Covid वॉर्ड में तैनात डॉक्टर पर यौन शोषण करने का आरोप, महिला स्टाफ ने की पिटाई
Punjab News in Hindi

Covid वॉर्ड में तैनात डॉक्टर पर यौन शोषण करने का आरोप, महिला स्टाफ ने की पिटाई
पीड़िता पंजाब के एक गांव की रहने वाली है. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

पंचकूला (Panchkula) स्थित एक अस्पताल के कोविड वार्ड में तैनात डॉक्टर और महिला नर्सों के बीच मारपीट का मामला सामने आया है.

  • Share this:
चंडीगढ़. हरियाणा स्थित पंचकूला (Panchkula) में एक डॉक्टर और महिला नर्सों के बीच मारपीट का मामला सामने आया है. एक महिला नर्स ने आरोप लगाया है कि डॉक्टर ने 11 और 12 जुलाई की दरम्यानी रात डॉक्टर ने उसका यौन शोषण किया था. मार पीट की घटना उस वक्त हुई जब डॉक्टर खुद पर लगे आरोपों के संबंध में बनाई गई जांच कमेटी के समक्ष पेश होकर वापस लौट रहा था. पुलिस ने बताया कि कोरोना वायरस आइसोलेशन वार्ड में तैनात नर्स का आरोप है कि डॉक्टर ने दो दिन पहले नशे की हालत में उसके साथ यौन दुर्व्यवहार किया था.

अधिकारियों के अनुसार नर्स ने अस्पताल के अधिकारियों से शिकायत की, जिसके आधार पर आंतरिक जांच शुरू की गई, जो अभी चल रही है. डॉक्टर की पिटाई करतीं नर्सों का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया. वीडियो में दिखता है कि नर्स नारेबाजी करती हुईं डॉक्टर के कक्ष में घुसती हैं और उस पर मुक्के बरसा देती हैं.

पंचकूला पुलिस ने कहा- हमने दर्ज कर लिया है मामला
इसके बाद पुलिस आती है और नर्सों का गुस्सा शांत करने की कोशिश करती है. पुलिस ने कहा, 'हमें जानकारी मिली कि नर्स नारे लगा रही हैं और एक डॉक्टर की पिटाई कर रही हैं. अस्पताल के अधिकारियों ने हमें बताया कि उन्होंने जांच शुरू की है. एक नर्स ने डॉक्टर के खिलाफ यौन उत्पीड़न के आरोप लगाए हैं और हमने उसकी शिकायत के आधार पर मामला दर्ज किया है.'
पंचकूला की मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. जसजीत कौर ने बताया कि यौन दुर्व्यवहार के मामलों पर गठित अस्पताल की आंतरिक समिति मामले की जांच कर रही है. अंग्रेजी अखबार इंडियन एक्सप्रेस के अनुसार  इसी अस्पताल के डॉक्टरों ने कहा कि आरोपी का भागना संदिग्ध लगा.



आखिर ऊपर क्यों आया आरोपी डॉक्टर?
कोविड वॉर्ड में ड्यूटी कर चुके एक डॉक्टर ने बताया है कि ' सामान्य नियम यह है कि एक डॉक्टर रात 9 बजे राउंड के लिए जाता है और फिर डॉक्टरों के ड्यूटी रूम में नीचे चला जाता है. वह केवल तभी ऊपर आता है जब कोई ऐसा मामला हो जिस पर ध्यान देने की आवश्यकता हो या इमरजेंसी हो. नहीं तो डॉक्टर फिर मॉर्निंग राउंड के लिए आता है. मुझे नहीं पता कि ऐसा क्या हुआ कि उसे वापस आना पड़ा.'

एक अन्य डॉक्टर ने भी घटना को अस्पताल की छवि पर एक 'धब्बा' बताते हुए कहा-'कथित घटना अस्पताल के लिए शर्मनाक है. हमें इसे महिलाओं के लिए सुरक्षित जगह बनाना है. बता दें 21 वर्षीय पीड़िता पंजाब के एक गाँव से आती है और शहर के ही एक पीजी में रहती है. (भाषा इनपुट के साथ)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading