• Home
  • »
  • News
  • »
  • punjab
  • »
  • लुधियाना सेंट्रल जेल में गैंगवार, कैदियों को काबू करने के लिए बुलानी पड़ी पुलिस फोर्स

लुधियाना सेंट्रल जेल में गैंगवार, कैदियों को काबू करने के लिए बुलानी पड़ी पुलिस फोर्स

लुधियाना जेल में हुआ गैंगवार. (Pic- News18)

लुधियाना जेल में हुआ गैंगवार. (Pic- News18)

Punjab News: गिरोह के सरगना शुभम अरोड़ा और पुनीत बैंस उर्फ मणि दोनों जेल में बंद हैं और उनके सहयोगी एक कमरे में ऑनलाइन सुनवाई में शामिल हो रहे थे, तभी दोनों गुटों में मारपीट हो गई.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

    चंडीगढ़. लुधियाना सेंट्रल जेल (Ludhiana Central Jail) के अंदर हुए गैंगवार (gang war) में तीन कैदियों के सिर पर गंभीर चोटें आई हैं जबकि कई अन्य घायल हो गए हैं. गैंगवार शुभम मोटा और पुनीत बैंस गिरोह के सदस्यों के बीच हुई है. मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक पुलिस ने कहा कि प्रतिद्वंद्वी गिरोह के सरगना शुभम अरोड़ा और पुनीत बैंस उर्फ मणि दोनों जेल में बंद हैं और उनके सहयोगी एक कमरे में ऑनलाइन सुनवाई में शामिल हो रहे थे, तभी दोनों गुटों में मारपीट हो गई.

    यह मारपीट कमरे के बाहर तक भी जा पहुंची, क्योंकि दोनों गुटों के सदस्य एक-दूसरे पर तब तक हमला करते रहे जब तक कि जेल कर्मियों और शहर के अतिरिक्त पुलिस बल (Police Force) ने स्थिति को नियंत्रण में नहीं कर लिया.

    जेल के एक सूत्र ने कहा कि ऑनलाइन सुनवाई के दौरान दोनों गिरोह के सदस्य अचानक आपस में भिड़ गए थे. हालांकि कारण का कोई पता नहीं चल पाया है. जेल में तैनात गार्ड और अर्धसैनिक बल के जवान लड़ाई कर रहे गुटों को अलग करने के लिए घटनास्थल पर पहुंचे.

    सुनवाई के दौरान हाई अलर्ट जारी किया गया था और स्थिति को नियंत्रित करने के लिए लुधियाना पुलिस आयुक्तालय के जोन 4 के पुलिसकर्मियों को भी तैनात किया गया था. लड़ाई कर रहे कैदियों को अलग करने के बाद उन्हें अलग-अलग बैरकों में ले जाया गया और घायलों का इलाज जेल परिसर में अस्पताल में किया गया.

    जेल उपाधीक्षक सतनाम सिंह ने दावा किया कि यह दो गुटों के बीच एक छोटी सी लड़ाई थी. उन्होंने कहा कि डीएसपी (सुरक्षा) अश्विनी शर्मा घटना की जांच करेंगे और रिपोर्ट सौंपेंगे. अतिरिक्त पुलिस उपायुक्त -4 रूपिंदर कौर सरा ने कहा कि जेल से कोई औपचारिक शिकायत नहीं मिली है. यह पहली बार नहीं है जब जेल में हिंसा हुई है. 27 जून, 2019 में भी जेल के अंदर दो गिरोहों की झड़प में एक कैदी की मौत हो गई और पांच पुलिसकर्मियों सहित एक दर्जन से अधिक लोग घायल हो गए थे, जिससे पुलिस को गोलियां चलाने के लिए मजबूर होना पड़ा. हंगामे के बीच चार कैदियों ने भागने की कोशिश की, लेकिन उन्हें पकड़ लिया गया था.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज