मुल्तानी मामला: पूर्व पुलिस प्रमुख के खिलाफ FIR में हत्या का आरोप जोड़ने की कोर्ट से मिली मंजूरी

पूर्व पुलिस प्रमुख के खिलाफ FIR में हत्या का आरोप भी जुड़ेगा

पूर्व पुलिस प्रमुख के खिलाफ FIR में हत्या का आरोप भी जुड़ेगा

न्यायिक मजिस्ट्रेट रसवीन कौर ने मोहाली में छह मई को सिंह और तीन अन्य के खिलाफ पंजाब पुलिस की एसआईटी टीम द्वारा दर्ज प्राथमिकी में सैनी के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 302 को जोड़ने की मंजूरी दे दी.

  • Share this:
मोहाली. मोहाली (Mohali) की एक अदालत ने पंजाब पुलिस (Punjab Police) को राज्य के पूर्व पुलिस प्रमुख सुमेध सिंह सैनी के खिलाफ एक व्यक्ति के लापता होने के मामले में हत्या (Murder) का आरोप जोड़ने की शुक्रवार को मंजूरी दे दी. सैनी पर चंडीगढ़ (Chandigarh) में हुए आतंकी हमले (Terrorist Attack) के बाद यह व्यक्ति 1991 में लापता हो गया था.

न्यायिक मजिस्ट्रेट रसवीन कौर ने मोहाली में छह मई को सिंह और तीन अन्य के खिलाफ पंजाब पुलिस की एसआईटी टीम द्वारा दर्ज प्राथमिकी में सैनी के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 302 को जोड़ने की मंजूरी दे दी. इसके अलावा अदालत ने आरोपियों को गिरफ्तारी से पहले तीन दिन का नोटिस भी देने को कहा है.

इसे भी पढ़ें :- दिल्ली के धौलाकुआं में एनकाउंटर, संदिग्ध ISIS आतंकी गिरफ्तार



सैनी मार्च 2012 में पुलिस महानिदेशक नियुक्त हुए थे. सैनी के खिलाफ बलवंत सिंह मुल्तानी नामक व्यक्ति के लापता होने के मामले में छह मई को प्राथमिकी दर्ज हुई थी. मुल्तानी 1991 में चंडीगढ़ औद्योगिक एवं पर्यटन निगम में कनिष्ठ अभियंता थे. मुल्तानी मोहाली के रहनेवाले थे. उन्हें 1991 में सैनी पर चंडीगढ़ के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक रहने के दौरान हुए आतंकी हमले के बाद पुलिस ने पकड़ा था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज