Home /News /punjab /

पंजाब कांग्रेस पर जाखड़ का ट्वीट: 'आपके बंदर, आपका सर्कस' मैंने 'शो' में हस्तक्षेप नहीं किया

पंजाब कांग्रेस पर जाखड़ का ट्वीट: 'आपके बंदर, आपका सर्कस' मैंने 'शो' में हस्तक्षेप नहीं किया

सुनील जाखड़ की फाइल फोटो

सुनील जाखड़ की फाइल फोटो

पंजाब कांग्रेस प्रमुख नवजोत सिंह सिद्धू (Punjab Congress chief Navjot Singh Sidhu) के एक करीबी सूत्र ने बताया कि उन्होंने मेरिट के आधार पर लिस्ट तैयार की है. वह सिफारिशों के साथ नहीं गए क्योंकि कई नेता अपने परिजनों को पार्टी में तरजीह देना चाहते थे.

अधिक पढ़ें ...

    चंडीगढ़. पंजाब कांग्रेस प्रमुख नवजोत सिंह सिद्धू (Punjab Congress chief Navjot Singh Sidhu) द्वारा तैयार जिला कांग्रेस समितियों के अध्यक्षों और कार्यकारी अध्यक्षों की सूची पिछले 12 दिनों से पार्टी आलाकमान (party high command) से स्वीकृति की प्रतीक्षा कर रही है. पार्टी के उच्च पदस्थ सूत्रों का कहना है कि  “सिद्धू के  जिला कांग्रेस कमेटी (district Congress committees DCC) के मॉडल को स्वीकार्यता नहीं मिली है. कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष सुनील जाखड़ (Former Congress president Sunil Jakhar) ने एक ट्वीट भी किया है जिसमें कहा गया है कि ‘आपके बंदर, आपकी सर्कस’, मैं इस कहावत पर अमल करता हूं, मैंने न किसी को कुछ सुझाव दिया है और न ही दूसरे के ‘शो’ में हस्तक्षेप किया है. जिसे सिद्धू द्वारा की गई पदाधिकारियों की सूची के साथ जोड़कर देखा जा रहा है.

    इंडियन एक्सप्रेस ने एक रिपोर्ट में कांग्रेस के सूत्रों के हवाले से कहा कि सिद्धू ने सूची तैयार करते समय कई विधायकों और यहां तक कि पूर्व पीपीसीसी प्रमुख सुनील कुमार जाखड़ की सिफारिशों को स्वीकार नहीं किया गया. बताया जा रहा है कि सिद्धू ने सूची तैयार करते वक्त अपने लोगों को चुना था. इसके साथ सिद्धू ने प्रत्येक जिला कांग्रेस कमेटी के लिए तीन डीसीसी अध्यक्षों की सिफारिश की है. जिसमें एक डीसीसी अध्यक्ष और दो कार्यकारी अध्यक्ष शामिल हैं.

    यह भी पढ़ें: Punjab Assembly Election 2022: द‍िल्‍ली की तर्ज पर पंजाब की सूरत बदलेंगे, 24 घंंटे सातों द‍िन देंगे 300 यून‍िट मुफ्त ब‍िजली

    दो कार्यकारी अध्यक्षों के मॉडल को अभी तक पसंद नहीं
    इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट कहा गया है कि में सिद्धू की अपनी टीम हो सकती है लेकिन आमतौर पर सिफारिशें विधायकों और पार्टी के अन्य महत्वपूर्ण नेताओं से ली जाती हैं. इसके अलावा सिद्धू के डीसीसी में दो कार्यकारी अध्यक्षों के मॉडल को अभी तक पसंद नहीं किया गया है. राज्य में 29 जिला कांग्रेस कमेटी हैं. सिद्धू के मॉडल पर चलकर कांग्रेस ने राज्य भर के जिलों के 87 नेताओं को जगह दी गई है.

    सिद्धू के एक करीबी सूत्र ने बताया कि उन्होंने मेरिट के आधार पर लिस्ट तैयार की है. वह सिफारिशों के साथ नहीं गए क्योंकि कई नेता अपने परिजनों को पार्टी में तरजीह देना चाहते थे. इससे कांग्रेस का सभी क्षेत्रों से प्रतिनिधित्व संभव नहीं था. सूत्र ने कहा कि सूची अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी (एआईसीसी) के प्रभारी सचिव हरीश चौधरी को भी भेजी गई थी, उन्होंने वादा किया था कि सूची को ठीक किया जाएगा और कुछ घंटों में जारी किया जाएगा. लेकिन, 12 दिन बीत चुके हैं और अभी भी सूची को मंजूरी नहीं मिली है.

    Tags: BJP, Congress, Punjab Election 2022, Punjab news

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर