अपना शहर चुनें

States

Delhi-Katra Express Way के लिए  भूमि अधिग्रहण पर पंजाब के किसानों ने दर्ज करवाई आपत्तियां

भूमि अधिग्रहण पर पंजाब के किसानों ने दर्ज करवाई आपत्तियां.
भूमि अधिग्रहण पर पंजाब के किसानों ने दर्ज करवाई आपत्तियां.

पंजाब भवन में कैबिनेट मंत्री विजय इंद्र सिंगला (Vijay Inder Singla) ने किसानों (Farmer) को भरोसा दिलाया कि उनकी जायज मांगों प्राथमिकता के आधार पर हल किया जायेगा. लंबे तक समय चली मीटिंग दौरान समिति ने किसानों की आपत्तियां दर्ज करवाईं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 25, 2021, 6:53 PM IST
  • Share this:
(सूरज सिंह)

चंडीगढ़. दिल्ली-कटरा एक्सप्रेस वे (Delhi-Katra Express Way) के लिए जमीन अधिग्रहण करने संबंधित अलग-अलग जिलों के किसानों की आपत्तियों को दूर करने के लिए मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह (Chief Minister Captain Amarinder Singh) की तरफ से बनाई गई तीन सदस्यीय उच्च स्तरीय समिति ने पंजाब के लोक निर्माण मंत्री विजय इंद्र सिंगला का नेतृत्व में करीब 15 जिलों के किसानों के साथ बातचीत की. पंजाब भवन में कैबिनेट मंत्री विजय इंद्र सिंगला ने किसानों को भरोसा दिलाया कि उनकी जायज मांगों को प्राथमिकता के आधार पर हल किया जाएगा. लंबे तक समय चली मीटिंग के दौरान समिति ने किसानों की आपत्तियां दर्ज करवाईं.

किसानों ने करवाईं आपत्तियां दर्ज
विजय इंद्र सिंगला ने बताया कि किसानों के अपनी आपत्तियां समिति के सामने दर्ज करवा दी हैं. इन्हें मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के समक्ष रखा जाएगा. उन्होंने बताया कि कैप्टन सरकार किसानों की मांगों और आपत्तियों को हल करने के लिए वचनबद्ध है. सिंगला के अलावा, सदस्यों में अतिरिक्त मुख्य सचिव व सह-वित्तीय आयुक्त राजस्व और पुनर्वास विश्वजीत खन्ना, विशेष सचिव कृषि हरीश नायर और अतिरिक्त मुख्य सचिव व सह-वित्तीय आयुक्त विकास अनिरुद्ध तिवारी शामिल थे.




एक्सप्रेस वे बनने से फायदा
दिल्ली से अमृतसर जाने में अभी कम से कम 8 घंटे का समय लगता है. प्रस्तावित दिल्ली-कटरा एक्सप्रेस-वे को अमृतसर से कनेक्ट करने की योजना पर काम चल रहा है. इस एक्सप्रेस-वे के जरिए दिल्ली से अमृतसर का सफर 8 घंटे के बजाय 4 घंटे ही में पूरा होगा.

पांच पवित्र शहरों को जोड़ेगा यह कॉरिडोर
नए कॉरिडोर से वैष्णो देवी के दर्शन करने जाने का रास्ता आसान हो जाएगा, वहीं अमृतसर के जुड़ने से स्वर्ण मंदिर भी आसानी से पहुंचा जा सकेगा. प्रस्तावित एक्सप्रेस-वे सिख धर्म के पांच गुरुओं के पवित्र शहरों को जोड़ेगा। इस एक्सप्रेस-वे के जरिए सुलतानपुर लोधी, गोइंदवाल साहिब, खड़ेर साहिब, तरनतारन और हरिमंदर साहिब को कनेक्ट किया जाएगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज