पंजाब: शौर्य चक्र विजेता मर्डर केस में NIA ने KLF के 8 आतंकियों के खिलाफ दायर की चार्जशीट

शौर्य चक्र विजेता बलविंदर सिंह संधू.

शौर्य चक्र विजेता बलविंदर सिंह संधू.

Balwinder Singh Sandhu Murder: बीते साल अक्टूबर में आतंकियों (Militants) ने शौर्य चक्र विजेता बलविंदर सिंह संधू की भिखीविंड में घर में घुसकर गोली मारकर हत्या कर दी थी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 28, 2021, 10:18 PM IST
  • Share this:
चडीगढ़. राष्ट्रीय जांच एजेंसी (National Investigation Agency NIA) ने अमृतसर में तरनतारन जिला के शौर्य चक्र विजेता (Shaurya Chakra winner) कॉमरेड बलविंदर सिंह संधू (Comrade Balwinder Singh Sandhu) की हत्या के मामले में आरोप पत्र दाखिल कर दिया है. मोहाली के स्पेशल कोर्ट में खालिस्तान लिबरेशन फोर्स (Khalistan Liberation Force KLF) के आठ आतंकियों को हत्या का जिम्मेदार ठहराया गया है.

क्या है मामला

गौरतलब है कि बीते साल अक्टूबर में आतंकियों (Militants) ने शौर्य चक्र विजेता बलविंदर सिंह संधू की भिखीविंड में घर में घुसकर गोली मारकर हत्या कर दी थी. पंजाब पुलिस ने इस मामले में आर्म्स एक्ट (Arms Act) और हत्या (Murder) का केस दर्ज किया था. इस घटना को लेकर पूरे पंजाब में काफी बवाल मचा था जिसके बाद मामले की जांच NIA को सौंपने की मांग उठी थी. घटना में आतंकियों के शामिल होने के अंदेशे से मामले को NIA को सौंप दिया गया था. एजेंसी ने पुलिस से केस लेकर इस साल जनवरी में अपने तरीके से कार्रवाई शुरू की थी. जांच एजेंसी ने पाया था कि कॉमरेड बलविंदर सिंह संधू की हत्या खालिस्तानी आतंकियों ने पंजाब में आतंक का माहौल कायम करने के मकसद से की थी. इसमें KLF के चीफ लखवीर सिंह रोडे का नाम सामने आया था. विदेश में बैठे KLF आतंकवादी ने आरोपियों को हथियार, गोला बारूद और फंड मुहैया करवाए थे.

Youtube Video

वारदात को अंजाम देने के लिए गैंगस्टर किए थे हायर

घटना को अंजाम देने के लिए स्थानीय गैंगस्टर सुख भिखारीवाल को पैसे और हथियार मुहैया करवाए गए थे. आरोप पत्र में कहा गया है कि इंदरजीत सिंह व शार्प शूटर गुरजीत सिंह और सुखप्रीत सिंह भूरा को संधू को मारने के लिए कहा गया था. घटना को अंजाम देने के बाद दोनों आरोपियों ने गुरदासपुर जिले के दो गांवों में पनाह ली थी. इनमें से एक आरोपी की पुलिस ने शिनाख्त भी कर ली थी. आरोपियों में सुखराज सिंह सुक्खा (लखनपाल, गुरदासपुर), रविंदर सिंह रवि (हुसैनपुरा, लुधियाना), अकाशदीप अरोड़ा (सलेम टाबरी, लुधियाना), जगरूप सिंह (सुभाष नगर बस्ती जोधेवाल, लुधियाना), सुखदीप सिंह भूरा (खड़ाल, गुरदासपुर), गुरजीत सिंह भाऊ (लखनपुर, गुरदासपुर), इंदरजीत सिंह इंदर (रशियाना, तरनतारन) और सुख भिखारीवाल (भिखारीवाल, गुरदासपुर) शामिल हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज