अमृतसर में लगे 'Missing' नवजोत सिंह सिद्धू के पोस्‍टर, लिखा- ढूंढ़ने पर 50 हजार का इनाम

इस तरह के करीब 250 से ज्यादा पोस्टर दीवारों पर लगे हुए हैं.

इस तरह के करीब 250 से ज्यादा पोस्टर दीवारों पर लगे हुए हैं.

नवजोत सिंह सिद्धू के विधानसभा क्षेत्र पूर्वी अमृतसर (East Amritsar) में उनके गुमशुदगी के पोस्टर (Posters) दीवारों पर नजर आ रहे हैं. पोस्टरों पर गुमशुदा की तलाश लिखा है. इन पोस्टर्स पर इसके साथ ही लिखा है कि ढूंढने वाले को 50 हजार रुपए इनाम दिए जाएंगे.

  • Share this:

चंडीगढ़. पंजाब के पूर्व मंत्री व फायर ब्रांड नेता नवजोत सिंह सिद्धू (Former Punjab minister Navjot Singh Sidhu) आजकल जहां दिल्ली में पंजाबियों की आवाज बुलंद करने पहुंचे हुए थे, वहीं उनके ही विधानसभा क्षेत्र पूर्वी अमृतसर (East Amritsar) में उनके गुमशुदगी के पोस्टर (Posters) दीवारों पर नजर आ रहे हैं. पोस्टरों पर गुमशुदा की तलाश लिखा है.

इन पोस्टर्स पर इसके साथ ही लिखा है कि ढूंढने वाले को 50 हजार रुपए इनाम दिए जाएंगे. इस तरह के करीब 250 से ज्यादा पोस्टर दीवारों पर लगे हुए हैं. यह पहली बार नहीं हुआ है इससे पहले जब वह सांसद थे तब भी इस तरह के पोस्टर दीवारों पर नजर आए थे.

किसने लगाए हैं पोस्टर

ये पोस्टर जौड़ा फाटक के नजदीक शहीद बाबा दीप सिंह जी सेवा सोसायटी (Shaheed Baba Deep Singh Ji Seva Society) के अध्यक्ष अनिल वशिष्ठ और उसके सदस्‍यों ने लगाए हैं. उनका आरोप है कि नवजोत सिंह सिद्धू विधानसभा क्षेत्र से नदारद रहते हैं. वशिष्‍ठ ने कहा कि जौड़ा फाटक रेल हादसे में कई लोगों की मौत के बाद सिद्धू इस क्षेत्र को गोद लेने का वादा किया था. मृतको के बच्चों को आसरा देने का भी सिद्धू ने वादा किया था. उन्होंने कहा कि सिद्धू ने इन परिवारों की वादे के मुताबिक कोई मदद नहीं की.
गौरतलब है कि नवजोत सिंह सिद्धू का आजकल राज्य के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह (Chief Minister Captain Amarinder singh) के साथ 36 का आंकड़ा चल रहा है. उन्होंने लंबे समय से अपनी ही सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल रखा है. बीते मंगलवार को वह दिल्ली हाईकमान के पास कैप्टन के खिलाफ अपना विरोध दर्ज करवाने भी पहुंचे थे. इसी बीच उनके क्षेत्र में यह पोस्टर भी नजर आने लगे हैं.


सूत्रों के मुताबिक बैठक में मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के प्रति बीते दिनों की तरह ही तेवर गर्म थे. मीटिंग के बाद मीडिया से रूबरू होते हुए सिद्धू ने बताया था कि उन्होंने कांग्रेस आलाकमान को सारी स्थिति स्पष्ट कर दी है. उन्होंने कहा था कि वे सच के साथ और उनका मकसद विरोधी ताकतों को हराना है. उन्होंने कहा था कि कांग्रेस आला कमान को उन्होंने ग्राउंड रियलिटी (Ground realty) से वाकिफ करवा दिया है और पंजाब के लोगों की आवाज कमेटी के सामने रख दी है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज