COVID-19: पंजाब में 50 लाख लोगों का वैक्सीनेशन, 7.5 लाख से ज्यादा लोगों के दो डोज कंप्लीट

कोरोना वायरस के खिलाफ टीकाकरण अभियान. (File pic)

कोरोना वायरस के खिलाफ टीकाकरण अभियान. (File pic)

Punjab Coronavirus Vaccination: टीकाकरण संबंधी स्टेट नोडल अफसर विकास गर्ग ने बताया कि पंजाब में कोविड के टीकों की कुल 50,05,767 डोज लोगों को दी जा चुकी हैं.

  • Share this:

चंडीगढ़. कोविड-19 महामारी से निपटने के लिए राज्य सरकार द्वारा शुरु किए गए 'मिशन फतेह' प्रोग्राम (Mission Fateh program) के अंतर्गत पंजाब में अभी तक 50 लाख से ज्यादा लोगों का टीकाकरण (Vaccinated) हो पाया है. इनमें 7.5 लाख से ज्यादा लोग ऐसे हैं जो वैक्सीन की 2 सम्पूर्ण डोज ले चुके हैं. टीकाकरण संबंधी स्टेट नोडल अफसर विकास गर्ग (State Nodal Officer Vikas Garg) ने बताया कि पंजाब में कोविड के टीकों की कुल 50,05,767 डोज लोगों को दी जा चुकी हैं.

गर्ग ने बताया कि राज्य में 45 साल से अधिक उम्र वर्ग, फ्रंटलाईन और स्वास्थ्य कर्मियों (Frontline and health workers) के लिए भारत सरकार (Government of India) द्वारा मिले टीकों के कोटे में से 45,53,187 टीके लगाए गए हैं, जबकि राज्य सरकार द्वारा 18-44 उम्र वर्ग के बनाए गए सभी प्राथमिक ग्रुपों (Primary groups) के कुल 4,52,580 टीके लगाए लगाए जा चुके हैं. इस तरह आज तक कुल 50,05,767 डोज दिए जा चुके हैं.

टीकाकरण के आंकड़े विस्तार में देते हुए स्टेट नोडल अफसर ने बताया कि भारत सरकार द्वारा दिए गए कोटे की लगाई गईं 45,53,187 खुराकों में से कोविशील्ड लगाने वाले 41,40,179 हैं, जबकि कोवैक्सीन लगवाने वाले 4,13,008 लोग हैं. इनमें पहली खुराक लेने वाले 38,01,062 और दूसरी खुराक लेने वाले 7,52,125 शामिल हैं. वर्गों की बात करें तो 45 साल से अधिक उम्र वालों की संख्या सबसे अधिक 32,83,848 है, जिन्होंने टीके लगवाए हैं. जब कि फ्रंटलाइन वर्कर्स की संख्या 9,63,881 और स्वास्थ्य कर्मियों की 3,05,458 है. इनमें निजी तौर पर टीके लगवाने वालों की संख्या 28,958 भी शामिल है, जिनमें कोविशील्ड वाले 21625 और कोवैक्सीन वाले 7343 शामिल हैं.


गर्ग ने बताया कि राज्य सरकार द्वारा 18-44 साल वर्ग के लिए बनाए गए प्राथमिक ग्रुपों में से 86,581 सह-रोगों वालों समेत 2520 जेल कैदी, 301981 निर्माण कामगार और उनके परिवार वाले, 64395 स्वास्थ्य कर्मियों के परिवार वाले और 1103 निजी औद्योगिक कामगारों को टीके लगाए जा चुके हैं. इन सभी की कुल संख्या 4,52,580 बनती है. उन्होंने आगे बताया कि राज्य ने 13.25 करोड़ रुपए की लागत से कोविशील्ड की 4.29 लाख खुराकें और 4.70 करोड़ रुपए की लागत के साथ कोवैक्सीन की 1,14,190 खुराकें खरीदी हैं.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज