पड़ोसी राज्यों से पंजाब को मिलने लगी मेडिकल ऑक्सीजन, मरीजों को मिल सकती है राहत

पड़ोसी राज्यों से पंजाब को मिलने लगी मेडिकल ऑक्सीजन

पड़ोसी राज्यों से पंजाब को मिलने लगी मेडिकल ऑक्सीजन

देहरादून (Dehradun) में प्लांट में खराबी आने के कारण वहां आने वाली ऑक्सीजन (Oxygen) 90 टन की सप्लाई पंजाब (Punjab) में नियमित तौर पर नहीं पहुंच पाई, जिसके कारण सूबे में ऑक्सीजन का संकट बढ़ गया था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 26, 2021, 5:05 PM IST
  • Share this:
चंडीगढ़. पंजाब में बढ़ते हुए कोरोना (Corona) मरीजों के कारण मेडिकल ऑक्सीजन (Medical oxygen) का संकट भी बढ़ता जा रहा है. बीते दिन देहरादून और पानीपत (Dehradun and Panipat) से पंजाब में 50 टन ऑक्सीजन की सप्लाई हुई है लेकिन मरीजों की संख्या में आए दिन हो रहे इजाफे के कारण यह भी पर्याप्त नहीं बताई जा रही है. एक दैनिक हिंदी अखबार की रिपोर्ट के मुताबिक देहरादून में प्लांट में खराबी आने के कारण वहां आने वाली ऑक्सीजन 90 टन की सप्लाई पंजाब में नियमित तौर पर नहीं पहुंच पाई, जिसके कारण सूबे में ऑक्सीजन का संकट बढ़ गया था.

इसके अलावा हरियाणा (Haryana) ने भी अपने मरीजों के लिए ऑक्सीजन की आपूर्ति को लेकर इसकी दूसरे राज्यों के लिए आवाजाही पर रोक लगा दी थी. केंद्र सरकार के नए आदेशों के बाद यह सप्लाई सुचारू हो पाई है, जिसके बाद पंजाब में पानीपत से ऑक्सीजन की आपूर्ति होने लगी.



इसे भी पढ़ें :- अगर कोई ऑक्सीजन की सप्लाई रोकता है तो हम उसे नहीं बख्शेंगे: दिल्ली हाईकोर्ट
पंजाब के लिए देहरादून और हरियाणा से सप्लाई चेन टूटने पर हिमाचल ने पंजाब में ऑक्सीजन की आपूर्ति की. हिमाचल प्रदेश के बद्दी स्थित प्लांट से पंजाब को 68 टन सप्लाई मिलती रही. इसके अलावा मरीजों की बढ़ती हुई संख्या को देखते हुए पंजाब सरकार ने उद्योगों को मिलने वाली 115 टन सप्लाई में से 15 फीसद की कटौती की. जिससे अस्पतालों में मरीज को थोड़ी राहत मिली है.इस बीच पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा है कि उनकी सरकार द्वारा ऑक्सीजन की मांग को कम से कम करने के लिए सभी उपाय अपनाए जा रहे हैं.

Youtube Video


इसे भी पढ़ें :- पुणे की डरावनी तस्वीर, महज 8 दिनों में कोरोना ने उजाड़ा 5 लोगों का परिवार



उन्होंने मांग की कि केंद्र सरकार यह जरूर सुनिश्चित करे कि दूसरे राज्यों में लिक्विड ऑक्सीजन उत्पादक इसके आवंटन संबंधी अपनी सभी वचनबद्धताओं का पालन करें. उन्होंने कहा कि पंजाब में ऑक्सीजन की सप्लाई हरियाणा, हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड से होती है और सप्लाई को हाईजैक किये जाने की खबरें हैं. कैप्टन ने कहा कि पिछले लगभग एक महीने के दौरान वायरल की बदल रही किस्म पर पंजाब को कोई ताजा नतीजा प्राप्त नहीं हुआ, जबकि पिछले नतीजों में 85 प्रतिशत ब्रिटेन का स्ट्रेन देखा गया था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज