• Home
  • »
  • News
  • »
  • punjab
  • »
  • पंजाब में सिगरेट बट से आदमी बना रहा खिलौने और कुशन, शुरू की खुद की कंपनी

पंजाब में सिगरेट बट से आदमी बना रहा खिलौने और कुशन, शुरू की खुद की कंपनी

सिगरेट बट से बनाए जा रहे हैं खिलौने. (Pic- ANI)

सिगरेट बट से बनाए जा रहे हैं खिलौने. (Pic- ANI)

Punjab News: पंजाब के मोहाली के ट्विंकल कुमार की नौकरी कोरोना महामारी के कारण लगे लॉकडाउन में चली गई थी. इसके बाद उन्‍होंने यह कंपनी शुरू की.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

    मोहाली. सिगरेट (Cigarette) स्‍वास्‍थ्‍य के लिए हानिकारक होती है. इसके साथ ही उसकी बट या फिल्‍टर (Cigarette Butt) पर्यावरण को नुकसान पहुंचाता है, जिसे लोग सिगरेट पीने के बाद फेंक देते हैं. यह बड़ा प्रदूषक तत्‍व होता है. इस समस्‍या से निपटने के लिए पंजाब (Punjab) के मोहाली (Mohali) के एक व्‍यक्ति ने सिगरेट बट रिसाइकिल करने की कंपनी खोली है. इस शख्‍स का नाम ट्विंकल कुमार है. उनकी कंपनी सिगरेट बट को रिसाइकल करके उससे खिलौने, कुशन और मच्‍छर मारने वाली दवा बना रही है.

    समाचार एजेंसी एएनआई की रिपोर्ट के अनुसार ट्विंकल कुमार की नौकरी कोरोना महामारी के कारण लगे लॉकडाउन में चली गई थी. इसके बाद उन्‍होंने अपना कुछ काम शुरू करने का आइडिया लेने के लिए यूट्यूब देखना शुरू किया.

    उन्‍होंने बताया, ‘मुझे इस दौरान सिगरेट रिसाइकलिंग के बारे में पता चला और इस तकनीक ने मुझे प्रभावित किया. इसके बाद मैंने उस कंपनी से जुड़कर काम सीखा, जो पहले से ऐसा कर रही थी. काम जानने के बाद मैंने अपनी कंपनी शुरू की.’

    सिगरेट बट को एकत्र करने के लिए कुमार की कंपनी ने कमर्शियल जगहों पर स्थित स्‍मोकिंग जोन में डिब्‍बे लगाए हैं. उनके अनुसार कंपनी ने महिलाओं को भी रोजगार दिया है. ये महिलाएं सिगरेट बट एकत्र करने से लेकर आखिरी प्रक्रिया तक में भागीदार रहती हैं.

    कुमार का कहना है, ‘पहले इस काम में हिचक थी, लेकिन फिर अच्‍छी प्रतिक्रिया मिली. हम पूरे शहर के सार्वजनिक स्‍थानों पर लगाए गए डिब्‍बों में सिगरेट बट एकत्र करते हैं. इसके बाद हम बट को केमिकल से साफ करते हैं ताकि उससे सभी जहरीले तत्‍व निकल जाएं. इसके बाद हम उससे खिलौने, कुशन और मच्‍छर मार दवा बनाते हैं.’

    दरअसल सिगरेट बट सेलुलोज एसिटेट नामक प्‍लास्टिक से बने होते हैं. इसे नष्‍ट होने में 10 साल लगते हैं. इससे पर्यावरण में प्‍लास्टिक पॉल्‍यूशन के साथ ही निकोटीन और अन्‍य केमिकल फैलते हैं. कुमार का कहना है कि लोगों को सिगरेट नहीं पीनी चाहिए. जो लोग सिगरेट पीते हैं, वे इसके बट को डिब्‍बों में ही डालें.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज