निजी अस्‍पतालों में वैक्‍सीन की कीमत तय करने की केंद्र की नीति पर पंजाब की आपत्ति

वैक्‍सीन की कीमत के फैसले को देरी से बताया. (File pic)

वैक्‍सीन की कीमत के फैसले को देरी से बताया. (File pic)

पंजाब (Punjab) के स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री बलबीर सिंह सिद्धू (Balbir Singh Sidhu) ने केंद्र सरकार से निजी कंपनियों के लिए रखे गए 25 प्रतिशत कोटे को खत्म करने का आग्रह किया.

  • Share this:

चंडीगढ़. पंजाब के स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री बलबीर सिंह सिद्धू (Balbir Singh Sidhu) ने बुधवार को कहा कि निजी अस्पतालों में कोविड-19 टीकों (Covid 19 Vaccine) की कीमत तय करने का केंद्र का फैसला देर से आया. उन्होंने केंद्र सरकार से निजी कंपनियों के लिए रखे गए 25 प्रतिशत कोटे को खत्म करने का आग्रह किया.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि केंद्र सरकार 21 जून से राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को 18 वर्ष से अधिक उम्र के सभी लोगों के टीकाकरण के लिए मुफ्त टीके उपलब्ध कराएगी. इसके दो दिन बाद सिद्धू ने एक बयान में केंद्र से राज्य सरकारों द्वारा टीकों के लिए किए गए सभी भुगतानों को वापस करने का आग्रह किया.

मंत्री ने कहा कि निजी अस्पतालों के लिए टीके की कीमतों को तय करने का निर्णय बहुत देर से लिया गया है और उन्होंने पहले ही भारी मुनाफा कमाया लिया है जबकि भाजपा नेताओं ने झूठे आरोप लगाए हैं कि पंजाब सरकार उन्हें टीके की आपूर्ति करके लाभ कमा रही है.

मंत्री ने यह भी कहा कि केंद्र को समाज के सभी वर्गों को मुफ्त टीके लगाने चाहिए जैसा कि भाजपा ने कई विधानसभा चुनावों में घोषणा की है.


उन्होंने कहा कि इसे ध्यान में रखते हुए केंद्र को निजी कंपनियों को आवंटित 25 फीसदी कोटा खत्म करना चाहिए.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज