हाईटेक बनेंगे पंजाब के 6,180 सरकारी स्कूल, स्मार्ट क्लासरूम में लगाई जाएगी LED स्क्रीन

शिक्षा मंत्री ने कहा कि पंजाब सरकार द्वारा लाए गए इन सुधारों स्वरूप स्कूल शिक्षा के क्षेत्र में काफी सुधार हुआ है. (सांकेतिक तस्वीर)

शिक्षा मंत्री ने कहा कि पंजाब सरकार द्वारा लाए गए इन सुधारों स्वरूप स्कूल शिक्षा के क्षेत्र में काफी सुधार हुआ है. (सांकेतिक तस्वीर)

शिक्षा मंत्री पंजाब विजय इंदर सिंगला (Education Minister Punjab Vijay Inder Singla) ने यह जानकारी देते हुए बताया कि जिन स्कूलों में यह LED स्क्रीन लगाई जाएंगीं उनमें सरकारी मिडल, हाई और सीनियर सेकेंडरी स्तर के स्कूल शामिल हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 24, 2021, 6:04 PM IST
  • Share this:
चंडीगढ़. पंजाब के सरकारी स्कूलों में आधुनिक तकनीक से शिक्षा मुहैया करवाने के लिए भवनों में साधारण कमरों को स्मार्ट क्लासरूम बनाया जा रहा है. इस मुहिम के तहत पंजाब सरकार ने 6,180 सरकारी स्कूलों के क्लासरूम्स में एलईडी स्क्रीन लगाने के लिए 6 करोड़ 79 लाख 80 हज़ार रुपए की अनुदान जारी की है.

शिक्षा मंत्री पंजाब विजय इंदर सिंगला (Education Minister Punjab Vijay Inder Singla) ने यह जानकारी देते हुए बताया कि जिन स्कूलों में यह LED स्क्रीन लगाई जाएंगीं उनमें सरकारी मिडल, हाई और सीनियर सेकेंडरी स्तर के स्कूल शामिल हैं. जिला शिक्षा अधिकारियों को स्क्रीनें खरीदने के लिए फंड जारी करने के साथ-साथ हिदायतें भी जारी कर दी गई हैं.

क्लासरूम में होगा खास ई-कंटेंट
उन्होंने बताया कि कोर्स का विशेष तौर पर तैयार किया गया ई-कंटेंट ऑडियो-विजुअल तकनीक (audio-visual technique) के ज़रिये सरकारी स्कूलों के विद्यार्थियों को दिखाकर अच्छी तरह दोहराई करवाने और कठिन धारणाएं समझाने के लिए सहायक सिद्ध हो रहा है. शिक्षा मंत्री ने कहा कि पंजाब सरकार द्वारा लाए गए इन सुधारों स्वरूप स्कूल शिक्षा के क्षेत्र में काफी सुधार हुआ है जिसके चलते जहां नतीजों के मामलों में सरकारी स्कूलों ने प्राईवेट स्कूलों को पछाड़ा है, वहीं अभिभावकों का विश्वास भी फिर से सरकारी स्कूलों के प्रति बढ़ा है.
शिक्षा विभाग द्वारा जिला शिक्षा अधिकारियों को जारी हिदायतों अनुसार एल.ई.डी. स्क्रीनों के लिए प्रति स्कूल 11 हज़ार रुपए जारी किये गए हैं. एल.ई.डी. स्क्रीन खरीदने के लिए स्कूल स्तर पर मैनेजमेंट कमेटी प्रस्ताव डाल कर स्पैसीफिकेशनों और वित्तीय नियमों का पालन करने के लिए कहा गया है. स्कूल मुखियों और अध्यापकों को हिदायत की गई है कि डिजिटल स्क्रीन खरीदने के उपरांत इसके उपयुक्त प्रयोग के लिए स्क्रीन उचित स्थान पर लगाई जाये और इसके रख-रखाव के लिए विद्यार्थियों को भी प्रेरित किया जाये.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज