पंडित नेहरू के साथ पिता की तस्वीर ट्वीट कर नवजोत सिंह सिद्धू बोले- जीतेगा पंजाब

नवजोत सिंह सिद्धू को पंजाब कांग्रेस का अध्‍यक्ष बनाया गया है. (File pic)

Punjab Congress के अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू (Navjot Sidhu) ने कहा वह एक पार्टी कार्यकर्ता की तरह कांग्रेस परिवार के मिशन 'जीतेगा पंजाब' के लिए काम करेंगे.

  • Share this:
    चंडीगढ़. पंजाब (Punjab) की कांग्रेस (Congress) इकाई का अध्यक्ष नियुक्त किए जाने के बाद पार्टी नेता नवजोत सिंह सिद्धू (Navjot Singh Sidhu) ने कहा कि वह सबको साथ लेकर चलेंगे. उन्होंने कहा कि वह एक पार्टी कार्यकर्ता की तरह कांग्रेस परिवार के मिशन 'जीतेगा पंजाब' के लिए काम करेंगे. उन्होंने कांग्रेस आलाकमान के प्रति आभार भी जताया. सिद्धू ने अपने पिता के साथ प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू की तस्वीर ट्वीट करते हुए लिखा - 'स्वतंत्रता के लिए मेरे पिता ने शाही घराने को छोड़ दिया और स्वतंत्रता संग्राम में शामिल हो गए. उनकी देशभक्ति के लिए उन्हें मौत की सजा सुनाई गई. इसके बाद किंग्स एमनेस्टी से राहत मिली. फिर वह डीसीसी अध्यक्ष, विधायक, एमएलसी, महाधिवक्ता बने.'

    सिद्धू ने कहा- 'आज उसी सपने को पूरा करने और कांग्रेस के अजेय किले को मजबूत करने के लिए आगे काम करना है. मैं कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, राहुल गांधी और प्रियंका गांधी का आभारी हूं कि उन्होंने मुझ पर विश्वास किया और मुझे यह महत्वपूर्ण जिम्मेदारी दी.'

    सिद्धू ने कहा- 'पंजाब मॉडल और हाईकमान के 18 सूत्रीय एजेंडा के माध्यम से लोगों की शक्ति वापस लोगों को दिलाने के लिए एक विनम्र कांग्रेस कार्यकर्ता के रूप में 'जीतेगा पंजाब' के मिशन को पूरा करने के लिए पंजाब में कांग्रेस परिवार के हर सदस्य के साथ काम करेंगे ... मेरी यात्रा अभी शुरू हुई है!!'



    कड़ी आपत्ति के बावजूद सिद्धू नियुक्त
    कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने रविवार को नवजोत सिंह सिद्धू को पार्टी की पंजाब इकाई का नया अध्यक्ष नियुक्त किया. गांधी ने राज्य के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह की कड़ी आपत्ति के बावजूद यह फैसला लिया. गांधी ने अगले विधानसभा चुनाव को ध्यान में रखते हुए सिद्धू की सहायता के लिए चार कार्यकारी अध्यक्षों की भी नियुक्ति की है. ये नियुक्तियां पार्टी में आंतरिक कलह के बाद हुईं हैं, जिससे पार्टी की प्रदेश इकाई सिंह और सिद्धू के प्रति निष्ठा रखने वाले गुटों में विभाजित हो गई. पंजाब इकाई के नये कार्यकारी अध्यक्ष हैं... संगत सिंह गिलजियां, सुखविंदर सिंह डैनी, पवन गोयल, कुलजीत सिंह नागरा. ये सभी विभिन्न क्षेत्रों एवं जातियों का प्रतिनिधित्व करते हैं.

    पार्टी द्वारा जारी बयान के अनुसार, ‘कांग्रेस अध्यक्ष ने नवजोत सिंह सिद्धू को तत्काल प्रभाव से पंजाब प्रदेश कांग्रेस समिति का अध्यक्ष नियुक्त किया है.’ बयान में कहा गया है, ‘पार्टी प्रदेश कांग्रेस समिति के निवर्तमान अध्यक्ष सुनील जाखड़ के योगदान की सराहना करती है.’ कांग्रेस के सिक्किम, नगालैंड और त्रिपुरा मामलों के प्रभारी नागरा को उनकी मौजूदा जिम्मेदारियों से मुक्त कर दिया गया है. पंजाब में 2017 के पिछले विधानसभा चुनाव से पहले भाजपा से कांग्रेस में शामिल हुए सिद्धू ने पिछले कुछ दिनों में समर्थन जुटाने के अपने प्रयास तेज कर दिये हैं और कई विधायकों और नेताओं से मुलाकात की है.

    सिद्धू के सामने पार्टी में एकजुटता लाने की चुनौती
    इस फैसले के साथ ही पार्टी नेतृत्व ने अमरिंदर सिंह के विरोध की अनदेखी करते हुए सिद्धू का समर्थन करने का स्पष्ट संकेत दे दिया है. पार्टी नेतृत्व को लगता है कि सिद्धू नई ऊर्जा और उत्साह के साथ पार्टी के प्रचार अभियान का नेतृत्व कर सकते हैं और अगले साल की शुरुआत में होने वाले आगामी विधानसभा चुनावों में पार्टी की जीत सुनिश्चित करने में मदद कर सकते हैं.

    सिद्धू की भीड़ आकर्षित करने और जोरदार प्रचार अभियान शुरू करने की क्षमता ने उनके पक्ष में काम किया है, क्योंकि पार्टी को लगता है कि सत्ता में साढ़े चार साल के बाद पार्टी पदाधिकारियों में आयी सुस्ती को दूर करके उनमें नई ऊर्जा का संचार करना आवश्यक है. राहुल गांधी और प्रियंका गांधी वाद्रा के समर्थन ने भी सिद्धू को कड़े प्रतिरोध के बावजूद यह पद हासिल करने में मदद की है. क्रिकेटर से नेता बने सिद्धू के सामने अब पार्टी को एकजुट करने और पुराने नेताओं और दिग्गजों का विश्वास जीतने के अलावा पार्टी में एकजुटता लाने की चुनौती है.

    समझा जाता है कि मुख्यमंत्री सिंह ने सोनिया गांधी से कहा था कि वह सिद्धू से तब तक नहीं मिलेंगे जब तक कि वह हाल के दिनों में उनके ऊपर किये गए अपने हमलों के लिए सार्वजनिक रूप से माफी नहीं मांग लेते. पार्टी के वरिष्ठ नेताओं द्वारा विधानसभा चुनाव से पहले पार्टी को एकजुट करने का आह्वान किया जा रहा है, नहीं तो आप तथा अकाली दल-बसपा गठबंधन इसे पछाड़ सकते हैं.
    पार्टी के पंजाब मामलों के प्रभारी एवं कांग्रेस महासचिव हरीश रावत ने सिद्धू और चार कार्यकारी अध्यक्षों को बधाई दी. उन्होंने पंजाब में नई टीम को मंजूरी देने के लिए कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी का आभार व्यक्त किया.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.