Home /News /punjab /

navjot singh sidhu tweet congress should not loose sunil jakhar is an asset

'पंजाब कांग्रेस के लिए सुनील जाखड़ सोने जितने कीमती', इस्तीफा वापस लेने के लिए सिद्धू ने की ये अपील

नवजोत सिंह सिद्धू और सुनील जाखड़ (File Photo)

नवजोत सिंह सिद्धू और सुनील जाखड़ (File Photo)

Sunil Jakhar:  पंजाब के कद्दावर नेता सुनील जाखड़ के पार्टी छोड़ने का ऐलान कांग्रेस के लिए एक बड़ा झटका है. पंजाब प्रदेश कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू अब सुनील जाखड़ को मनाने में जुट गए हैं. नवजोत सिंह सिद्धू ने ट्वीट करते हुए सुनील जाखड़ को कांग्रेस की बड़ी संपत्ति बताया और कहा कि कांग्रेस को सुनील जाखड़ को नहीं खोना चाहिए. वह पार्टी की एक बड़ी संपत्ति है..किसी तरह के मतभेद को बैठकर हल किया जा सकता है.

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्ली: उदयपुर में जारी चिंतन शिविर के बीच पंजाब के कद्दावर नेता सुनील जाखड़ (Sunil Jakhar Resign) के पार्टी छोड़ने का ऐलान कांग्रेस के लिए एक बड़ा झटका है. पंजाब प्रदेश कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू (Navjot Singh Sidhu) अब सुनील जाखड़ को मनाने में जुट गए हैं. उन्होंने अपील करते हुए कहा कि, मतभेद चाहे कैसे भी हों उन्हें बातचीत से हल किया जा सकता है.

नवजोत सिंह सिद्धू ने ट्वीट करते हुए सुनील जाखड़ को कांग्रेस की बड़ी संपत्ति बताया और कहा कि कांग्रेस को सुनील जाखड़ को नहीं खोना चाहिए. वह पार्टी की एक बड़ी संपत्ति है..किसी तरह के मतभेद को बैठकर हल किया जा सकता है.

Image- Twitter

इससे पहले सुनील जाखड़ ने आज पार्टी को बड़ा झटका देते हुए फेसबुक लाइव के दौरान कांग्रेस से इस्तीफा दे दिया. पंजाब प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष रह चुके सुनील जाखड़ ने कहा कि, यह मेरी पार्टी को विदाई का तोहफा है… शुभकामनाएं और अलविदा कांग्रेस.

सुनील जाखड़ ने कहा कि, दिल्ली में बैठे कांग्रेस नेताओं ने पंजाब में कांग्रेस को बर्बाद कर दिया. उन्होंने विधानसभा चुनाव में सबसे खराब प्रदर्शन के लिए अंबिका सोनी के हिन्दू मुख्यमंत्री होने वाले बयान को जिम्मेदार ठहराया. हालाँकि, सुनील जाखड़ ने राहुल गांधी की तारीफ की और उनसे पार्टी का नियंत्रण फिर से लेने हाथ में लेने की अपील की. साथ ही खुद को चाटुकारों से दूर रहने को कहा है.

पंजाब: सुनील जाखड़ ने पहले ही लिख दी थी कांग्रेस छोड़ने की पटकथा, ये थी मुख्य वजह

पिछले साल कैप्टन अमरिंदर सिंह के सीएम पद और पार्टी छोड़ने के बाद जाखड़ पंजाब के मुख्यमंत्री के लिए सबसे आगे थे. हालांकि अंबिका सोनी, जिन्हें पद की पेशकश की गई थी उन्होंने चरणजीत सिंह चन्नी को चुना और सुझाव दिया कि एक सिख चेहरा सीएम होना चाहिए.

बता दें कि कांग्रेस उदयपुर में 13 से 15 मई तक चिंतन शिविर का आयोजन कर रही है. जिसका मुख्य एजेंडा पार्टी में नई जान फूंकने का है ताकि पार्टी को फिर से खड़ा किया जा सके. लेकिन इस बीच किसी कद्दावर नेता का इस्तीफा पार्टी नेताओं के मनोबल को तोड़ सकता है.

Tags: Congress, Navjot singh sidhu, Rahul gandhi, Sunil Jakhar

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर