चीन और पाकिस्तान के आर्थिक और सैनिक संबंध भारत के लिए घातक: कैप्टन अमरिंदर

मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने केंद्र सरकार से कृषि कानून वापस लेने की मांग की है.

मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने केंद्र सरकार से कृषि कानून वापस लेने की मांग की है.

मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह (Captain Amarinder Singh) ने केंद्र सरकार से अपील की कि यदि किसी अन्य कारण से नहीं तो कम-से-कम राष्ट्रीय सुरक्षा के हित में कृषि कानून रद्द किए जाएं. उन्होंने कहा कि आप यह क्यों नहीं सोचते कि ऐसे दौर में पाकिस्तान (Pakistan) क्या करेगा?

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 25, 2021, 11:06 AM IST
  • Share this:
चंडीगढ़. पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह (Chief Minister Captain Amarinder Singh) ने पाकिस्तान और चीन (Pakistan and China) के बीच बढ़ रहे आर्थिक और सैनिक संबंधों को केंद्र सरकार की कूटनीतिक असफलता (Diplomatic Failure) करार दिया है. उन्होंने ने कहा कि किसानों के संकट को सुलझाने में देरी करने के कारण भाजपा के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार पाकिस्तान को राज्य में बढ़ रही बेचैनी का फायदा उठाने की इजाज़त दे रही है.

मुख्यमंत्री ने केंद्र सरकार से अपील की कि यदि किसी अन्य कारण से नहीं तो कम-से-कम राष्ट्रीय सुरक्षा के हित में कृषि कानून रद्द किए जाएं. उन्होंने कहा कि आप यह क्यों नहीं सोचते कि ऐसे दौर में पाकिस्तान क्या करेगा? मुख्यमंत्री ने इतिहास से सबक सीखने की जरूरत पर जोर देते हुए चेतावनी दी कि पाकिस्तान पंजाब में नौजवानों में पाई जा रही नाराजगी का फायदा उठाएगा जैसे कि वह पहले भी करता आया है. किसानों का आंदोलन तेज होने के बाद ड्रोनों के द्वारा पंजाब में हथियारों की तस्करी बढ़ने के विवरणों का हवाला देते हुए मुख्यमंत्री ने कहा, कि क्या दिल्ली सो रही है?

मुख्यमंत्री ने एक बार फिर केंद्र सरकार को हठ और अहंकार छोड़ने और तुरंत खेती कानून वापस लेने की अपील की है. उन्होंने कहा, यह न तो हिटलर की जर्मनी है और न ही मायो ज़ेदोंग का चीन है. लोगों की आवाज़ सुननी पड़ेगी. उन्होंने आगे कहा कि सत्ता में बैठे लोगों को यह बात अच्छी तरह समझ लेनी चाहिए कि किसानों का आंदोलन राजनीतिक मसला नहीं बल्कि उनके अस्तित्व से जुड़ा हुआ है.
इसे भी पढ़ें :- पंजाब में अगला चुनाव भी लड़ेंगे कैप्टन अमरिंदर सिंह, कहा- राज्य की मदद करना मेरा कर्तव्य



उन्होंने कहा कि यह आंदोलन सिर्फ़ पंजाब तक ही सीमित नहीं है. राजनीति में अपने 52 वर्षों के तजुर्बे का जिक्र करते हुए कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि उन्होंने आतंकवाद के सिर उठाने का दौर भी देखा है. उन्होंने कहा कि पाकिस्तान और चीन के दरमियान आर्थिक और सैन्य संबंध के कारण आज स्थिति बहुत खराब है जोकि भारत के लिए अच्छा संकेत नहीं है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज