लाइव टीवी

जालंधर लोकसभा सीट: वकीलों के खिलाफ लड़ेंगे बाबा और किसान

News18Hindi
Updated: May 9, 2019, 12:20 PM IST
जालंधर लोकसभा सीट: वकीलों के खिलाफ लड़ेंगे बाबा और किसान
जालंधर लोकसभा सीट

जालंधर लोकसभा सीट से 2019 चुनाव में कांग्रेस ने संतोख सिंह चौधरी को टिकट दिया है. वहीं अकाली-बीजेपी गठबंधन से उम्मीदवार चरणजीत सिंह अटवाल हैं. आम आदमी पार्टी ने पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट के सेवानिवृत्‍त जज जोरा सिंह को उतारा है.

  • Share this:
सतलज सहित 20 नदियों के संगम स्‍थल के रूप में जाना जाने वाला जालंधर पंजाब का काफी पुराना और नामचीन शहर है. यह चमड़े और खेल के सामान के उत्‍पादन के लिए लोकप्रिय है. वहीं एतिहासिक रूप से देखें तो हर लिहाज से काफी धनी इस शहर में आक्रांता महमूद गजनवी ने बहुत लूटपाट की थी. हालांकि अभी भी यह अपनी संस्‍कृति और प्राकृतिक रंग को समेटे है. राजनीति में भी जालंधर लोकसभा सीट पंजाब की प्रमुख सीटों में से एक है. यह प्रमुख रूप से कांग्रेस की सीट रही है.

2019 लोकसभा चुनाव में इस सीट (सुरक्षित) पर काफी दिलचस्‍प मुकाबला देखने को मिलने वाला है. एक ओर जहां प्रमुख पार्टियों के उम्‍मीदवार वकालात के पेशे से हैं. वहीं इनके खिलाफ बाबा, किसान, मजदूर आदि लोग भी ताल ठोक रहे हैं. यहां से कांग्रेस ने संतोख सिंह चौधरी को टिकट दिया है. वहीं अकाली-बीजेपी गठबंधन से उम्मीदवार चरणजीत सिंह अटवाल हैं. आम आदमी पार्टी ने वकालात किए इन दोनों उम्‍मीदवारों के खिलाफ पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट के सेवानिवृत्‍त जज जोरा सिंह को उतारा है.

जालंधर लोकसभा सीट कांग्रेस के खाते में रही है.
जालंधर लोकसभा सीट कांग्रेस के खाते में रही है.


इसके साथ ही जो खास बात है वह यह है कि नामांकन भरने वालों में स्वामी नित्यानंद भी शामिल हैं. इन्‍होंने खुद को साधु बताया है. इसके साथ ही बसपा अंबेडकर से चुनाव लड़ रहे तारा सिंह किसान हैं और खेतीबाड़ी करते हैं. उपकार सिंह भी किसान हैं. पीपुल्स पार्टी ऑफ इंडिया डेमोक्रेटिक के हरी मित्तर ने खुद को मजदूर बताया है.

जालंधर लोकसभा सीट पर 1952 से लेकर 17 बार लोकसभा चुनाव और एक बार उपचुनाव हुआ है. जिसमें 13 बार कांग्रेस ने जीत हासिल की है. जबकि अकाली दल सिर्फ दो बार ही 1977 और 1996 में यहां खाता खोल पाया.

कांग्रेस बनाम अकाली दल
कांग्रेस बनाम अकाली दल


2014 लोकसभा चुनाव में ऐसा था परिणाम
Loading...

जालंधर सुरक्षित सीट से 2014 के चुनावों में कांग्रेस के संतोख सिंह चौधरी ने अकाली दल के पवन कुमार टीनू को 70,981 वोटों से हराया था. संतोख सिंह को 3,80,479 (36.6 %) मत थे और अकाली दल के टीनू को 3,09,498 (29.7 %) वोट मिले थे. जबकि तीसरे नंबर पर 2,54,121 वोट लेकर आम आदमी पार्टी की उम्मीदवार ज्योति मान रही थीं.

सामाजिक ताना-बाना
जालंधर लोकसभा के अंदर 9 विधानसभा सीटें हैं. जिनमें फिल्लौर (सुरक्षित), नाकोदर, शाहकोट, करतारपुर (सुरक्षित), जालंधर वेस्ट (सुरक्षित), जालंधर सेंट्रल, जालंधर नॉर्थ, जालंधर कैंट और आदमपुर (सुरक्षित) हैं. 2014 के चुनाव के मुताबिक जालंधर लोकसभा में कुल 13,39,842 मतदाता हैं, जिनमें 6,87,150 पुरुष और 6,52,692 महिला मतदाता शामिल हैं.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Jalandhar से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: April 30, 2019, 11:06 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...