• Home
  • »
  • News
  • »
  • punjab
  • »
  • पंजाब में 13 अक्टूबर तक होगी 3 घंटे की बिजली कटौती, सुखबीर सिंह बादल ने बोला कांग्रेस सरकार पर हमला

पंजाब में 13 अक्टूबर तक होगी 3 घंटे की बिजली कटौती, सुखबीर सिंह बादल ने बोला कांग्रेस सरकार पर हमला

शिरोमणि अकाली दल (शिअद) के अध्यक्ष सुखबीर सिंह बादल. (फाइल फोटो)

शिरोमणि अकाली दल (शिअद) के अध्यक्ष सुखबीर सिंह बादल. (फाइल फोटो)

Punjab Power Cut: अधिकारियों ने कहा कि कोयले के भंडार में कमी के कारण, कोयले से चलने वाले बिजली संयंत्र अपनी उत्पादन क्षमता के 50 प्रतिशत से भी कम पर काम कर रहे हैं.

  • Share this:

    चंडीगढ़. पंजाब में बिजली आपूर्ति की स्थिति गंभीर बनी हुई है और राज्य के स्वामित्व वाली पीएसपीसीएल ने रविवार को कहा कि राज्य में 13 अक्टूबर तक रोजाना तीन घंटे तक बिजली कटौती की जाएगी. इस बीच, शिरोमणि अकाली दल (शिअद) के प्रमुख सुखबीर सिंह बादल ने वर्तमान बिजली संकट के लिए पंजाब की कांग्रेस नीत सरकार की आलोचना की और आरोप लगाया कि यह पूरी तरह ‘‘मानव निर्मित’’ संकट है और सरकार की ओर से ‘‘अग्रिम योजना एवं तैयारियों के अभाव एवं घोर लापरवाही’’ का नतीजा है.

    दरअसल कोयले की गंभीर कमी ने पंजाब राज्य विद्युत निगम लिमिटेड को बिजली उत्पादन में कटौती करने और बिजली की कटौती करने के लिए मजबूर होना पड़ा. अधिकारियों ने कहा कि कोयले के भंडार में कमी के कारण, कोयले से चलने वाले बिजली संयंत्र अपनी उत्पादन क्षमता के 50 प्रतिशत से भी कम पर काम कर रहे हैं. अधिकारियों ने रविवार को कहा कि निजी बिजली तापीय संयंत्रों के पास डेढ़ दिन तक और राज्य के स्वामित्व वाली इकाइयों के पास चार दिनों तक कोयले का भंडार है.

    सलमान खुर्शीद ने लखीमपुर खीरी कांड को बताया असाधारण दुस्साहस का नतीजा, UP चुनाव को लेकर कही ये बात

    पीएसपीसीएल के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक ए वेणुप्रसाद ने कहा कि राज्य भर में स्थित सभी कोयला आधारित संयंत्रों को कोयले की भारी कमी का सामना करना पड़ रहा है. उन्होंने कहा कि पड़ोसी राज्यों दिल्ली, हरियाणा और राजस्थान के साथ-साथ भारत के अन्य हिस्सों में भी ऐसी ही स्थिति बनी हुई है. वेणुप्रसाद ने कहा कि पीएसपीसीएल कृषि क्षेत्र सहित उपभोक्ताओं की मांग को पूरा करने के लिए बाजार से अत्यधिक दरों पर भी बिजली खरीद रही है.

    जम्मू-कश्मीर में नागरिकों की हत्याओं पर बोले सैफुद्दीन सोज, यहां का मुसलमान अंदर तक हिल गया है

    पंजाब में बिजली की कमी के लिए बादल ने प्रदेश की कांग्रेस सरकार पर हमला बोला है. बादल ने एक बयान जारी कर कहा, ‘‘यह (बिजली संकट) संपूर्ण प्रशासनिक विफलता का हिस्सा है, जो आज पंजाब में व्याप्त है क्योंकि सत्तारूढ़ दल सत्ता के खेल और बदले की राजनीति में डूबा हुआ है.’’

    जेपी नड्डा बोले, नशे के खिलाफ लड़ाई के लिए भाजपा प्रतिबद्ध; मणिपुर को बताया ‘विकास का द्वार’

    उन्होंने कहा, ‘‘यह संकट आने ही वाला था और इसका कोयले की कमी से कोई लेना-देना नहीं है. कोयला मंत्रालय ने स्पष्ट किया है कि देश में कोयला आपूर्ति की कमी नहीं है. यह स्पष्ट दिखाता है कि पंजाब सरकार वास्तविक खलनायक है क्योंकि इस तरह की स्थिति से निपटने के लिए वह कोयले का आवश्यक भंडार नहीं रख रही है.’’

    उन्होंने कहा, ‘‘कांग्रेस की यह सरकार पंजाब के साथ ऐसा कर रही है, जो अधिक बिजली उत्पादन वाला राज्य था.’’ पूर्व उपमुख्यमंत्री ने कहा कि पूर्ववर्ती अकाली सरकार के दौरान बिजली प्राथमिकता वाले क्षेत्रों में शामिल थी. उन्होंने कहा कि बिजली की उपलब्धता सुनिश्चित करने के अलावा शिअद सरकार ने हरित ऊर्जा पर विशेष ध्यान दिया था.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज