Home /News /punjab /

होश आया तो मैं अस्पताल में था...पढ़ें लुधियाना के कोर्ट में हुए ब्लास्ट में घायलों का दर्द

होश आया तो मैं अस्पताल में था...पढ़ें लुधियाना के कोर्ट में हुए ब्लास्ट में घायलों का दर्द

टना के बाद पंजाब सरकार ने राज्य में ‘हाई अलर्ट’ घोषित कर दिया है. घायल लोगों का इलाज़ अस्पताल में चल रहा है.

टना के बाद पंजाब सरकार ने राज्य में ‘हाई अलर्ट’ घोषित कर दिया है. घायल लोगों का इलाज़ अस्पताल में चल रहा है.

Ludhiana court complex Blast: मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने कहा है कि ये मानव बम या फिदायीन आत्मघाती हमला हो सकता है, उन्होंने कहा कि कुछ भी खारिज नहीं किया जा सकता. उन्होंने कहा कि विस्फोट स्थल पर मृत पाए गए अज्ञात व्यक्ति का डीएनए परीक्षण किया जाएगा. साथ ही सीसीटीवी फुटेज की भी जांच की जाएगी. बृहस्पतिवार को जिला अदालत परिसर में हुए विस्फोट में एक व्यक्ति की मौत हो गई और पांच अन्य घायल हो गए.

अधिक पढ़ें ...

    लुधियाना. पंजाब के लुधियाना में गुरुवार को जिला अदालत परिसर में हुए विस्फोट ( Ludhiana court complex Blast) में एक व्यक्ति की मौत हो गई और पांच अन्य घायल हो गए. इस घटना के बाद पंजाब सरकार ने राज्य में ‘हाई अलर्ट’ घोषित कर दिया है. घायल लोगों का इलाज़ अस्पताल में चल रहा है. राहत की बात ये रही कि वकीलों के हड़ताल के चलते कोर्ट परिसर में कम संख्या में लोग थे. इस बीच घायल लोगों ने बताया कि ब्लास्ट के दौरान क्या कुछ हुआ. कई लोगों को अस्पताल में होश आने के बाद ब्लास्ट के बारे में पता चला.

    अंग्रेजी अखबार इंडियन एक्सप्रेस से बातचीत करते हुए गुरप्रीत कौर के पिता अवतार सिंह ने कहा कि विस्फोट के वक्त उनकी बेटी एक मामले की सुनवाई के लिए कोर्ट गई थी. उन्होंने कहा, ‘अचानक धमाका हुआ लेकिन सौभाग्य से मौके पर मौजूद कुछ लोगों ने उसे तुरंत जीटीबी अस्पताल पहुंचाया. उसके सिर में चोट आई थी लेकिन कुछ देर बाद उसे होश आया.’ संदीप कौर ने कहा कि विस्फोट के बाद क्या हुआ इसके बारे में उन्हें कुछ भी याद नहीं है. उन्होंने कहा, ‘मुझे नहीं पता कि मैं नीचे कैसे आई. अस्पताल पहुंचने के बाद ही मुझे एहसास हुआ कि मैं जीवित हूं.’

    ‘मैं मलवे के अंदर था’
    डीएमसीएच में इलाज करा रहे एडवोकेट मंड ने कहा, ‘मैं वॉशरूम के पास से गुजर रहा था और अचानक चारों तरफ धुआं हो गया. मैं मलबे के नीचे दब गया था, अस्पताल ले जाते समय मुझे होश आया और महसूस किया कि मैं बच गया हूं. हड़ताल के चलते कोर्ट में भीड़ कम थी. मुझे मेरे साथियों ने मलबे से बाहर निकाला. अदालत परिसर में कई सारे एंट्री गेट हैं और संभवत: उनमें से एक पर सुरक्षा चूक के कारण ये विस्फोट हुआ.’

    जांच के आदेश
    मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने आशंका व्यक्त की कि विस्फोट राज्य में ‘अराजकता’ पैदा करने का प्रयास हो सकता है, जहां आने वाले समय में विधानसभा चुनाव होने है. केंद्रीय गृह मंत्रालय ने राज्य सरकार से जल्द से जल्द विस्तृत रिपोर्ट मांगी है. उसने प्रारंभिक जांच के निष्कर्षों के बारे में भी सूचित करने को कहा है. विस्फोट इतना शक्तिशाली था कि परिसर की एक दीवार क्षतिग्रस्त हो गई और परिसर में खड़े कुछ वाहनों को भी नुकसान पहुंचा है.

    Tags: Ludhiana Court, Punjab

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर