CM कैप्टन का ऐलान- सभी योजनाओं का 30% पैसा एससी वर्ग की भलाई के लिए खर्च करेगी पंजाब सरकार

कैप्टन ने कहा कि सरकारी स्कूलों में बारहवीं कक्षा के सभी एससी विद्यार्थियों को स्मार्टफोन दिए जाएंगे.

कैप्टन ने कहा कि सरकारी स्कूलों में बारहवीं कक्षा के सभी एससी विद्यार्थियों को स्मार्टफोन दिए जाएंगे.

मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने सियाजीराव गायकवाड़ द्वारा स्थापित योजना के अंतर्गत बाबा साहेब को दी गई बड़ौदा स्टेट स्कॉलरशिप स्कीम की तर्ज पर एससी विद्यार्थियों के लिए पोस्ट-मैट्रिक ओवरसीज स्कॉलरशिप स्कीम (Post-Matric Overseas Scholarship) की संभावनाएं तलाशने का भी वादा किया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 15, 2021, 1:13 AM IST
  • Share this:
चंडीगढ़. पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह (Chief Minister Captain Amarinder Singh) ने कहा है कि पंजाब सरकार अपनी सभी योजनाओं में कम से कम 30 प्रतिशत फंड राज्य की अनुसूचित जाति जनसंख्या (Scheduled caste population) की भलाई के लिए खर्च करेगी. उन्होंने राज्य स्तरीय वर्चुअल समागम के दौरान भारतीय संविधान के निर्माता डॉ. बी.आर. अंबेडकर (Dr. BR Ambedkar)  को उनकी 130वीं जयंती के मौके पर श्रद्धा सुमन भेंट करने के बाद यह जानकारी दी. उन्होंने कहा कि डॉ. अंबेडकर को पहले भारतीय के तौर पर याद किया जाना चाहिए जिन्होंने दलित समाज के लिए बहुत कुछ किया.

मुख्यमंत्री ने इस मौके पर सभी विभागों में एससी पदों का बैकलॉग प्राथमिकता के आधार पर भरने का ऐलान किया. इसके साथ ही मुख्यमंत्री ने सियाजीराव गायकवाड़ द्वारा स्थापित योजना के अंतर्गत बाबा साहेब को दी गई बड़ौदा स्टेट स्कॉलरशिप स्कीम की तर्ज पर एससी विद्यार्थियों के लिए पोस्ट-मैट्रिक ओवरसीज स्कॉलरशिप स्कीम (Post-Matric Overseas Scholarship) की संभावनाएं तलाशने का भी वादा किया.

Youtube Video


ग्रामीण लिंक सड़कों के लिए विशेष प्रोजेक्ट का ऐलान
मुख्यमंत्री ने वित्तीय वर्ष 2022 के लिए ग्रामीण लिंक सड़कों के लिए 500 करोड़ रुपये की लागत वाले विशेष प्रोजेक्ट का भी ऐलान किया. इस प्रोजेक्ट के अधीन अनुसूचित जातियों और अन्य गरीब वर्गों की आबादी के लिए नए लिंक रोड बनाए जाएंगे. प्रोजेक्ट के द्वारा श्मशान घाट और पूजा स्थल भी जोड़े जाएंगे. उन्होंने कहा कि 50 प्रतिशत से अधिक एससी आबादी वाले गांवों के आधुनिकीकरण करने के लिए वर्ष 2021-22 में 100 करोड़ की विशेष राशि प्रस्तावित की गई है. इसका मकसद कुल जनसंख्या के 50 प्रतिशत या उसके बराबर अनुसूचित जाति जनसंख्या वाले गांवों में मौजूदा ग्रांटों को और आगे बढ़ाना है.

यह भी पढ़ें: कोरोना का खात्मा करेगा 'क्रांतिकारी' स्प्रे, नाक में जाएगा और मारेगा 99.99 फीसदी वायरस

12वीं कक्षा के एससी विद्यार्थियों को स्मार्टफोन देगी सरकार



कैप्टन ने कहा कि सरकारी स्कूलों में बारहवीं कक्षा के सभी एससी विद्यार्थियों को स्मार्टफोन दिए जाएंगे, जबकि डेयरी फार्मिंग के लिए प्रेरित करने के लिए 9 प्रशिक्षण और एक्स्टेंशन सेंटरों में गांव स्तरीय 150 जागरूकता कैंप लगाए जाएंगे और अनुसूचित जाति के लाभार्थियों पर विशेष जोर दिया जाएगा.



मुख्यमंत्री ने ऐलान किया कि उनकी सरकार ने ‘हर घर पक्की छत’ के अधीन गांवों में एससी वर्ग के लिए 30 प्रतिशत आरक्षण और आर्थिक तौर पर कमजोर वर्गों के लिए वाजिब कीमतों वाली हाउसिंग स्कीम में भी 30 प्रतिशत आरक्षण देना प्रस्तावित किया है. सरकार की सिविल सर्विस समेत प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए जालंधर में डॉ. बी.आर. अंबेडकर इंस्टीट्यूट ऑफ ट्रेनिंग स्थापित करने की योजना है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज