धुत होकर जमकर हंगामा किया.

मामला डेराबाबा नानक के गोखुवाल गांव का है. यहां सिविल लाइन में तैनात एएसआई राजकुमार ने नशे में धुत होकर जमकर हंगामा किया और लोगों को गंदी गालियां दीं. मामले की जानकारी मिलते ही जहां राजकुमार को सस्पेंड कर दिया गया है

  • Share this:
    चंडीगढ़. पंजाब में हाल ही में फगवाड़ा में एक एसएचओ (Station house officer SHO) द्वारा सब्जी की टोकरी को लात मारने के बाद अब एक एएसआई ने लोगों को सरेआम गाली दी हैं. यही नहीं एएसआई (Assistant sub-inspector) ने आपा इस कदर खो दिया कि पंजाब के डीजीपी दिनकर गुप्ता (Punjab DGP Dinkar Gupta) को भी नहीं बख्शा. बताया जा रहा है कि उसने नशे में पंजाब के डीजीपी के लिए भी अभद्र भाषा का प्रयोग किया. फिलहाल डीएसपी ने मामले में त्वरित कार्रवाई करते हुए एएसआई को सस्पेंड (Suspend) कर दिया है.

    मामला डेराबाबा नानक के गोखुवाल गांव का है. यहां सिविल लाइन में तैनात एएसआई राजकुमार ने नशे में धुत होकर जमकर हंगामा किया और लोगों को गंदी गालियां दीं. मामले की जानकारी मिलते ही जहां राजकुमार को सस्पेंड कर दिया गया है, वहीं इसकी जांच स्थानीय एसएचओ को सौंप दी गई है. पंजाब में इस तरह का पहला या दूसरा मामला नहीं है, जब पुलिस कर्मी अनुशासन में रहना छोड़कर गाली गलोच पर उतरे हों. ऐसे मामलों में कई पुलिसकर्मियों को या तो नौकरी से हाथ धोना पड़ा है, या फिर उन्हें सस्पेंड किया गया है.

    इसे भी पढ़ें :- पंजाब: ऑक्सीजन, वैक्सीन और दवाओं की कमी, सीएम कैप्टन बोले केंद्र पर दबाव बनाएं सांसद

    गौरतलब है कि इससे पूर्व पंजाब के फगवाड़ा में एसएचओ द्वारा रेहड़ी वालों की सब्‍जी की टोकरी पर लात मारने का मामला सामना आया था. जिसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद अधिकारियों ने एसएचओ को निलंबित कर दिया गया था. इस वीडियो में एसएचओ (शहर) नवदीप सिंह एक पटरी वाले की सब्जी की टोकरी को ठोकर मारते दिखाई दे रहे हैं.

    इसे भी पढ़ें :- पंजाब में SHO की शर्मनाक हरकत, सब्जी की दुकान पर मारी लात, हुआ सस्पेंड

    इस पूरे मामले पर राज्य के पुलिस महानिदेशक दिनकर गुप्ता ने ट्वीट करते हुए कहा था, इस तरह की घटना पूरी तरह से अस्वीकार्य और शर्मनाक है. घटना के बारे में जानकारी मिलने के बाद फगवाड़ा के एसएचओ को निलंबित कर दिया गया है. ऐसा व्यवहार किसी सूरत में बर्दाश्त नहीं किया जा सकता और जो भी लोग इसमें शामिल हैं, उन्हें गंभीर परिणाम भुगतने होंगे.