अपना शहर चुनें

States

कभी पाकिस्तानियों का फेवरिट रहा भारत का ये सिनेमा हॉल हुआ बंद

भारत में पाकिस्तानियों का फेवरिट सिनेमा हॉल Raja Talkies बंद
भारत में पाकिस्तानियों का फेवरिट सिनेमा हॉल Raja Talkies बंद

राजा टॉकीज (Raja Talkies) के नाम से मशहूर धनी राम थिएटर को बॉर्डर से सटे फिरोजपुर (Ferozepur) शहर में साल 1930 में बनाया गया था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 3, 2019, 1:26 PM IST
  • Share this:
फिरोजपुर: एक समय में पाकिस्तानी (Pakistani) सिनेमा प्रेमियों का पसंदीदा रहा पंजाब का सबसे पुराना राजा टॉकीज बंद कर दिया गया है. अब इस हेरिटेज प्रॉपर्टी को बेच दिया जाएगा. राजा टॉकीज (Raja Talkies)  के नाम से मशहूर धनी राम थिएटर को बॉर्डर से सटे फिरोजपुर शहर में साल 1930 में बनाया गया था.

सालों तक इस सिनेमा हॉल (Cinema Hall) ने अपने जीवनकाल में कई दिक्कतों का बखूबी सामना किया, जिसमें बढ़ते टैक्स और सेटेलाइट चैनलों की बढ़ती संख्या शामिल है. लेकिन लोगों के घटते रुझान और मल्टीप्लेक्स कल्चर के आगे ये राजा टॉकीज धराशायी हो गया. इसके बढ़ते रखरखाव के खर्चे को देखते हुए मालिकों ने इसे बंद करने का फैसला किया है.

मल्टीप्लेक्स के सामने फेल हुए सिनेमाघर
इस टॉकीज के मालिकों में से एक सुभाष कालिया ने कहा, ‘शहर में ज्यादातर सिनेमाघर मल्टीप्लेक्स में तब्दील हो गए है. लोगों में भी सिनेमाघरों में फिल्म देखने का क्रेज नहीं रहा. ऐसे में सीमावर्ती इस शहर में सिनेमाघर का बहुत ज्यादा स्कोप नहीं है और इसलिए हमने राजा टॉकीज को बंद करने का फैसला किया है.
पाकिस्तानी राजा टॉकीज में देखते थे फिल्म


एक बुजुर्ग दुर्गा प्रसाद ने बताया कि कभी बड़ी सख्या में पाकिस्तानी लोग इस टॉकीज में सिनेमा देखने आते थे. प्रसाद ने बताया कि पाकिस्तान के सिनेमा प्रेमी अपने व्यापार और खरीदारी करने के बाद शम्मी कपूर, नरगिस, दिलीप कुमार, देव आनंद और राज कपूर जैसे फेवरिट सितारों की फिल्म देखते थे. पाकिस्तान के साथ हुसैनीवाला पोस्ट के जरिए व्यापार होता था. लेकिन 1971 के भारत-पाकिस्तान युद्ध के बाद इस पोस्ट को बंद कर दिया गया. उन दिनों पाकिस्तान के व्यापारी राजा टॉकीज में आकर ही बॉलीवुड की फिल्में देखते थे. पाकिस्तानियों के लिए ये फेवरिट टॉकीज था.

ये भी पढ़ें-

5 दिनों तक चांद की कक्षा में उल्टा चक्कर लगाएगा विक्रम लैंडर
डॉक्टरों से मारपीट करने पर 10 साल की सजा, 10 लाख का जुर्माना
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज