Home /News /punjab /

Punjab Elections 2022: कादियां सीट पर बाजवा भाइयों में ही 'जंग', प्रताप बोले- मैं ही लड़ूंगा चुनाव

Punjab Elections 2022: कादियां सीट पर बाजवा भाइयों में ही 'जंग', प्रताप बोले- मैं ही लड़ूंगा चुनाव

फतेह जंग बाजवा और प्रताप सिंह बाजवा की फाइल फोटो

फतेह जंग बाजवा और प्रताप सिंह बाजवा की फाइल फोटो

Punajb Election 2022: कांग्रेस सांसद प्रताप सिंह बाजवा (Congress MP Pratap Singh Bajwa) का राज्यसभा का कार्यकाल नई पंजाब विधानसभा के गठन के एक महीने बाद अगले साल अप्रैल में समाप्त हो रहा है. हालांकि उन्होंने कई मौकों पर संकेत दिया था कि वह विधानसभा चुनाव लड़ेंगे. उन्होंने रविवार को ऐलान किया कि वह कादियां सीट से चुनाव लड़ेंगे.

अधिक पढ़ें ...

    चंडीगढ़. कांग्रेस सांसद प्रताप सिंह बाजवा (Congress MP Pratap Singh Bajwa) ने सोमवार को कहा कि वह गुरदासपुर में कादियां (Qadian in Gurdaspur) से पंजाब विधानसभा चुनाव (Punjab assembly election) लड़ेंगे. इसके बाद उनके छोटे भाई एवं वर्तमान विधायक फतेह जंग बाजवा (Fateh Jung Bajwa) ने सीट पर अपनी उम्मीदवारी का दावा किया. विधायक ने कहा कि वह अपने परिवार की पारंपरिक सीट से पार्टी के प्रत्याशी होंगे और उन्हें पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू का समर्थन हासिल है. वहीं प्रताप सिंह बाजवा ने कहा, ‘सब चीजों पर पार्टी आलाकमान से चर्चा कर ली गई है और मुझे हरी झंडी मिल गई है. मैंने पारंपरिक सीट कादियां से चुनाव लड़ने का फैसला किया है.’ कादियां से वर्तमान विधायक फतेह जंग बाजवा के बारे में पूछे जाने पर प्रताप सिंह बाजवा ने कहा, ‘ईश्वर जानें.’

    प्रताप का राज्यसभा का कार्यकाल नई पंजाब विधानसभा के गठन के एक महीने बाद अगले साल अप्रैल में समाप्त हो रहा है. हालांकि उन्होंने कई मौकों पर संकेत दिया था कि वह विधानसभा चुनाव लड़ेंगे. उन्होंने रविवार को ऐलान किया कि वह कादियां सीट से चुनाव लड़ेंगे. वहीं फतेह ने कहा कि वह यह नहीं समझ पा रहे हैं कि आखिर उनके भाई क्या कर रहे हैं.  मैं हर परिस्थिति में उनके साथ रहा. मैं उन्हें बता देना चाहता हूं कि मैं यहीं रहूंगा.मैं ही कादियां से चुनाव लड़ूंगा और यह फाइनल है.

    यह भी पढ़ें: सिद्धू पर लगाम लगाने की कोशिश! कांग्रेस ने इन अहम नियुक्तियों से चुनावी टीम में किया बदलाव

    फतेह ने किया था शक्ति प्रदर्शन!
    पिछले हफ्ते फतेह ने कहनुवां में रैली की थी, जिसमें पंजाब प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष (PPCC) नवजोत सिंह सिद्धू और अमृतसर के सांसद गुरजीत सिंह औजला भी मौजूद थे. इसे न केवल शक्ति प्रदर्शन के रूप में देखा जा रहा था, बल्कि बाजवा जूनियर ने भी रैली के साथ अपने अभियान की शुरुआत की. प्रताप ने इससे खुद को दूर रखा था. फतेह और उनके बेटे गुरदासपुर जिला परिषद के सदस्य अर्जुन प्रताप ने कोविड के दौरान कड़ी मेहनत की थी. परिवार का एनजीओ सतबचन फाउंडेशन लॉकडाउन के दौरान लोगों के बीच कोविड किट बांटने में सबसे आगे था. स्थानीय लोगों को टीका लगवाने के लिए प्रेरित करने के लिए पिता-पुत्र की जोड़ी गांव-गांव गई थी. कादियान बाजवा परिवार का घर है. साल 2012 में प्रताप की पत्नी चरणजीत कौर ने 16,000 मतों से जीत हासिल की थी. साल 2017 में, फतेह ने अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी सेवा सिंह सेखवां को 12,000 मतों से हराया था.

    PPCC प्रमुख रहे प्रताप कहनुवां से तीन बार विधायक भी हैं. उन्होंने साल 1976 में डीएवी कॉलेज, चंडीगढ़ में छात्र नेता के तौर पर अपना करियर शुरू किया था. साल 2009 के आम चुनाव में उन्होंने गुरदासपुर से तीन बार के सांसद स्व. विनोद खन्ना को 8,000 से हराया था.

    Tags: Congress, Navjot singh sidhu, Punjab Election 2022

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर