पंजाब: अमृतसर की सेंट्रल जेल में गैंगवार, कुख्यात लक्खा की पीट-पीट कर हत्या

पुलिस ने गैंगस्टरों के एक गुट के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कार्रवाई शुरू कर दी है. (प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर)

पुलिस ने गैंगस्टरों के एक गुट के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कार्रवाई शुरू कर दी है. (प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर)

Punjab Crime News: पंजाब के गैंगस्टर और अपराधियों ने पुलिस के नाक में दम कर रखा है. सुरक्षा एजेंसियां इनकी करतूतों पर पहले ही चिंता जता चुकी है.

  • Share this:

चंडीगढ़. पंजाब के अमृतसर की सेंट्रल जेल (Central Jail of Amritsar) में हुई गैंगवार (Gangwar) में कुख्यात गैंगस्टर लखविंदर सिंह लक्खा (Notorious gangster Lakhwinder Singh Lakha) की दूसरे गुट ने पीट-पीट कर हत्या दी. इस घटना में दो अन्य कैदी घायल भी हुए हैं, जिन्हें उपचार के लिए गुरु नानक देव अस्पताल (Guru Nanak Dev Hospital) में भर्ती किया गया है. अस्पताल में सुरक्षा के मद्देनजर भारी पुलिस बल तैनात किया गया है. पुलिस ने गैंगस्टरों के एक गुट के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कार्रवाई शुरू कर दी है.


कैसे हुआ गैंगवार

जानकारी के मुताबिक जेल में बंद कई गैंगस्टरों ने अंदर ही अंदर गुट बनाए हुए थे. इनमें से दो गुटों के बीच आपस में कई दिनों से झगड़ा चल रहा था. एक मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक जेल में बंद अवतार सिंह निवासी गांव झीते खुर्द ने सुल्तान सिंह, गुरजंट सिंह और हरप्रीत सिंह के साथ मिलकर अपना गुट बनाया था. इस गुट ने रविवार आधी रात को लखविंदर सिंह लक्खा और उसके साथियों पर हमला कर दिया. इस हमले में एक गुट के लोगों ने लखविंदर सिंह लक्खा की पीट-पीट कर हत्या कर दी. लखविंदर सिंह लक्खा पुत्र दलबीर सिंह निवासी गांव कमोके एक गैंगस्टर था, उस पर लूटपाट करने के कई मामले दर्ज हैं. जेल में वह एक विचाराधीन कैदी था.


गैंगस्टरों और अपराधियों से परेशान है पंजाब पुलिस
पंजाब के गैंगस्टर और अपराधियों ने पुलिस के नाक में दम कर रखा है. सुरक्षा एजेंसियां इनकी करतूतों पर पहले ही चिंता जता चुकी है. वे जेल में बंद होने के बावजूद भी अपने गुर्गों से अपराध करा रहे हैं. हालांकि सत्ता में आने के बाद कुछ समय तक कैप्टन सरकार ने इन गैंगस्टरों का सफाया करने की मुहिम भी छेड़ी थी और कई गैंगस्टर पुलिस ने मार भी गिराए थे, लेकिन यह सिलसिला अभी खत्म नहीं हुआ है. गैंगस्टर जेलों में बैठ कर भी अपने गिरोह का ऑपरेट करते हैं और कत्ल करने की जिम्मेदारी फेसबुक के माध्यम से लेते हैं.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज