NSUI ने सिद्धू के विधानसभा क्षेत्र में लगाए होर्डिंग, लिखा है- कैप्टन तो एक ही होता है

एनएसयूआई के प्रदेशाध्यक्ष अक्षय शर्मा ने सीएम कैप्टन के सपोर्ट में खड़े होकर अमृतसर समेत बाकी जगह पर होर्डिंग लगाने शुरू किए हैं.

एनएसयूआई के प्रदेशाध्यक्ष अक्षय शर्मा ने सीएम कैप्टन के सपोर्ट में खड़े होकर अमृतसर समेत बाकी जगह पर होर्डिंग लगाने शुरू किए हैं.

Punjab Congress Dispute: कैप्टन और सिद्धू कि लड़ाई के ही दौरान उनके विधानसभा क्षेत्र पूर्वी अमृतसर (Amritsar) में उनके गुमशुदगी के पोस्टर भी दीवारों पर नजर आ रहे हैं. पोस्टरों पर गुमशुदा की तलाश लिखा है.

  • Share this:

चंड़ीगढ़. मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह (Captain Amarinder Singh) और पूर्व मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू (Navjot Singh Sidhu) के बीच चल रहे घमासान में अब एनएसयूआई भी कूद गई है. एनएसयूआई (NSUI) ने कैप्टन के पक्ष में अपना पूरा अमला उतार दिया है. संगठन के नेताओं और कार्यकर्ताओं ने सिद्धू के विधानसभा क्षेत्र पूर्वी अमृतसर में कैप्टन के बड़े-बड़े होर्डिंग लगाने शुरू कर दिए हैं. इन पर पंजाबी में लिखा है कैप्टन इक ही हूंदा ए मतलब कैप्टन एक ही होता है.

साथ ही होर्डिंग में 2022 के चुनावों का संकेत देते हुए यह भी लिखा है कि कैप्टन फॉर 2022. एनएसयूआई के प्रदेशाध्यक्ष अक्षय शर्मा ने सीएम कैप्टन के सपोर्ट में खड़े होकर अमृतसर समेत बाकी जगह पर होर्डिंग लगाने शुरू किए हैं. एनएसयू प्रदेशाध्यक्ष का कहना है कि ये होर्डिंग्स पूरे प्रदेश में लगाए जाएंगे. अभी तक यह कांग्रेस भवन चंडीगढ़ के बाहर, लुधियाना, बठिंडा, पठानकोट, अमृतसर के भंडारी पुल पर लगाए गए हैं.

उन्होंने कहा कि एनएसयूआई कैप्टन सरकार की उपलब्धियां गिनाने के लिए जनता के बीच जाएगी. गौरतलब है कि कैप्टन और सिद्धू कि लड़ाई के ही दौरान उनके विधानसभा क्षेत्र पूर्वी अमृतसर में उनके गुमशुदगी के पोस्टर भी दीवारों पर नजर आ रहे हैं. पोस्टरों पर गुमशुदा की तलाश लिखा है. इन पोस्टर्स पर इसके साथ ही लिखा है कि ढूंढने वाले को 50 हजार रुपए इनाम दिए जाएंगे. इस तरह के करीब 250 से ज्यादा पोस्टर दीवारों पर लगे हुए हैं.


यह पहली बार नहीं हुआ है इससे पहले जब वह सांसद थे तब भी इस तरह के पोस्टर दीवारों पर नजर आए थे. ये पोस्टर जौड़ा फाटक के नजदीक शहीद बाबा दीप सिंह जी सेवा सोसायटी के अध्यक्ष अनिल वशिष्ठ और उसके सदस्यों ने लगाए हैं. उनका आरोप है कि नवजोत सिंह सिद्धू विधानसभा क्षेत्र से नदारद रहते हैं. वशिष्‍ठ ने कहा कि जौड़ा फाटक रेल हादसे में कई लोगों की मौत के बाद सिद्धू इस क्षेत्र को गोद लेने का वादा किया था. मृतकों के बच्चों को आसरा देने का भी सिद्धू ने वादा किया था.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज