Home /News /punjab /

NRI बहन के आरोपों पर नवजोत सिद्धू बोले, लोग सियासत के लिए मां को कब्र से निकाल लाए

NRI बहन के आरोपों पर नवजोत सिद्धू बोले, लोग सियासत के लिए मां को कब्र से निकाल लाए

पंजाब कांग्रेस समिति के अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू. (फ़ाइल फोटो)

पंजाब कांग्रेस समिति के अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू. (फ़ाइल फोटो)

Navjot Singh Sidhu News: नवजोत सिंह सिद्धू की NRI बड़ी बहन सुमन तूर ने आरोप लगाते हुए दावा किया था कि सिद्धू बहुत ही अत्याचारी हैं और उन्होंने पिता भगवंत सिद्धू की मौत के बाद अपनी मां निर्मल महाजन उर्फ निर्मल भगवंत को 1986 में घर से निकाल दिया था. उन्होंने आरोप लगाया कि यह सब सिद्धू ने पुश्तैनी जायदाद को हथियाने के लिए किया.

अधिक पढ़ें ...

चंडीगढ़. कांग्रेस के अध्यक्ष नवजोत सिंह (Congress President Navjot Singh) पर उनकी NRI बहन द्वारा लगाए गए मां को घर से बाहर निकालने के आरोपों को लेकर उन्होंने (सिद्धू) ने शनिवार को अपनी चुप्पी तोड़ी है. उन्होंने अपना नामांकन (Nomination) भरने के बाद पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा कि कुछ लोग सियासत (Politics) के लिए मेरी मां को कब्र (Grave) से निकाल कर ले आए हैं. उन्होंने कहा कि नवजोत सिंह सिद्धू कभी इतना नहीं गिरा और न ही सिद्धू अपनी मां को इस कीचड़ में गिराएगा. कीचड़ को धोने की अपेक्षा से नवजोत सिद्धू कीचड़ से बहुत दूर रहा है.

बीते शुक्रवार को उनकी NRI बड़ी बहन सुमन तूर (NRI Elder Sister Suman Toor) ने आरोप लगाते हुए दावा किया कि सिद्धू बहुत ही अत्याचारी हैं और सिद्धू ने पिता भगवंत सिद्धू की मौत के बाद अपनी मां निर्मल महाजन उर्फ निर्मल भगवंत को 1986 में घर से निकाल दिया था.

सुमन तूर ने सिद्धू पर लगाए गंभीर आरोप
उन्होंने आरोप लगाया कि यह सब सिद्धू ने पुश्तैनी जायदाद को हथियाने के लिए किया. सुमन तूर ने कहा कि सिद्धू ने 1987 में मीडिया को दिए एक इंटरव्यू में कहा था कि जब वह दो साल के थे तो उनके माता-पिता अलग हो गए थे. जिसके बाद उनका माता और बहनों के साथ कोई राफ्ता नहीं रहा.

तूर ने कहा, मेरा वॉट्सऐप नंबर भी सिद्धू ने ब्लॉक कर रखा है
तूर ने बताया कि जब उनके पिता की मृत्यु के बाद उनका भोग हुआ तो सिद्धू ने मां के साथ उन्हें घर से बाहर निकाल दिया था. यह सब उन्होंने जायदाद के लिए किया. तूर ने कहा कि वह सिद्धू को मिलने के लिए 20 जनवरी को उनके घर गई तो उनके लिए दरवाजा तक नहीं खोला गया. उनका वॉट्सऐप नंबर भी सिद्धू ने ब्लॉक कर रखा है.

नामांकन भरने के बाद उन्होंने कहा कि मजीठिया में इतना ही दम है और लोगों पर विश्वास है तो मजीठा को छोड़कर केवल अमृतसर पूर्व से ही एक सीट से चुनाव लड़े. मजीठिया को उनके निर्वाचन क्षेत्र से मैदान में उतारने वाले अकालियों पर निशाना साधते हुए सिद्धू ने कहा, “वे केवल लूट का खेल खेलने आए हैं. लेकिन इस ‘धर्म युद्ध’ में वे सफल नहीं होंगे क्योंकि जहां ‘धर्म’ है वहां जीत है.”

Tags: Assembly elections, Congress, Navjot singh sidhu, Punjab elections

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर