कोरोना मरीजों के लिए ऑक्सीजन की कमी पर पंजाब के CM ने मोदी सरकार को लिखा पत्र

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह. (पीटीआई फाइल फोटो)

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह. (पीटीआई फाइल फोटो)

Punjab Coronavirus Update: पंजाब में एक अप्रैल से अब तक कोरोना वायरस संक्रमण के 61,000 से अधिक मामले सामने आए हैं और संक्रमण से एक हजार से अधिक लोगों की मौत हुई है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 26, 2021, 5:06 PM IST
  • Share this:

चंडीगढ़ पंजाब में कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों के लिए ऑक्सीजन की कमी के मद्देनजर प्रदेश के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने केंद्र सरकार को पत्र लिखा है और बिना किसी परेशानी के राज्य के लिए ऑक्सीजन आपूर्ति की मांग की है. इसके साथ ही उन्होंने पत्र में इस बात पर आपत्ति जताई है कि पंजाब के ऑक्सीजन के कोटे को चंडीगढ़ के साथ क्यों जोड़ा गया है.



ऑक्सीजन की आपूर्ति को लेकर कैप्टन अमरिंदर सिंह ने बुधवार को केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ. हर्षवर्धन को पत्र लिखा और बिना किसी परेशानी के तुरंत ऑक्सीजन मुहैया करवाने का अनुरोध किया. उन्होंने पत्र में केंद्र से अपील की है कि पंजाब को रोजाना 120 एमटी मेडिकल ऑक्सीजन की आपूर्ति की जाए, जो कि पीजीआई चंडीगढ़ को मिलने वाले 22 एमटी हिस्से से अलग हो.



Youtube Video


गौरतलब है कि पंजाब में एक अप्रैल से अब तक कोरोना वायरस संक्रमण के 61,000 से अधिक मामले सामने आए हैं और संक्रमण से एक हजार से अधिक लोगों की मौत हुई है. मोहाली, लुधियाना और अमृतसर संक्रमण से सर्वाधिक प्रभावित हुए हैं. स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने लोगों द्वारा संक्रमण से बचाव के उपायों का पालन नहीं किए जाने और वायरस के ब्रिटिश स्वरूप को बढ़ते मामलों के लिए जिम्मेदार ठहराया. उन्होंने कहा कि मरीजों के उपचार के लिए अस्पतालों में देरी से पहुंचने और उनमें अन्य बीमारियां भी संक्रमण से मौत की एक बड़ी वजह है.




पंजाब सरकार ने सोमवार को राज्य में कड़ी पाबंदियों की घोषणा की थी. इनमें रात के कर्फ्यू की अवधि को एक घंटा बढ़ाने, बार, सिनेमा हॉल, जिम ,स्पा, कोचिंग सेंटर आदि को 30 अप्रैल तक बंद करना आदि शामिल है. स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकडों के अनुसार पंजाब में एक अप्रैल को संक्रमण के 2,42,895 मामले थे, जो तेजी से बढ़ते हुए 19 अप्रैल को 3,04,660 हो गए. पिछले कुछ दिनों में राज्य में प्रतिदिन करीब चार हजार मामले सामने आ रहे हैं और विशेषज्ञों ने संकेत दिए हैं कि अगले माह ये मामले प्रतिदिन छह हजार तक पहुंच सकते हैं.



(इनपुट भाषा से भी)


अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज