होम /न्यूज /पंजाब /

पंजाब: फल- सब्जियों के बढ़े दामों ने निचोड़ी जेब, हर घर का बिगड़ रहा बजट

पंजाब: फल- सब्जियों के बढ़े दामों ने निचोड़ी जेब, हर घर का बिगड़ रहा बजट

फल और सब्जियों के दामों में बढ़ोतरी से सब परेशान हैं. ( फाइल फोटो)

फल और सब्जियों के दामों में बढ़ोतरी से सब परेशान हैं. ( फाइल फोटो)

पंजाब में इन दिनों फल और सब्जियों के दाम आसमान छू रहे हैं. उपभोक्ताओं का कहना है कि पिछली दफा जब सब्जियों के दाम काम थे तो ₹500 में हफ्ते भर की सब्जी आ जाया करती थी लेकिन पेट्रोल और डीजल के दाम बढ़ने से ₹500 में महज 2 दिन की सब्जी ही आ पा रही है.

अधिक पढ़ें ...

करनाल से हिमांशु नारंग और जालंधर से सुरेन्द्र कम्बोज

करनाल / जालंधर. पंजाब में इन दिनों फल और सब्जियों के दाम आसमान छू रहे हैं. उपभोक्ताओं का कहना है कि पिछली दफा जब सब्जियों के दाम काम थे तो ₹500 में हफ्ते भर की सब्जी आ जाया करती थी लेकिन पेट्रोल और डीजल के दाम बढ़ने से ₹500 में महज 2 दिन की सब्जी ही आ पा रही है. उन्होंने कहा कि गर्मी के दिनों में नींबू पानी की ज्यादा आवश्यकता होती है और इस समय नींबू के दाम ढाई सौ से 300रुपए किलो हो गए हैं. व्‍यापारियों का कहना है कि महंगाई का सीधा असर फल-सब्जियों पर हो रहा है. डीजल-पेट्रोल के दाम बढ़ने से सब्जियां महंगी हैं. फल-सब्जियों की बढ़ी कीमतों ने हर घर का बजट बिगाड़ दिया है.

फल- सब्जियों के दाम इतने ज्‍यादा बढ़ गए हैं कि आम आदमी की बजट से बाहर होते जा रहे हैं. नींबू , करेला, ब्रोकली, मिर्च, शिमला मिर्च सबके दाम आसमान पर पहुंच गए. पहले जिन सब्जियों की डिमांड कम होती थी, अब वो भी महंगी हो गई हैं. लोगों का कहना है कि अब वे सब्जियां कम मात्रा में खरीद रहे हैं. जिस सब्जी को पहले 1-1 किलो ले जाते थे अब वो सब्जी महज 250 ग्राम खरीदी जा रही है. इसका असर केवल उपभोक्‍ता पर नहीं है, बल्कि मंडी के थोक और फुटकर व्‍यापारी भी परेशान हैं. इनके अलावा सब्‍जी मंडी में काम करने वाले और सब्‍जी-फलों को अपने वाहनों से लाने वाले भी महंगाई से त्रस्‍त नजर आए.

सब्जी मंडी के प्रधान डिंपी सचदेवा और फल मंडी के प्रधान इंदरजीत सिंह नागरा ने बताया कि गर्मी होने के कारण हर साल फल-सब्जियों के दाम बढ़ते थे लेकिन इस बार पेट्रोल और डीजल की कीमतों के बढ़ जाने के कारण दामों में काफी इजाफा हुआ है. डिंपी का कहना है कि जिन सब्जियों की ग्रोथ कम होती है या वे मार्केट में कम आती हैं, उनके दाम बढ़ जाते थे. ऐसे ही जिन सब्जियों की ग्रोथ ज्यादा होती है उन सब्जियों के दाम कम हो जाते थे मगर इस बार तो सारी सब्जियां और फल बहुत अधिक दामों पर बेचना पड़ रहा है. इसके कई कारण है और सबसे बड़ा कारण है पेट्रोल-डीजल के दामों में बहुत अधिक बढ़ोतरी. वहींं, इंद्रजीत का कहना है कि तकरीबन सारा फ्रूट बाहरी राज्यों से आता है. इस कारण पेट्रोल-डीजल की कीमतों के बढ़ जाने के कारण फलों के दामों में भी काफी इजाफा हुआ है.

Tags: Fruits, Punjab, Vegetables Price

अगली ख़बर