Home /News /punjab /

पाकिस्‍तानी पत्रकार अरूसा आलम बोलीं- मैं पंजाब कांग्रेस के नेताओं से निराश, अब नहीं आऊंगी भारत

पाकिस्‍तानी पत्रकार अरूसा आलम बोलीं- मैं पंजाब कांग्रेस के नेताओं से निराश, अब नहीं आऊंगी भारत

पाकिस्‍तान की पत्रकार हैं अरूसा आलम. (File pic)

पाकिस्‍तान की पत्रकार हैं अरूसा आलम. (File pic)

अरूसा आलम (Aroosa Alam) ने कहा है कि पंजाब में कांग्रेस अपनी जमीन खो चुकी है. भला युद्ध के बीच में अपने सेनापति को कौन बदलता है?

    चंडीगढ़. पंजाब (Punjab) के पूर्व मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह (Amarinder Singh) और कांग्रेस नेताओं में तनातनी के बीच फंसी पाकिस्तान (Pakistan) की पत्रकार अरूसा आलम (Aroosa Alam) ने मामले में प्रतिक्रिया दी है. उन्‍होंने कहा है कि वह पंजाब कांग्रेस (Punjab Congress) के नेताओं से बेहद निराश हैं और कभी वापस भारत नहीं आएंगी क्योंकि वह दुखी हैं.

    पिछले हफ्ते पंजाब के उप मुख्यमंत्री सुखजिंदर सिंह रंधावा ने कहा था कि पाकिस्‍तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई के साथ अरूसा आलम के कथित लिंक की जांच की जाएगी. अमरिंदर सिंह ने इस मामले में पलटवार किया था और उनकी ओर से उनके मीडिया सलाहकार रवीन ठुकराल द्वारा पोस्ट किए गए ट्वीट्स में कहा था कि आलम भारत सरकार की उचित मंजूरी के साथ 16 साल से आ रही थीं.

    इंडियन एक्‍सप्रेस की रिपोर्ट के अनुसार अरूसा आलम ने कहा, ‘मुझे विश्वास नहीं हो रहा है कि वे इतना नीचे गिर सकते हैं. सुखजिंदर रंधावा, पंजाब कांग्रेस प्रमुख नवजोत सिंह सिद्धू और उनकी पत्नी नवजोत कौर सिद्धू लकड़बग्घा हैं. वे कैप्टन को शर्मिंदा करने के लिए मेरा इस्तेमाल करने की कोशिश कर रहे हैं. मैं उनसे पूछना चाहती हूं कि क्या वे इतने दिवालिया हैं कि उन्हें अपने राजनीतिक उद्देश्यों के लिए मुझे बुलाना पड़ रहा है.’

    उन्होंने विधानसभा चुनाव से कुछ महीने पहले अमरिंदर सिंह को मुख्यमंत्री पद से हटाने का जिक्र करते हुए कहा, ‘मेरे पास उनके लिए एक संदेश है कि कृपया बड़े हो जाओ और अपने घर को व्यवस्थित करो. पंजाब में कांग्रेस अपनी जमीन खो चुकी है. युद्ध के बीच में अपने सेनापति को कौन बदलता है?’ अरूसा ने आगे कहा, ‘अब कृपया अपनी लड़ाई अपने दम पर लड़ें, आप मुझे इस पंजाब कांग्रेस और सरकार के झमेले में क्यों घसीट रहे हैं? अब जब उन्होंने मुझे इसमें घसीटा है, तो मैं केवल ‘आपके बंदर, आपका सर्कस’ कह सकती हूं.’

    कथित आईएसआई लिंक संबंधी रंधावा की टिप्पणी पर अरूसा ने कहा, ‘मैं दो दशकों से 16 साल से कैप्टन के निमंत्रण पर और उससे पहले एक पत्रकार के रूप में और प्रतिनिधिमंडल के हिस्से के रूप में भारत आ रही हूं. क्या वे अचानक मेरे ऐसे लिंक के लिए जाग गए हैं? जब कोई पाकिस्तान से भारत आता है, तो उसे मंजूरी की एक बोझिल प्रक्रिया से गुजरना पड़ता है. किसी भी प्रक्रिया को दरकिनार नहीं किया गया. उचित स्क्रीनिंग की गई. रॉ, आईबी, केंद्रीय गृह मंत्रालय, विदेश मंत्रालय और रॉ से ली जानी थी. वे वीजा फॉर्म को ऑनलाइन भरने की अनुमति भी नहीं देते हैं. उन्हें लगता है कि सभी एजेंसियां ​​मुझे ऐसे ही अनुमति दे रही थीं?’

    उन्होंने कहा, ‘मैं इन सभी लोगों से पूछना चाहती हूं कि क्या उन्हें लगता है कि यूपीए और एनडीए सरकारें सक्षत नहीं थीं कि वे एक आईएसआई एजेंट को वीजा दे रहे थे? उन्हें कुछ समझदारी से बात करने के लिए कहें. वे मुझे पूरे विवाद में घसीटकर कैप्टन को शर्मिंदा करना चाहते थे. उन्होंने महसूस किया कि वह अपनी पार्टी बना रहे हैं और अपने सभी अवसरों को खत्म कर रहे हैं. मैंने अमरिंदर सिंह को भारत के विभिन्न नेताओं की तस्वीरें भेजीं, जिनसे मैं अपने जीवन में कैप्टन से मिलने से पहले मिली थी. मुझे कहना होगा कि यह पंजाब की राजनीति में सबसे निचला स्तर है.’

    Tags: Amarinder Singh, Aroosa Alam, Congress, Punjab

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर