पंजाब: ऑक्सीजन, वैक्सीन और दवाओं की कमी, सीएम कैप्टन बोले केंद्र पर दबाव बनाएं सांसद

ऑक्सीजन और वैक्सीन मुद्दे पर केंद्र सरकार पर दबाव की तैयारी में कैप्टन सरकार .(फाइल फोटो)

ऑक्सीजन और वैक्सीन मुद्दे पर केंद्र सरकार पर दबाव की तैयारी में कैप्टन सरकार .(फाइल फोटो)

Coronavirus in Punjab: मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने इस बात की तरफ इशारा किया कि भाजपा (BJP) शासित पड़ोसी राज्य हरियाणा को पंजाब की अपेक्षा अधिक ऑक्सीजन कोटा और अधिक टैंकर मिल रहे हैं.

  • Share this:

चंडीगढ़. पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह (Captain Amarinder Singh) ने केंद्र सरकार पर कोविड सप्लाई को लेकर सवाल उठाए हैं। उन्होंने आरोप लगाया है कि केंद्र सरकार जरुरत के मुताबिक ऑक्सीजन (Oxygen), वैक्सीन (Covid Vaccine) और जरूरी दवाओं का कोटा मुहैया नहीं करा रही है. उन्होंने कहा कि उनकी सरकार वेंटिलेटर फ्रंट( Ventilator front) पर भी पिछड़ रहा है, क्योंकि केंद्र सरकार ने राज्य को 809 वेंटीलेटर तो मुहैया करवाए हैं लेकिन उन्हें स्थापित करने के लिए बीइएल इंजीनियर ही नहीं हैं. उन्होंने पंजाब के कांग्रेस सांसदों से केंद्र सरकार पर रोजाना 195 मीट्रिक टन ऑक्सीजन की आपूर्ति करने के लिए दबाव बनाने की अपील की है.

हरियाणा को पंजाब की अपेक्षा अधिक ऑक्सीजन कोटा

मुख्यमंत्री ने इस बात की तरफ इशारा किया कि भाजपा शासित पड़ोसी राज्य हरियाणा को पंजाब की अपेक्षा अधिक ऑक्सीजन कोटा और अधिक टैंकर मिल रहे हैं. इस मामले पर गंभीरता जाहिर करते हुए दोनों सदनों के संसद सदस्यों ने वादा किया कि उनके एम.पी.लैड फंड (MPLAD funds) का प्रयोग सरकारी अस्पतालों में ऑक्सीजन उत्पादन प्लांट स्थापित करने के लिए की जाए. जिससे बाहरी राज्यों पंजाब में आने वाले लोगों का भी इलाज किया जा सके.

शर्मनाक! कोरोना मरीज को गुरुग्राम से लुधियाना तक ले जाने का एंबुलेंस चालक ने वसूला 1.20 लाख किराया
कैप्टन अमरिंदर ने संसद सदस्यों को बताया कि राज्य द्वारा बार-बार अनुरोध करने और प्रधानमंत्री तथा गृह मंत्री को ऑक्सीजन कोटे में 50 मीट्रिक टन की वृद्धि करने की मांग पर गौर ही नहीं किया जा रहा है. पूरा राज्य ऑक्सीजन की कमी से जूझ रहा है. राज्य को अपनी मौजूदा जरूरतें पूरी करने के लिए 195 मीट्रिक टन का कोटा अपर्याप्त है और टैंकरों की कमी के कारण इस कोटे वाली ऑक्सीजन की भी पूरी तरह लिफ्टिंग नहीं की जा सकी है.


उन्होंने कहा कि राज्य के पास देहरादून, पानीपत और रुडक़ी की तरफ 120 मीट्रिक टन का बैकलॉग पड़ा है. उन्होंने कहा कि मौजूदा स्थिति बहुत गंभीर है और पंजाब इस समय 12 घंटों के ऑक्सीजन सप्लाई चक्र का प्रबंध कर रहा है. उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार राज्य को टीके भी मुहैया नहीं करवा रही है. मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार उपलब्धता को तेज करने के लिए केंद्र सरकार और सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया और केंद्र सरकार दोनों के साथ लगातार संपर्क बनाए हुए है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज