पंजाब: दो सहायक सब इंस्पेक्टर की गोली मारकर हत्या करने वाले आरोपी ग्वालियर से गिरफ्तार

ग्वालियर से गिरफ्तार बलजिंदर सिंह उर्फ बब्बी और दर्शन सिंह.

ग्वालियर से गिरफ्तार बलजिंदर सिंह उर्फ बब्बी और दर्शन सिंह.

Punjab Crime News: इन दोनों आरोपियों पर दो-दो लाख रुपए का इनाम रखा गया था. दोनों आरोपी गैंगस्टर और नशा-तस्कर जयपाल भुल्लर के साथी हैं.

  • Share this:

चंडीगढ़. पंजाब पुलिस (Punjab Police) ने 15 मई को लुधियाना में जगराओं की अनाज मंडी में सी.आई.ए. के सहायक सब इंस्पेक्टरों (एएसआई) (Assistant Sub Inspectors ASI) भगवान सिंह और दलविंदरजीत सिंह की गोली मारकर हत्या करने के मामले में दो मुख्य आरोपियों को गिरफ्तार किया है. इनमें बलजिंदर सिंह उर्फ बब्बी गांव माहला खुर्द मोगा का निवासी है और दर्शन सिंह जिला लुधियाना के गांव सहौली का रहने वाला है. इन दोनों पर दो-दो लाख रुपए का इनाम रखा गया था. दोनों आरोपी गैंगस्टर (Gangsters) और नशा-तस्कर जयपाल भुल्लर के साथी हैं. इनको ग्वालियर (एम.पी.) (Gwalior MP) के डाबरा से काबू किया गया. उनका एक और साथी हरचरन सिंह जिसने उनको कथित तौर पर पनाह दी थी, उसे भी गिरफ्तार कर लिया गया है.

ऐसे दिया था घटना को अंजाम

डी.जी.पी, पंजाब दिनकर गुप्ता (DGP, Punjab Dinkar Gupta) ने बताया कि संदिग्ध व्यक्तियों की प्राथमिक पूछताछ से पता लगा है कि घटना वाले दिन जयपाल और जस्सी को राज्य से बाहर सुरक्षित किसी ठिकाने पर ले जाने के लिए बलजिंदर जगराओं की अनाज मंडी में अपने कैंटर पर आया था. जहां दर्शन उक्त गैंगस्टर और उसके साथी के लिए कुछ कपड़े लेकर आया.

गुप्ता ने बताया कि सी.आई.ए. के दो एएसआई जो उस समय पर ड्यूटी पर थे उन्होंने कैंटर गाड़ी में नशीले पदार्थ होने का शक हुआ और उन्होंने चालक को रोकने की कोशिश की. डीजीपी ने बताया कि जब दोषियों को पुलिस ने घेरा तो दर्शन ने अपनी 0.32 पिस्तौल से एएसआई पर गोलियां चला दीं और बाद में जयपाल और जस्सी के साथ आई-10 हुंडई कार में मौके से फरार हो गया.

Youtube Video

उन्होंने बताया कि पड़ताल के दौरान खुफिया जानकारी मिली थी कि संदिग्ध व्यक्ति मध्य प्रदेश के ग्वालियर और आस-पास के इलाके में छिपे हो सकते हैं. इंस्पेक्टर पुशपिन्दर सिंह की अगुवाई में संगठित अपराध रोकथाम इकाई ((OCCU)) की एक टीम को अगली जांच-पड़ताल के लिए तुरंत मध्य प्रदेश भेजा गया. उन्होंने बताया कि कुछ दिनों की मशक्कत के बाद, ओ.सी.सी.यू. की टीम संदिग्ध व्यक्तियों का पता लगाने में सफल रही और उनको ग्वालियर के नजदीक डाबरा रेलवे स्टेशन के प्लेटफॉर्म से गिरफ्तार कर लिया गया.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज