होम /न्यूज /पंजाब /गांधी परिवार से बिना मिले गए CM अमरिंदर सिंह, बदला जा सकता है पंजाब कांग्रेस का अध्यक्ष

गांधी परिवार से बिना मिले गए CM अमरिंदर सिंह, बदला जा सकता है पंजाब कांग्रेस का अध्यक्ष

कैप्टन अमरिंदर सिंह (फाइल फोटो)

कैप्टन अमरिंदर सिंह (फाइल फोटो)

पंजाब कांग्रेस (Punjab Congress) के प्रमुख सुनील कुमार जाखड़ की जगह किसी और को अध्यक्ष बनाने पर विचार चल रहा है. सूत्रो ...अधिक पढ़ें

    नई दिल्‍ली. पंजाब (Punjab) के मुख्यमंत्री कैप्‍टन अमरिंदर सिंह (Amarinder Singh) कांग्रेस (Congress) की अंतरिम अध्‍यक्ष सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) और पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) से बिना मुलाकात किए ही दो दिन बाद पंजाब चले गए. हालांकि पार्टी ने स्पष्ट कर दिया है कि अमरिंदर सिंह पद पर बने रहेंगे. साथ ही अमरिंदर सिंह के खिलाफ पार्टी नेताओं की शिकायतों को दूर करने के प्रयास जारी रहेंगे.दूसरी ओऱ सोनिया गांधी द्वारा पंजाब कांग्रेस इकाई में अंदरूनी कलह को सुलझाने के लिए गठित तीन सदस्यीय पैनल भी नेताओं से मुलाकात करता रहेगा.

    पंजाब में बेअदबी के मामलों में सरकार की निष्क्रियता, सरकार में दलितों के कम प्रतिनिधित्व का हवाला देते हुए नेताओं के एक वर्ग ने अमरिंदर सिंह के नेतृत्व पर आपत्ति जताई है. लेकिन कांग्रेस ने अगले साल होने वाले राज्य चुनावों की ओर इशारा करते हुए एकता की आवश्यकता पर जोर दिया है.

    पंजाब कांग्रेस के प्रमुख सुनील कुमार जाखड़ की जगह किसी और को अध्यक्ष बनाए जाने पर मंथन हो रहा है. सूत्रों ने संकेत दिया कि नवजोत सिंह सिद्धू या कोई दलित चेहरा जाखड़ की जगह ले सकता है. कांग्रेस नेतृत्व ने अमरिंदर सिंह को रेत और परिवहन माफिया पर कार्रवाई, बिजली खरीद समझौतों पर फिर से काम करने और बिजली बिलों को कम करने, बेअदबी के मुद्दे, अनुसूचित जातियों का उचित प्रतिनिधित्व सुनिश्चित करने और उनकी शिकायतों को देखने सहित कई मुद्दों पर काम करने के निर्देश दिए हैं.

    यह भी पढ़ें: पंजाब कांग्रेस में अंतर्कलह के बीच राहुल गांधी ने CM अमरिंदर सिंह को दिए 18 निर्देश

    कांग्रेस नेता हरीश रावत ने कहा ‘मेरा जवाब हां’
    पार्टी सूत्रों ने कहा कि सिंह ने पैनल से मुलाकात की, दोपहर का भोजन किया और पार्टी की वरिष्ठ नेता अंबिका सोनी से भी मुलाकात की. यह पूछे जाने पर कि क्या पैनल कांग्रेस विधायक नवजोत सिंह सिद्धू को बुलाएगा तो कांग्रेस नेता हरीश रावत ने कहा ‘मेरा जवाब हां है.’ पैनल के सदस्यों ने कहा कि वे सिद्धू से बैठक के लिए कह रहे हैं, लेकिन उनका कहना है कि वह सिर्फ गांधी परिवार से ही मिलेंगे. सूत्रों ने कहा कि पैनल ने अपनी कवायद लगभग पूरी कर ली है.

    कांग्रेस की पंजाब इकाई में कलह को दूर करने के मकसद से गठित तीन सदस्यीय समिति ने मंगलवार को राज्य के मुख्यमत्री अमरिंदर सिंह के साथ लंबी चर्चा की थी. ऐसा माना जा रहा है कि इसमें कलह दूर करने के फार्मूले पर विचार करने के साथ ही आगामी विधानसभा चुनाव में एकजुट होकर उतरने की तैयारी पर चर्चा हुई. पार्टी सूत्रों ने बताया कि राज्यसभा में नेता प्रतिपक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे की अध्यक्षता वाली इस समिति और अमरिंदर के बीच यह बैठक तीन घंटे से अधिक समय तक चली.

    समिति ने हाल ही में मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह, पूर्व मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू, कई मंत्रियों, सांसदों और विधायकों समेत कांग्रेस के पंजाब से ताल्लुक रखने वाले 100 से अधिक नेताओं से उनकी राय ली थी.

    Tags: Amarindar singh, Congress, Navjot singh sidhu, Punjab

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें