Home /News /punjab /

पंजाब के नेता इन दिनों डेरा सच्चा सौदा की तरफ दौड़ क्यों लगा रहे हैं? दिलचस्प है इसकी वजह!

पंजाब के नेता इन दिनों डेरा सच्चा सौदा की तरफ दौड़ क्यों लगा रहे हैं? दिलचस्प है इसकी वजह!

डेरा सच्चा सौदा के प्रमुख बाबा गुरमीत राम रहीम

डेरा सच्चा सौदा के प्रमुख बाबा गुरमीत राम रहीम

Punjab Election-2022 : पंजाब में विधानसभा चुनाव (Punjab Assembly Election) की तारीखें घोषित होते ही करीब 10-12 नेता, मंत्री, संभावित उम्मीदवार आदि डेरा सच्चा सौदा (Dera Sachcha Sauda) में जाकर माथा टेक चुके हैं. इसके पीछे वजह भी दिलचस्प है.

अधिक पढ़ें ...

बठिंडा. विवाद अपनी जगह और सियासत अपनी जगह. पंजाब (Punjab) के नेता इन दिनों अपनी सियासत चमकाने के लिए ‘डेरा सच्चा सौदा’ (Dera Sachcha Sauda) की तरफ दौड़ लगा रहे हैं. वह भी दलगत राजनीति से पूरी तरह परे होकर. खबरें हैं कि पंजाब में विधानसभा चुनाव (Punjab Assembly Election) की तारीखें घोषित होते ही करीब 10-12 नेता, मंत्री, संभावित उम्मीदवार आदि बाबा गुरमीत राम रहीम (Gurmeet Ram Raheem)  के डेरा सच्चा सौदा (Dera Sachcha Sauda) में जाकर माथा टेक चुके हैं. इसके पीछे वजह भी दिलचस्प है.

‘द ट्रिब्यून’ के मुताबिक, डेरा सच्चा सौदा (Dera Sachcha Sauda) की तरफ दौड़ लगाने वाले नेता सभी प्रमुख दलों के हैं. फिर चाहे वह राज्य में सरकार चला रही कांग्रेस (Congress) हो या फिर केंद्र की सत्ता संभाल रही भारतीय जनता पार्टी (BJP). या फिर पंजाब में सरकार बनाने का मंसूबा बांध रही आम आदमी पार्टी (AAP) और शिरोमणि अकाली दल (SAD). खबर बताती है कि चुनाव की घोषणा होने के अगले ही दिन भाजपा के हरजीत ग्रेवाल और सुरजीत ग्यानी डेरा सच्चा सौदा पहुंचे हैं. जबकि कांग्रेस के विजय इंदर सिंगला (मंत्री), साधु सिंह धरमसोत, हरमिंदर जस्सी और मंगत राय बंसल भी यहां आमद दर्ज करा चुके हैं. ‘आप’ की ओर से बठिंडा (शहर) के उम्मीदवार जगरूप गिल और शिअद के उम्मीदवार दिरबा गुलजार सिंह ने भी डेरा में अपनी उपस्थिति दर्ज कराई है.

बताया जाता है कि ये सभी नेता डेरा में रविवार, 9 जनवरी को हुए सतसंग में शामिल हुए थे. यह सतसंग सलाबतपुरा में हुआ था. इन नेताओं ने हालांकि अपनी इस यात्रा के पीछे राजनीतिक मकसद होने की बात को पूरी तरह खारिज किया है. डेरा सच्चा सौदा (Dera Sachcha Sauda) की तरफ से भी अब तक इस पर कोई टिप्पणी नहीं आई है और न ही प्रतिक्रिया. लेकिन मायने फिर भी निकाले जा रहे हैं क्योंकि इस सतसंग में डेरा की राजनीतिक मामलों की समिति (Political Affair Committee) के राम सिंह और राज्य समिति के सदस्य भी मौजूद थे. ध्यान रखने लायक ये भी है कि अतीत में डेरा की ओर से खुलकर अपने अनुयायियों से किसी पार्टी विशेष के समर्थन या विरोध की अपील भी जाती रही है. हालांकि अभी डेरा की ओर से यह संकेत नहीं दिया गया है कि वह इस बार अपने अनुयायियों को किसका साथ देने के लिए कहेगा. या फिर तटस्थ रहेगा.

इस सियासी दौड़ की ये है बड़ी वजह

जानकार बताते हैं कि डेरा सच्चा सौदा (Dera Sachcha Sauda) की पूरे पंजाब (Punjab) में करीब 84 शाखाएं हैं. इनमें से 11 शाखाएं सिर्फ बठिंडा जिले में हैं. पंजाब (Punjab) के मालवा क्षेत्र की 40 से अधिक सीटों पर डेरा सच्चा सौदा (Dera Sachcha Sauda) और उनके समर्थकों का असर है. इतना कि वे किसी भी उम्मीदवार की जीत-हार तय कर सकते हैं.

Tags: Assembly elections, Dera Sacha Sauda, Gurmeet Ram Rahim, Punjab, Punjab Election 2022

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर