लुधियाना सिटी सेंटर घोटाला: कैप्टन अमरिंदर समेत सभी आरोपी बरी
Ludhiana News in Hindi

लुधियाना सिटी सेंटर घोटाला: कैप्टन अमरिंदर समेत सभी आरोपी बरी
पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह को लुधियाना सिटी सेंटर घोटाले में कोर्ट ने बरी कर दिया है.

सत्र न्यायाधीश गुरबीर सिंह ने राज्य सतर्कता ब्यूरो की ओर से मामले को बंद करने के लिए दाखिल रिपोर्ट को स्वीकार करते हुए सभी 31 आरोपियों को आरोप मुक्त कर दिया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 28, 2019, 2:54 PM IST
  • Share this:
लुधियाना. पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह (Captain Amarinder Singh) और अन्य को यहां की एक अदालत ने बुधवार को 1,140 करोड़ रुपये के कथित लुधियाना सिटी सेंटर घोटाला मामले में आरोप मुक्त कर दिया है. यह मामला 2002 से 2007 के बीच अमरिंदर के पहले कार्यकाल के दौरान का है.

जिला अटॉर्नी जनरल रविन्दर अबरोल ने बताया कि सत्र न्यायाधीश गुरबीर सिंह ने राज्य सतर्कता ब्यूरो की ओर से मामले को बंद करने के लिए दाखिल रिपोर्ट को स्वीकार करते हुए सभी 31 आरोपियों को आरोप मुक्त कर दिया है.

अदालत के बाहर अमरिंदर ने मीडिया से कहा, 'हम पर लगाए गए सभी आरोप खारिज कर दिए गए हैं.' इस मामले में अमरिन्दर सिंह के पुत्र रानिन्दर सिंह और दामाद रामिन्दर सिंह भी आरोपी थे. सिंह पर आरोप थे कि उन्होंने एक बड़ी परियोजना के लिए दिल्ली स्थित बिल्डर की तरफदारी की थी.



सुबूत नहीं मिलने के कारण हुए बरी
जज ने मामले में फैसला सुनाते हुए कहा कि कैप्टन अमरिंदर उनके बेटे रानिन्दर सिंह और दामाद रामिन्दर सिंह समेत अनय आरोपियों के खिलाफ इस मामले में सुबूत नहीं मिले हैं. इस वजह से मामले से जुड़े सभी आरोपियों को बरी किया जाता है. बुधवार दोपहर तीन बजे के करीब जब मुख्यमंत्री अदालत परिसर में पहुंचे तो वहां उनके समर्थकों का हुजूम लगा था. इस दौरान अदालत परिसर में सुरक्षा के इंतजाम बढ़ा दिए गए थे.

जानिए क्या था पूरा मामला
साल 2006 में कथित सिटी सेंटर घोटाला मामला सामने आया था, जिसके बाद पंजाब की राजनीति में भूचाल आ गया था. इसके घोटाले में 1144 करोड़ रुपये के हेरफेर की बात कही जा रही थी. उस समय पंजाब में कैप्टन अमरिंदर की सरकार थी. 2007 में सत्ता परिवर्तन के साथ मामवले की जांच शुरू हुई. 23 मार्च 2007 को कैप्टन अमरिंदर उनके बेटे, दामाद समेत कई लोगों खिलाफ मामला दर्द किया गया. इसके बाद दिसंबर 2007 में मामले में चार्जशीट दाखिल की गई थी.

ये भी पढ़ें - हरियाणा के खेल मंत्री संदीप सिंह ने कहा-कोच खेल पर ध्यान दें, वरना नौकरी गई समझें
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading