• Home
  • »
  • News
  • »
  • punjab
  • »
  • पंजाब की नई कैबिनेट: चरणजीत सिंह चन्नी की सरकार में 10 पूर्व मंत्रियों की वापसी, कई नए चेहरे भी शामिल

पंजाब की नई कैबिनेट: चरणजीत सिंह चन्नी की सरकार में 10 पूर्व मंत्रियों की वापसी, कई नए चेहरे भी शामिल

पंजाब: ब्रह्म मोहिंद्रा और मनप्रीत सिंह बादल कैबिनेट मंत्री के रूप में शपथ लेते हुए.

पंजाब: ब्रह्म मोहिंद्रा और मनप्रीत सिंह बादल कैबिनेट मंत्री के रूप में शपथ लेते हुए.

Punjab Cabinet Expansion: मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने नए मंत्रिमंडल में शामिल किए जाने वाले चेहरों को लेकर दिल्ली में पार्टी के आलाकमान के साथ अंतिम चरण की चर्चा की थी.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

    चंडीगढ़. पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी नीत मंत्रिमंडल में रविवार को दस पूर्व मंत्रियों की वापसी हुई है, जबकि सात से आठ नए चेहरे को शामिल किया गया है. मंत्रियों के शपथग्रहण समारोह का आयोजन तय समय के मुताबिक रविवार शाम साढ़े चार बजे राजभवन में किया गया, जहां कैबिनेट में शामिल हुए नए मंत्रियों को राज्यपाल ने शपथ ग्रहण करवाया.

    कैबिनेट में शामिल होने वालों में ब्रह्म मोहिंद्रा, मनप्रीत सिंह बादल, राजिंदर बाजवा, अरुणा चौधरी, सुखविंदर सिंह सरकारिया और राणा गुरजीत सिंह के नाम शामिल हैं. इसके अलावे चरणजीत सिंह चन्नी की नई कैबिनेट में रजिया सुल्ताना, विजय इंदर सिंगला, भारत भूषण आशु,  रणदीप सिंह नाभा को भी मौका दिया गया है.

    मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने शनिवार को नए मंत्रिमंडल में शामिल किए जाने वाले चेहरों को लेकर दिल्ली में पार्टी के आलाकमान के साथ अंतिम चरण की चर्चा की थी. मंत्रियों की अंतिम सूची तैयार होने के बाद मुख्यमंत्री चन्नी ने शनिवार दोपहर करीब 12 बजकर 30 मिनट पर राजभवन में राज्यपाल बनवारीलाल पुरोहित से मुलाकात की, जिसके बाद शपथ ग्रहण के लिए आज की तारीख तय की गई.

    Punjab Cabinet Expansion:
    1. सुखजिंदर रंधावा (उपमुख्यमंत्री) पंजाब, वे नवजोत सिद्धू के साथ मिलकर कैप्टन अमरिंदर सिंह के खिलाफ आवाज बुलंद करने वालों में सबसे आगे रहे. वे कैप्टन सरकार में जेल मंत्री थे.
    2. ओपी सोनी (उपमुख्यमंत्री) पंजाब, अमृतसर सेंट्रल से लगातार दूसरी बार विधायक, कैप्टन के करीबी और हिंदू चेहरा भी हैं. उन्हें उपमुख्यमंत्री बनाकर अमरिंदर सिंह को साधने का काम किया गया है.
    3. ब्रह्म मोहिंदरा ने आज सबसे पहले मंत्री पद की शपथ ली. इन्हें वरिष्ठता के आधार पर दोबारा जगह मिली है. पार्टी हाईकमान का निर्देश था कि नए मंत्रिमंडल में सीनियर्स की अनदेखी न हो.
    4. मनप्रीत बादल ने मंत्री पद की शपथ ली. ये कैप्टन के खिलाफ मुहिम के दौरान तटस्थ रहे. राजस्व बढ़ाने के लिए इस बार वित्त के साथ अन्य विभाग भी इन्हें सौंपा जा सकता है.
    5. तृप्त राजिंदर बाजवा ने मंत्री पद की शपथ ली. ये कैप्टन के खिलाफ हाईकमान तक पहुंचने वालों में अग्रणी रहे. इन्हीं की अगुवाई में 40 विधायकों द्वारा लिखी गई चिट्ठी हाईकमान तक पहुंचाई गई थी. उसी के बाद कैप्टन को हटाने का फैसला लिया गया. सिद्धू गुट के सक्रिय सदस्य होने के कारण दोबारा कैबिनेट में जगह मिली है.
    6. अरुणा चौधरी ने मंत्री पद की शपथ ली. पूर्व समाज कल्याण मंत्री अरुणा चौधरी दलित वर्ग से संबंध रखती हैं. उनकी पूर्व सेवाओं को देखते हुए उन्हें कैबिनेट में बनाए रखा गया है. ये नवजोत सिद्धू गुट से हैं. 7. सुख सरकारिया ने मंत्री पद की शपथ ली. पूर्व पीसीएस सुरेश कुमार के खिलाफ इन्होंने खुलकर मोर्चा खोला. कैप्टन कह चुके हैं कि जो 30 साल दोस्त रहा वो आज मेरा विरोधी हो गया. ये नवजोत सिंह सिद्धू गुट के माने जाते हैं.
    8. रजिया सुल्ताना ने मंत्री पद की शपथ ली. मलेरकोटला से विधायक हैं और पूर्व डीजीपी मोहम्मद मुस्तफा की पत्नी हैं. मुस्तफा इन दिनों कैप्टन के खिलाफ और सिद्धू खेमे के साथ हैं. ये नवजोत सिंह सिद्धू के पर्सनल सलाहकार भी हैं. इन्हें कैबिनेट में बरकरार रखा गया है. ये नवजोत सिंह सिद्धू गुट से हैं. 9. विजय इंद्र सिंगला ने भी मंत्री पद की शपथ ली. ये कैप्टन सरकार में शिक्षा मंत्री थे और राहुल की टीम के सक्रिय सदस्य माने जाते हैं. व्यापारी वर्ग से संबंध रखते हैं. सभी वर्गों में सामंजस्य के लिए कैबिनेट में जगह बरकरार रही. कैप्टन अमरिंदर सिंह के गुट के थे.
    10. भारत भूषण आशू ने भी मंत्री पद की शपथ ली. कैप्टन सरकार में खाद्य विभाग मंत्री थे और इन्हें सांसद रवनीत, गुरप्रीत कोटली व अन्य का पूरा समर्थन हासिल है. हिंदू चेहरा भी हैं और इन्होंने सिद्धू कैंप का विरोध नहीं किया.

    कई नए चेहरों को भी पंजाब कैबिनेट में मिली जगह
    1. राणा गुरजीत सिंह ने पंजाब कैबिनेट मंत्री पद की शपथ ली. राणा गुरजीत सिंह कैप्टन अमरिंदर सिंह की सरकार में बिजली मंत्री रह चुके हैं. गैर-कानूनी खनन करने के आरोप लगने के बाद उन्होंने अपना इस्तीफा दिया था, लेकिन इस बार चन्नी सरकार में उन्हें फिर से एक बार मंत्री बनाया गया है.

    2. रणदीप सिंह नाभा ने पंजाब कैबिनेट मंत्री की शपथ ली. ये सोनिया गांधी की पसंद माने जा रहे हैं और सोनिया गांधी ने उनके नाम को लिस्ट में डाला है और अब कैबिनेट में शामिल होंगे.

    3. राजकुमार वेरका ने पंजाब कैबिनेट मंत्री की शपथ ली. दलित वर्ग से सीनियर नेता को मंत्री बनाने की मांग कई बार उठी. लंबे समय से पार्टी में सक्रिय हैं. हालांकि वे कैप्टन गुट के हैं.

    4. संगत गिलजियां ने पंजाब कैबिनेट मंत्री की शपथ ली. ये टकसाली कांग्रेसी हैं. मंत्री न बनाने को लेकर नाराज थे. कैप्टन के रहते चुनाव नहीं लड़ने की बात कही थी. ये नवजोत सिंह सिद्धू गुट के हैं.

    5. परगट सिंह ने मंत्री पद की शपथ ली. भारतीय हॉकी टीम के कप्तान रह चुके हैं और कैप्टन के खिलाफ नवजोत सिंह सिद्धू का साथ देने में आगे रहे. बरगाड़ी, बेरोजगारी और माफिया पर सवाल उठाए. अकाली दल छोड़कर कांग्रेस में आए थे. ये जालंधर कैंट से विधायक हैं.

    6. अमरिंदर सिंह राजा वडिंग ने मंत्री पद की शपथ ली. ऑल इंडिया यूथ कांग्रेस के प्रधान रहे हैं. युवा चेहरा हैं और राहुल गांधी के नजदीकी माने जाते हैं. ये बादल परिवार को घेरते रहे हैं. ये भी नवजोत सिंह सिद्धू गुट के हैं.

    7. गुरकीरत कोटली ने मंत्री पद की शपथ ली. सीएम चरणजीत चन्नी के नजदीकी हैं. 1992 में कांग्रेस की सरकार बनाने वाले पूर्व सीएम बेअंत सिंह के पोते हैं. नवजोत सिंह सिद्धू गुट के हैं.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज